Jump to content

Pushpendra Jain Naindhara

Members
  • Content Count

    24
  • Joined

  • Last visited

  • Days Won

    1
My Favorite Songs

Pushpendra Jain Naindhara last won the day on February 5

Pushpendra Jain Naindhara had the most liked content!

Community Reputation

1 Neutral

About Pushpendra Jain Naindhara

  • Rank
    Member

Personal Information

  • location
    Sagar, Madhya Pradesh

Recent Profile Visitors

The recent visitors block is disabled and is not being shown to other users.

  1. अनियत अतिथि का हुआ विहारगुरु चरणों मे आल्हा राग⛳⛳⛳🌈🌈⛳⛳⛳तर्ज - आल्हा राग खजुराहो से भव विहार तो पवन देव थोड़े मुस्काएं बोले हम बुंदेलखंड से गुरुवर खों लेवे को आये वर्षो बाद ललितपुर आशा पूरी होवे वारी है उसके बाद सिन्धु गढ़ सागर उसकी भी तैयारी है लेकिन कौवा चुगली कर गए छै महाराज अलग पधराये योग सिन्धु का संघ बनाके सागर ओर दिशा बतलाये खबर सुनी जा जब अतिथि की मन में लगी धुकधुकी आन लगी अटकले हुइए का अब गुरुवर को मन गुरुवर जान बड़े सयाने बूड़े के रय मन में कोऊ ने शंका लाव बड़े महराज आएंगे सागर सब जन जई भावना भाव बड़ी तैयारी करने है अब भव्य पंचकल्याणक आव एइसे तो बड़े शिष्य को पहले से सागर पहुँचाव ठौर ठिकानो इनको नैया एइसे अतिथि कहात लेकिन जा वे खुदाई केत हैं भक्ति से भगवन मिल जात सो हम सबई जा टैर लगारय मोरे भगवन जल्दी आंय विद्या गुरु से पुष्प की अर्जी सागर में उपवन महकांय 🌷🌷🌷🙏🙏🌷🌷🌷 ✍रचना - पुष्पेन्द्र जैन नैनधरा सागर
  2. जैनाचार्य संत शिरोमणि आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के संयम दीक्षा दिवस के 50 वे वर्ष में संयम स्वर्ण महोत्सव के अंतर्गत भाजपा नेता समाजसेवी एवम सँजोग समिति के अध्यक्ष अनिल जैन नैनधरा के द्वारा महत्वकांक्षी योजना स्कूल चले हम एवं बेटी बचाओ बेटी पढाओ को प्रोत्साहन देते हुए हायर सेकंडरी स्कूल तिली में लगभग 250छात्राओं को एवम हाई स्कूल कनेरा में लगभग 70 छात्राओं छाते वितरित किये गए | इस अवसर पर अनिल नैनधरा ने जैनाचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के बारे में बताया कि क्यों हम संयम स्वर्ण महोत्सव मना रहे हैं उनकी त्याग तपस्या का उनका राष्ट्र के प्रति गहन चिंतन एवम बेटियों के प्रति उनकी चिंता एवम उनके संस्कारो को सुरक्षित रखने हेतु प्रयासों के बारे में बताया। आचार्य श्री जी की सोच है कि हमे हिंदी भाषा पर ज्यादा जोर देना चाहिए क्योंकि हिंदी हमारी मातृभाषा है और उसमें हम आपस की भावनाओ को बहुत अच्छे से समझ पाते है। उन्होंने कहा कि आचार्य श्री जी का प्रयास है की हम भारत का स्वाभिमान बचाये एवम इंडिया नही भारत बोले क्योंकि इंडिया अंग्रेजों की भीख है एवं भारत हमारा स्वाभिमान है। उन्होंने बेटियों को आत्म रक्षा हेतु अपने आपको को मजबूत करने को कहा | कोशिश करें कहीं अकेले ना जायें अथवा कहीं जाती है तो अपने परिवार जन या अपनी सहेलियों के साथ जायें और कभी कुछ संदेहास्पद लगे तो उसकी पूरी जानकारी अपनी परिवार वालो को देकर जायें । भाजपा जिला मंत्री इंदु चौधरी ने बच्चों को पर्यावरण बचाने हेतु पौधे लगाने एवम उनको बचाने पर जोर दिया, पार्षद पुष्पा पटेल ने कहा बेटियों को अब रानी लक्ष्मी बाई बनना होगा, इस अवसर पर ब्लॉक अध्यक्ष किसान मोर्चा राजकुमार पटेल, सुशील सानोधा,श्रेयांस मगोड़ी,नरेन्द्र मिश्रा,दिनेश सिंघई , प्रिंस जैन आदि उपस्थित थे। पुष्पेन्द्र जैन नैनधरा
  3. बंधा जी में विद्या गुरुवर आया स्वर्णिम अवसर ⚜⚜⚜⚜⚜⚜⚜⚜ अतिशय क्षेत्र में अतिशय होगा 30 जून के शुभ दिन बुंदेलखंड के बंधा क्षेत्र में प्रभु गुरु का बंधन ।। ऐतिहासिक अवसर होगा घड़ियाँ होगी पावन अतिशय कारी अजित प्रभु दर महावीर लघुनंदन ।। संत अद्वितीय करेंगे श्री द्वितीय तीर्थेश के दर्शन बंधा क्षेत्र की प्रातः बेला अद्भुत स्वर्णिम अनुपम ।। सिंधु अभय प्रभात पूज्य श्री करें गुरु पद वंदन भव्य आगवानी है मंगल हर्षित पुलकित हर मन ।। पहले भी त्रय मुनिराजों ने बंधा प्रवास किया है फिर उनने किया अपने गुरु को शुभ आने का निवेदन ।। खुशियाँ मनाओ चौक पुराओ विद्यागुरु का संगम विद्या पुष्प से महक रहा है बंधा क्षेत्र का आँगन ।। विशेष - 30/06/18 को दादा गुरु आचार्य श्री ज्ञानसागर जी महाराज की दीक्षातिथि एवं संत शिरोमणि आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज की स्वर्णिम दीक्षा दिनाँक के अवसर पर श्री अतिशय बंधा जी के मूलनायक श्री अजितनाथ भगवन उनके समवशरण में विराजे जिनदेव, हीरे को परखने वाले उपकारी दादा गुरु, हम सबके उपकारी आचार्य श्री जी एवं आचार्य संघ के चरणों में कोटिशः नमन??? ???????? ✍ पुष्पेन्द्र जैन नैनधरा सागर
  4. सच में अनियत विहारी के मन को कौन जान सका है इस पर अनियत विहारी के चरणों में मेरी एक पोस्ट ⚜⚜⚜⚜⚜⚜⚜⚜ मेरे गुरुवर अनियत विहारी ये ही उनकी बात नियत है न “हां” कहते न “ना” करते, पर क्या करना हैं पूर्ण नियत है ।। बूझ सके न उनकी पहेली, जान सके न उनकी मनसा उनके मन में पूर्ण नियत है, उनकी पहेली उनकी मनसा ।। मेरे गूरुवर पूर्ण नियत है पूर्ण नियत है उनकी चर्या पूर्ण नियत आगम की वाणी पूर्ण नियत तत्वों कि चर्चा ।। मूरख पुष्प बस इतना समझे हमसे बंधे ना हमसे नियत है मेरे भगवन विद्यासागर अपने आप में पूर्ण नियत है ।। ✍पुष्पेन्द्र जैन नैनधरा सागर
  5. ⛳?⛳?⛳?⛳? दिवस आचार्य पदारोहण फिर एक पुरानी रचना आयी स्मरण जो है मेरे हृदय के बेहद करीब क्या अद्भुत था गुरु शिष्य समर्पण ???????? आचार्य श्री १०८ विद्यासागर जी महाराज के पावन पुनीत चरणों में कोटिशः नमन_ श्री ज्ञान सिन्धु के पावन चरणों में शीश नवाता लिखी महाज्ञान की इबारत लिखी महा त्याग की गाथा साहित्य साधना की है जीवन के हर पल क्षण में अपना उपयोग लगाया संस्कृत के संवर्धन में बिखरा साहित्य सहेजा साहित्य मनीषी ज्ञाता लिखी महा त्याग की गाथा वो महाकवि महाज्ञानी साक्षात् हैं ज्ञान समन्दर लिखी कालजयी रचनायें सब एक से एक हैं बढ़कर जीवंत है उन कृतियों में गुरु विद्यासागर गाथा लिखी महा त्याग की गाथा चेतन में रमने वाले इस तन का इशारा समझे बोले विद्यासागर से सधे मेरी समाधी कैसे अब अधिक सूर्य पद साधूँ नहीं मेरी ऐसी अवस्था लिखी महा त्याग की गाथा मृदु भावी ज्ञान सिन्धु ने विद्या से किया निवेदन जैसा आगम कहता है करवाओ मेरा सल्लेखन निर्लोभी विद्या मुनि ने दिखलाई अपनी लघुता लिखी महा त्याग की गाथा जब देखी ज्ञान जोहरी ने निस्पृही हीरे की मनाही तब परम शिष्य विद्या से अपनी गुरु दक्षिणा मंगाई तब विवश हुए मुनि विद्या झुका गुरु चरणों में माथा लिखी महा त्याग की गाथा गुरु चरण में गुरु दक्षिणा हर हाल में देनी होगी तब विद्या ने गुरुवर की पदवी स्वीकारी होगी तब महात्यागी की क्रिया नत हो गया सबका माथा लिखी महा त्याग की गाथा अपने सिंघासन पर फिर विद्या गुरुवर को बिठाया उनसे नीचे खुद बैठे नव गुरु को शीश नवाया मन मोह मान के मर्दन की दिखलाई पराकाष्ठा लिखी महा त्याग की गाथा जिसने भी देखा सुना था हर आँख से छलका पानी ऐसे निर्लोभी निस्पृही विद्याज्ञान की अमर कहानी इसलिए ये शिरोमणि हैं ये पुष्प झुकाए माथा लिखी महा त्याग की गाथा तर्ज़- ऐ मेरे वतन के लोगो ✍?शब्दांकन एवं भावाभिव्यक्ति✍? ??पुष्पेन्द्र जैन नैनधरा?? विशेष – 05/11/2017 (मार्ग शीर्ष कृष्ण दूज) इस सदी के असाधारण संत महाकवि संत शिरोमणि आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज का आचार्य पदारोहण दिवस हैं । आओ हम सब मिलकर यही भावना भायें उनके कर कमलों से इस धरती पर श्रमण दीप प्रज्वलित होते रहें । ? पुण्योदय विद्यासंघ ?
×
×
  • Create New...