Jump to content

नवीनतम गतिविधि

This stream auto-updates     

  1. Today
  2. ●◆●◆▬▬ஜ۩ प्रामाणिक ۩ஜ▬▬●◆●◆ 🚩 मंगल विहार 🚩 दि. 24 जून 2019 संत शिरोमणि आचार्य गुरुवर 108 श्री विद्यासागर जी महाराज के परम प्रभावक शिष्य मुनिश्री 108 प्रमाणसागर जी महाराज एवं मुनिश्री 108 विराटसागर जी महाराज ससंघ का मंगल विहार 👉 * पिपल्या ग्राम से कतरगाँव, म.प्र. 👈 की ओर हुआ। ⏺ दिनांक 24 जून 2019 की मुनिसंघ की रात्रि विश्राम कतरगाँव, उपासना गृह, म.प्र. में होगी ⏺ ●◆●◆▬▬ஜ۩ प्रामाणिक ۩ஜ▬▬●◆●◆
  3. यहां पर जो दूसरा चित्र सिद्ध मुद्रा का दर्शाया गया है वह शायद गलत हो सकता है क्योंकि हमें प्रणम्य सागर जी महाराज ने हथेलियों को सीधा रखना मतलब सिद्ध शिला की आकृति देते हुए हथेलियों को बिल्कुल दोनों रेखाओं को मिलाकर सिद्ध शिला का आकार देना इस तरह बताया है
  4. *‼आहारचर्या‼* *बड़ा तेन्दूखेड़ा* _दिनाँक :२४/०६/२०१९_ *आगम की पर्याय महाश्रमण युगशिरोमणि १०८ आचार्य श्री विद्यासागर जी महामुनिराज* _को आहार दान एवं सौभाग्य *ब्रमचारणी बहन संध्या दीदी श्रीमान निर्मलचंद जी जैन रजपुरा वाले बड़ा तेंदूखेड़ा* को एवं उनके परिवार को प्राप्त हुआ है।_ इनके पूण्य की अनुमोदना करते है। 💐🌸💐🌸 *भक्त के घर भगवान आ गये* 🌹🌹🌹🌹 *_सूचना प्रदाता-:श्री आशीष बाछल जी सागर,अवधेश,_* 🌷🌷🌷 *अंकुश जैन बहेरिया *प्रशांत जैन सानोधा
  5. ✍️ *"अर्हं योग के ऐतिहासिक क्षण का गवाह बना लाल किला"* एक साथ 13000 लोगों ने दिल्ली के लाल किला में किया अर्हम योग...... इस अभूतपूर्व कार्यक्रम की सफलता की पूरे देश में चर्चा है ...* *अद्भुत,अविस्मरणीय,अद्वितीय अर्हं योग के इस कार्यक्रम में दूर-दूर तक फैला हर उम्र वर्ग का विशाल जन समूह, चेहरों पर दुख,बीमारी, परेशानी और हर समस्या से मुक्ति दिलाने वाले "अर्हं योग" से जुड़ने की खुशी, उसे सीखने का भाव ,उसी में खो जाने और स्वयंमय हो जाने का भाव ....वास्तव में ये सभी दृश्य आँखों में समा गए हैं,गुरुवर मुनि श्री 108 प्रणम्य सागर जी महाराज की वाणी में अर्हं ध्यान, योग करना ,जीवन की सभी दुविधाओं से बाहर निकल जाना, भाग दौड़ भरी जिन्दगी से संयमित जीवन की ओर वापस आना और ध्यान योग के उस आनंद को महसूस करने का अनुभव अद्भुत,अकल्पनीय और अकथित है , इसके बारे में जितना भी लिखा जाए कम है .. बस यही कह सकते हैं कि ...* *"अर्हं योग" से जुड़िए और फिर देखिए ज़िंदगी में कितना आनंद है.....* *आप भी "अर्हं योग" से जुड़िए और अपने जीवन को आज से ही आनन्दमय बनाना शुरू कर दीजिए ।* *अर्हं की यात्रा प्रारम्भ कर दीजिए...* ~~~~~~~~~~~~~~ *"करें योग -रहे निरोग" का उद् घोष -* *भारत की राजधानी दिल्ली के ऐतिहासिक लाल क़िला मैदान में संत शिरोमणि आचार्य गुरुवर श्री 108 विद्यासागर जी महाराज की प्रेरणा एवं उनके परमप्रभावक शिष्य मुनि श्री 108 प्रणम्य सागर जी एवं श्री 108 चंद्र सागर जी महाराज के पावन सानिध्य में ऐतिहासिक एवं अद्भुत *"आध्यात्मिक अर्हम् योग एवं ध्यान"* का कार्यक्रम ,विभिन्न शहरों से आए हुए विशाल जन समूह ने अद्भुत आनंद के साथ सम्पन्न किया ।
  6. मंगल विहार दि. 24जून 2019 संत शिरोमणि आचार्य गुरुवर 108 श्री विद्यासागर जी महाराज के परम प्रभावक शिष्य मुनिश्री 108 प्रमाणसागर जी महाराज एवं मुनिश्री 108 विराटसागर जी महाराज ससंघ का मंगल विहार 👉 ग्राम किठुद से पिपल्या, म.प्र. 👈 की ओर हुआ। ⏺ दिनांक 24 जून 2019 की मुनिसंघ की आहार चर्या ग्राम पिपल्या, म.प्र. में होगी ⏺
  7. 24-06-2019 *दमोह से विहार समाचार* *आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज* के शिष्य *मुनि श्री विमलसागर जी महाराज* *मुनि श्री अनन्तसागर जी महाराज* *मुनि श्री धर्मसागर जी महाराज* *मुनि श्री अचलसागर जी महाराज* *मुनि श्री भावसागर जी* *महाराज* का विहार चल रहा है दमोह से बीनाबारह तीर्थ वन्दना के लिए बिहार चल रहा है *रात्रि विश्राम* : - 24/06/2019 - दमोह से 55 कि मी आस पास मुहली (लकलका से 19 किमी) *आहार चर्या* : - 25/06/2019 - दमोह से 55 किमी दूरी के बाद सुना गांव के आस पास *विहार मे पंहुचने का संभावित मार्ग* : - दमोह से हथनी , राजापटना , लकलका , मुहली, सुना, सिहंपुर ,बीनाबारह तीर्थ क्षेत्र फिर चातुर्मास स्थल की ओर विहार.......... *जानकारी* : लकलका से मुहली 19किमी सुना 10किमी सिहंपुर बीनाबारह *नोट*:- *मुनि श्री की अनुकूलता ‌के अनुसार एवं स्थिति - परिस्थिति अनुसार परिवर्तन हो सकता है।* *संपर्कसूत्र* 9981342102,निक्कीशहपुरा8770292899, जितेंद्र जैन झलोंन 9754499524 , संजय पारसमणि तेंदूखेड़ा (गौशाला अध्यक्ष)9589807047,अनुरागजैन9893775760
  8. Yesterday
  9. मंगल विहार दि. 23जून 2019 संत शिरोमणि आचार्य गुरुवर 108 श्री विद्यासागर जी महाराज के परम प्रभावक शिष्य मुनिश्री 108 प्रमाणसागर जी महाराज एवं मुनिश्री 108 विराटसागर जी महाराज ससंघ का मंगल विहार 👉 बड़वाह से ग्राम किठुद, म.प्र . 👈 की ओर हुआ। दिनांक 23 जून 2019 का मुनिसंघ का रात्रिविश्राम ग्राम किठुद, म.प. में होगा
  10. *⛳⛳विहार अपडेट ⛳⛳* दिनांक २३ जून २०१९ दिन रविवार ⛳⛳⛳⛳⛳ *संत शिरोमणि* *आचार्य श्री 108 विद्यासागर जी महाराज जी* के परम प्रभावक शिष्य परम पूज्य मुनिश्री 108 आगमसागरजी महाराज मुनिश्री 108 पुनितसागरजी महाराज मुनिश्री 108 सहजसागरजी महाराज श्याम ५.१५ बजे *🔮 कोरोची 🔮* से *🔮तिलवनी🔮* की और विहार हुआ! 🏳‍🌈 🏳‍🌈 ⛳⛳⛳⛳⛳⛳⛳
  11. जब हम किसी बात की चिंता करते है तो वह हमारे स्वार्थ से जुड़ी होती है और उसकी सिद्धि केवल और केवल हमारे फायदे को प्रदर्शित करती है जबकि देश के प्रधान पद पर आसीन किसी नेता द्वारा चिंता करना देश हित की ओर इशारा करता है वही किसी संत के द्वारा चिंता की जाए तो वह सर्वव्यापी अथार्त जगत के फायदे के लिये होती है उदाहरण के लिये हम अपने घरों में बृक्ष लगाते है तो उसका फायदा मात्र हमे होता है लेकिन सड़क किनारे दोनों ओर प्रधानमंत्री योजनाओं से लगाये जाने वाले बृक्षों से राहगीरों को फायदा होता है और अभी जब जन जन के सर्वमान्य संत आचार्य भगवान गुरु विद्यासागर जी महाराज ने बेहद चिंता करते हुए पिछले दिनों के प्रवचन में कहा है कि यदि हम बृक्ष लगाने में ऐसे ही लापरवाही करते रहे तो वह दिन दूर नहीं जब हमें सांस लेना भी दूभर हो जाएगा इसलिये समय रहते चेत जाए और घर, जमीन, सड़कों के किनारे अथवा किसी भी ऐसे स्थान पर जहाँ बृक्ष लगाए जा सकते है तो अवश्य लगाने चाहिये भूली ताहि विसार के आगे की सुध ले,,,,, यह पंक्तियां शायद इसीलिए लिखी गयी हो कि जब भी आपको याद आ जाये हम हमारे कार्यो और जिम्मेदारीयो के प्रति सजग हो जाये ,,,, तो मित्रों जब यतिवर ने कह ही दिया है तो हम उनके कहे अनुसार बृक्ष लगाना तुरंत ही प्रारम्भ कर दे,,,,, किसी भी कार्य को आरम्भ करने के लिये हम शुभ दिन की तलाश करते है तो संयोग से ऐसा ही एक शुभ दिन हमारे पास निकट है यानि 7 जुलाई आशाण शुक्ल पंचमी इसी शुभ दिवस आचार्य महाराज की दीक्षा को पूरे 51 वर्ष हो रहे है और 52वे वर्ष की शुरुआत हो रही है तो आइए हम सभी मिलकर एक प्रतिज्ञा करे आने वाली 7 जुलाई को इस जमीन को बृक्षों से भर देंगे यानि जितनी भी खाली भूमि शेष है जहां जहां बृक्ष लगाए जा सकते है हम लगाएंगे और यही हमारी हमारे गुरु के प्रति सच्ची विनय होगी ,,,, तो हो जाइए तैयार आगामी 7 जुलाई को ब्रह्द स्तर पर पेड़ लगाकर पर्यावरण को सुरक्षित और सरंक्षित करें हमारा प्रयास सार्थक हो इस हेतु समाज के वरिष्ठ जन अपने अपने शहर में सामुहिक रूप से बृक्षारोपण अभियान भी चला सकते है और भामाशाहों को आमंत्रित कर उनके सहयोग से अनगिनती पेड़ लगा कर धरती को हरा भरा बनाते हुए भगवान रूपी संत को चिंता मुक्त कर सकते है आचार्य भगवन की जगत में जय जयकार हो श्रीश ललितपुर 🔔🚩 पुण्योदय विद्यासंघ🚩🔔 वृक्षारोपण संकल्प पत्र
  12. *‼आहारचर्या‼* *राजमार्ग* _दिनाँक :२३/०६/२०१९_ *आगम की पर्याय महाश्रमण युगशिरोमणि १०८ आचार्य श्री विद्यासागर जी महामुनिराज* _को आहार दान एवं सौभाग्य *श्रीमान सुरेंद्र जी जैन खोबा वाले एवं श्री मनीष जी प्रांजल जी पवित्र जी जैन जबलपुर* को एवं उनके परिवार को प्राप्त हुआ है।_ इनके पूण्य की अनुमोदना करते है। 💐🌸💐🌸 *भक्त के घर भगवान आ गये* 🌹🌹🌹🌹 *_सूचना प्रदाता-:श्री अवधेश_* 🌷🌷🌷 *अंकुश जैन बहेरिया *प्रशांत जैन सानोधा
  13. आर्यिका अनंतमति जी ससंघ, आर्यिका भावनामति जी ससंघ आर्यिका अकंपमति जी ससंघ ने किये गुरु दर्शन aur video upload karrahe hin 3.mp4 4.mp4
  14. Last week
  15. *⛳⛳विराजमान अपडेट ⛳⛳* दिनांक 21 जून 2019 दिन शुक्रवार ⛳⛳⛳⛳⛳⛳⛳⛳ *संत शिरोमणि* *आचार्य श्री 108 विद्यासागर जी महाराज जी* के परम प्रभावक शिष्य परम पूज्य मुनिश्री 108 आगमसागरजी महाराज मुनिश्री 108 पुनितसागरजी महाराज मुनिश्री 108 सहजसागरजी महाराज सुबह ६.१५ बजे *🔮 इचलकरंजी🔮* (वस्त्रनगरी) से *🔮कोरोची🔮* की और विहार हुआ! 🏳‍🌈 आहरचर्या-:कोरोची 🏳‍🌈 ⛳⛳⛳⛳⛳⛳⛳
  16. *‼आहारचर्या‼* *सरसला* _दिनाँक :२२/०६/२०१९_ *आगम की पर्याय महाश्रमण युगशिरोमणि १०८ आचार्य श्री विद्यासागर जी महामुनिराज* _को आहार दान एवं सौभाग्य *श्रीमान प्रकाश चंद्र जी जैन लमेठा* को एवं उनके परिवार को प्राप्त हुआ है।_ इनके पूण्य की अनुमोदना करते है। 💐🌸💐🌸 *भक्त के घर भगवान आ गये* 🌹🌹🌹🌹 *_सूचना प्रदाता-:श्री अवधेश_* 🌷🌷🌷 *अंकुश जैन बहेरिया *प्रशांत जैन सानोधा
  17. मंगल प्रवेश दि. 22 जून 2019 संत शिरोमणि आचार्य गुरुवर 108 श्री विद्यासागर जी महाराज के परम प्रभावक शिष्य मुनिश्री 108 प्रमाणसागर जी महाराज एवं मुनिश्री 108 विराटसागर जी महाराज ससंघ का भव्य मंगल प्रवेश बड़वाह, म.प. में हुआ। पूज्य मुनिसंघ के पावन सानिध्य में यहां पर दिनांक 22 जून से 23 जून तक वेदी प्रतिष्ठा महोत्सव का आयोजन किया जाएगा.
  1. Load more activity
×
×
  • Create New...