Jump to content
मेरे गुरुवर... आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज

Category

क्षेत्रविकास

अधिक जानकारी

 

  1. What's new in this club
  2. अनलॉक अनलॉक अनलॉक *नेमावर अनलॉक* *परम पूज्य गुरुदेव १०८ आचार्य श्री* *विद्यासागर जी महाराज जी के मंगल* आशीर्वाद एवं परम *पूज्य मुनि श्री* *१०८ अक्षय सागर जी महाराज* एवं *परम पूज्य मुनि श्री १०८ संभब सागर* जी महाराज जी के ससंघ सानिध्य मे , *नव निर्मित पंच बालयति एवं त्रिकाल चौबीसी में प्रथम अभिषेक,शांतिधारा एवं पंच बालयति में कलशारोहण एवं ध्वजारोहण का कार्यक्रम दिनांक *24 जून 2021* गुरुवार अभिषेक शांतिधारा एवम् विधान -- प्रातः 7.30 से 9.00 बजे तत्पश्चात मुनि संघ के प्रवचन । भोजन -- 11.00 से 1.00 बजे से कलशारोहन एवम् ध्वजारोहण ,, दोपहर 1.00 बजे से तत्पश्चात मुनि संघ के प्रवचन *श्री रतन लाल जी कवर लाल जी श्री अशोक जी श्रीमती सुशीला जी,,, श्री सुरेश जी श्रीमती शांता जी ,, श्री विमल जी श्रीमती तारिका जी पाटनी आर. के. मार्वल परिवार किशनगढ़ ,,। कलशारोहण ध्वजारोहण पुण्यार्जक परिवार*,,,,, श्री राजा भैया सूरत श्री संजय मैक्स *अध्यक्ष पंचकल्याणक अध्यक्ष सिद्धोदय* श्री राजीव जैन। श्री सुरेश काला *कार्याध्यक्ष। कार्याध्यक्ष**सिद्धोदय पंचकल्याणक. सिद्ध क्षेत्र नेमावार समिति नेमावर* **पारस चैनल पर लाइव प्रसारण* सभी साधर्मी बंधु समय पर पधार कर पुण्यार्जन करें । आवास एवं भोजन की व्यवस्था नेमावर ट्र्स्ट कमेटी की तरफ से निःशुल्क रखी गई है । नमनकर्ता - श्री सिध्दोदय सिद्ध क्षेत्र रेवातट ट्रस्ट नेमावर
  3. कुंडलपुर सिद्ध क्षेत्र की धरा में भक्तामर महामंडल विधान में बैठने वाले सभी श्रावक श्राबिकाओ को ध्यान देने योग्य बातें 1 मंगल कलश रखें 2 घी का दीपक रखें 3 कलाई में बांधने मौली रखें 4 पीली सरसों रखें 5 उच्च आसन पर एक ग्रंथ विराजमान करें 6 आचार्य श्री का फोटो रखें 7अष्ट द्रव्य का थाल सजाकर बीजाक्षर सहित भक्तामर विधान की पूजन करें 8 पारस चैनल पर दोपहर 2:00 से 4:00 तक प्रतिदिन 4 से 12 अक्टूबर तक । 9 यदि बन सके तो भक्तामर विधान का एक 1/1 फीट का फ्लेक्स का मंडल बनाकर विराजमान करें समस्त कार्य पूर्ण विशुध्दी के साथ करें 10 विधान पर्यंत रात्रि भोजन का त्याग रखें ! 11 अभक्ष्य पदार्थ का सेवन ना करें । 12 सौंदर्य प्रसाधन की वस्तुओं से दूर रहें परिणामों को निर्मल रखें ! महाअर्चना कर्म नाश का कारण बनेगी । !!धन्यवाद!! बिधानाचार्य संजीव भैया
  4. इतिहास में प्रथमबार ४८मण्डलीय भक्तामरानुष्ठान एवं कोरोना क्षय विश्वशांति महायज्ञ (हवन) का सौभाग्य आपके द्वार पर बुन्देलखण्ड की हृदयस्थली सिद्धक्षेत्र कुण्डलपुरजी के परम अतिशयकारी बड़े बाबा श्री आदिनाथ भगवान के समक्ष सर्व ऋद्धि सिद्धि प्रदायक महास्तोत्रराज श्री भक्तामर जी का २६८८महाबीजाक्षर सम्पन्न महानुष्ठान मंगलबेला- 4 से 12 अक्टूबर 2020 भक्तामर विधान लाईव प्रसारण - पारस चैनल पर दोपहर 01.30 से 03.30 बजे तक प्रतिदिन आचार्य श्री 108 विद्यासागरजी महामुनिराज एवं समस्त संघ के स्वास्थ्यलाभार्थ एवं * सम्पूर्ण विश्व में व्याप्त कोरोना महामारी के क्षय हेतु महार्चना* मंगलमय आशीर्वाद- संतशिरोमणि आचार्यश्री 108 विद्यासागरजी महाराज, पावन सान्निध्य त्रयविंशति आर्यिका ससंघ आर्यिका श्री 105 ऋजुमति माताजी आर्यिका श्री 105 पूर्णमति माताजी आर्यिका श्री 105 उपशांत मति माताजी विधानाचार्य - ब्र. संजीव भैया कटंगी ✒️ *आर्यिका मां श्री पूर्णमति माताजी✒️ द्वारा रचित भक्तामर महाबीजाक्षर ४८ मण्डलीय विधान एवं विश्व विघ्नविनाशक महायज्ञ * ऑनलाइन के माध्यम से आप भी महानुष्ठान का महापात्र बनने का सौभाग्य प्राप्त कर सकते है- सौधर्म इंद्र - 2,51,000/- कुबेर इंद्र - 1,11,000/- यज्ञ नायक - 51,000/- आनलाइन राशि देकर बड़े बाबा जी की शांतिधारा में आर्यिका श्री के मुखारबिंद से अपने परिवार के नाम उच्चारण करा कर बड़े बाबा के मंदिर निर्माण में सहयोगी बन पुण्यानुबंधी पुण्य कमा सकते हैं| क्षेत्र के खाते में राशि जमा करने हेतु बैंक विवरण - A/C NAME - SHRI DIGAMBER JAIN SIDDHA KSHETRA KUNDALPUR, DAMOH (M.P.) BANK - AXIS BANK DAMOH, A/C NO - 910010000535130 IFS CODE - UTIB0000770, BANK- SBI DAMOH, A/C NO- 10708180064 IFSC CODE-SBIN0001832 PAN NO.-AAHTSO546A (80G) NO- F.NO. CIT-1/JBP/TECH/80G/09/2007-08 संपर्क सूत्र -7771835891 & 7771834880 राशि जमा करने बाद दिए गए नंबरों पर जानकारी अवश्य देवे
  5. A/C NAME - SHRI DIGAMBER JAIN SIDDHA KSHETRA KUNDALPUR, DAMOH (M.P.) BANK - AXIS BANK DAMOH, A/C NO - 910010000535130 I FS CODE - UTIB0000770, BANK- SBI DAMOH, A/C NO- 10708180064 IFSC CODE-SBIN0001832 PAN NO.-AAHTSO546A (80G) NO- F.NO. CIT-1/JBP/TECH/80G/09/200-08 PLZ INFORM TO MOB. NO.7771835891 & 7771834880 राशि जमा करके जानकारी देवे।
  6. जबलपुर, मध्यप्रदेश, भारत कुंडलपुर में बड़े बाबा के मंदिर नवनिर्माण की राह का रोड़ा दूर, हाईकोर्ट ने एनजीटी का आदेश किया निरस्त जबलपुर। जैन धर्म के तीर्थ दमोह जिले के कुंडलपुर में स्थित भगवान महावीर (बड़े बाबा) का एेतिहासिक मंदिर है। यह मंदिर बुंदेलखंड के राजा छत्रसाल के समय का निर्मित है। इस मंदिर के नवनिर्माण का मामला कई दिनों से अदालत में लंबित था। लेकिन मंगलवार को हाईकोर्ट में सुनवाई के बाद मंदिर नवनिर्माण की राह का आखिरी रोड़ा भी अलग हो गया है। म.प्र. हाईकोर्ट ने नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल की भोपाल बेंच के उस आदेश को निरस्त कर दिया, जिसमें निर्माणाधीन मंदिर स्थल वन भूमि में होने के चलते रोक लगा दी गई थी। चीफ जस्टिस हेमंत गुप्ता व जस्टिस विजय कुमार शुक्ला की डिवीजन बेंच ने जयपुर की संस्था जैन संस्कृति रक्षा मंच के अध्यक्ष मिलाप चंद डांडिया पर न्यायिक प्रक्रिया का दुरुपयोग करने के लिए एक लाख रुपए कॉस्ट भी लगाई है। यह है मामला प्रकरण के अनुसार जैनों के प्रमुख तीर्थस्थल कुंडलपुर में स्थित भगवान महावीर (बड़े बाबा) का एेतिहासिक मंदिर है। यह मंदिर बुंदेलखंड के राजा छत्रसाल के समय का निर्मित है। मंदिर का गर्भगृह जमीन के नीचे था। साथ ही गर्भगृह में स्थापित बड़े बाबा सहित अन्य देवी-देवताआें की प्रतिमाएं कतारबद्ध एक ही पत्थर की दीवार पर थीं। ये जिस पत्थर से निर्मित थीं, वह क्षरणीय था। लिहाजा मंदिर के संचालक श्री दिगंबर जैन अतिशय क्षेत्र कुंडलपुर पब्लिक ट्रस्ट ने इस मंदिर का पुननिर्माण करने का फैसला लिया। पुराने मंदिर से कुछ दूरी पर नये मंदिर का निर्माण करने का प्रस्ताव लाया गया। बड़े बाबा की प्रतिमा को भी अन्य प्रतिमाओं से अलग कर नये मंदिर में स्थापित किया गया। राज्य सरकार ने भी 2014 में इस निर्माण कार्य को कुछ शर्तोंं के साथ अनुमति दी। सुको में राज्य सरकार के आदेश को चुनौती जैनों की जयपुर स्थित मुख्यालय वाले जैन संस्कृति रक्षा मंच ने राज्य सरकार के इस आदेश को सीधे सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दे दी। मंदिर को पुरातात्विक महत्व का निरुपित करते हुए मंच ने सुको में कहा कि यहां कोई निर्माण नहीं हो सकता। सुप्रीम कोर्ट ने स्पष्ट किया कि पुरातत्व विभाग ने मंदिर नव निर्माण के लिए नोटिफिकेशन जारी किया है। इसमें ये सभी बिंदु समाहित हैं। कोर्ट ने याचिका खारिज करते हुए कहा था कि मंच बार-बार इस मसले कों कोर्ट मे न घसीटे। हाईकोर्ट ने भी की निरस्त अतिरिक्त महाधिवक्ता समदर्शी तिवारी (एएजी) ने कोर्ट को बताया कि इसके बाद रियाज मोहम्मद नामक व्यक्ति ने इस मसले में हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर की, जिसे कोर्ट ने सुको के निर्णय के आधार पर खारिज कर दिया। इस पर जैन संस्कृति रक्षा मंच के अध्यक्ष मिलाप चंद ने स्टडी सॢर्कल सोसायटी भोपाल के नाम से एनजीटी के मंदिर निर्माण स्थल वनभूमि पर होने के मसले को लेकर याचिका दायर कराई। इस पर एनजीटी ने 27 मई 2016 को मंदिर निर्माण कार्य स्थगित कर दिया। इसके खिलाफ ट्रस्ट ने फिर हाईकोर्ट की शरण ली। कोर्ट ने 26 सितंबर 2016 को एनजीटी के उक्त आदेश पर रोक लगाते हुए निर्माण कार्य जारी रखने के निर्देश दिए। एनजीटी में हुआ खुलासा एएजी तिवारी ने बताया कि सुको द्वारा प्रतिबंधित किए जाने से संस्कृति रक्षा मंच के अध्यक्ष ने दूसरी संस्था से एनजीटी में याचिका लगवाई। याचिकाकर्ता सोसायटी ने एनजीटी को दिए अपने जवाब में बताया कि उक्त याचिका के लिए दसतावेज उन्हें मिलाप चंद जैन ने ही उपलब्ध कराए थे। तिवारी ने तर्क दिया कि एनजीटी में दायर उक्त याचिका में बाद में संस्कृति रक्षा मंच के अध्यक्ष जैन हस्तक्षेपकर्ता बन गए। सुप्रीम कोर्ट के मना करने के बावजूद मिलाप चंद बार-बार मामले को कोर्ट में किसी न किसी बहाने घसीट रहे हैं। उन्होंने इसे न्यायिक प्रक्रिया का दुरुपयोग बताया। यह कहा कोर्ट ने ओपन कोर्ट में डिवीजन बेंच ने कहा कि पहले सुप्रीम कोर्ट, फिर म.प्र. हाईकोर्ट मंदिर निर्माण को सही ठहरा चुके हैं। इसके बावजूद एनजीटी ने क्षेत्राधिकार से बाहर जाकर अनुचित तरीके से निर्माण पर रोक लगाने का आदेश जारी किया। लिहाजा कोर्ट ने एनजीटी का 27 मई 2016 का आदेश निरस्त कर दिया। कोर्ट ने तल्ख लहजे में कहा कि सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के लिए न्यायिक प्रक्रिया का मिलापचंद जैन ने दुरुपयोग किया है। इसलिए वे एक लाख रुपए कॉस्ट हाईकोर्ट विधिक सेवा समिति को जमा करें। विस्तृत आदेश की फिलहाल प्रतीक्षा है। source :- https://www.patrika.com/jabalpur-news/mp-high-court-latest-judgement-for-kundalpur-jain-temple-in-damoh-dist-1977087/
  7. निर्माण पर रोक को लेकर एनजीटी द्वारा पारित सभी आदेश हाई कोर्ट ने किये ख़ारिज
  8.  
×
×
  • Create New...