Jump to content
आचार्य विद्यासागर स्वाध्याय नेटवर्क से जुड़ने के लिए +918769567080 इस नंबर पर व्हाट्सएप करें Read more... ×
  • entries
    66
  • comments
    106
  • views
    7,096

Entries in this blog

 

14 अगस्त से 17 अगस्त खजुराहो में चार दिवसीय भव्य कार्यक्रम* 

*परम पूज्य आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज* 
           के ससंघ सानिध्य में      *चार दिवसीय भव्य कार्यक्रम*                   14 अगस्त 
        24 मुनिराजों का दीक्षा दिवस 
       
15 अगस्त  -   स्वतंत्रता दिवस  16 अगस्त  - 25 मुनिराजो  का दीक्षा    
                         दिवस  
17 अगस्त - मुकुट सप्तमी निर्वाण लाडू
                 एवं भगवान पार्श्वनाथ मोक्ष
                  कल्याणक महोत्सव  निवेदक -- श्री दिगंबर जैन अतिशय क्षेत्र  प्रबंध समिति खजुराहो जिला छतरपुर
 

खजुराहो में ४ व ५ अगस्त को होगा नि:शुल्क चिकित्सा शिविर का आयोजन

आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के संयम सवर्ण महोत्सव पर आयोजित 
नि:शुल्क चिकित्सा शिविर   
योग, प्राणायाम, जड़ी बूटी का काढ़ा, एक्यूप्रेशर से तुरन्त इलाज 
४ व ५ अगस्त २०१८ 
शनिवार, रविवार प्रात: ७ बजे से 
जैन मंदिर, खजुराहो (म.प्र.) डॉ. नवीन जैन जबलपुर,  डॉ. आशीष जी दिल्ली, डॉ.पारस भोपाल, डॉ. सुरेन्द्र टीकमगढ़, डॉ. शान्तिकांत मुंबई, डॉ. सुभाष उड़ीसा
संपर्क सूत्र - 9837636708, 9425342180, 9827359275
आयोजक - प्रबंध समिति दि. जैन अतिशय क्षेत्र व् जैन समाज खजुराहो
 

पावन वर्षायोग चतुर्मास कलश स्थापना अपडेट

*आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज के मंगल चातुर्मास कलश की स्थापना पर खजुराहो में प्रथम कलश की बोली 207 कलश पर गई। प्रथम कलश की बोली श्री तरुण जी काला व समस्त काला परिवार निवासी मुम्बई द्वारा ली गई है।श्री तरुण जी काला मुम्बई को प्रथम कलश का सौभाग्य 207 कलश (2 करोड़ 7 लाख) में प्राप्त हुआ   *द्वितीय कलश का सौभाग्य श्री डॉ सुहास शाह जी जैन मुम्बई को 151 कलश (1 करोड़ 51 लाख) में प्राप्त हुआ*   *तृतीय कलश का सौभाग्य 117 कलश (1 करोड़ 17 लाख रुपये) में श्री हुकुम जी काका कोटा बालो को प्राप्त हुआ*   *चतुर्थ कलश का सौभाग्य 108 कलश (1 करोड़ 8 लाख रुपये) में श्री उत्तम चंद्र जी जैन कटनी कोयला बालो को प्राप्त हुआ*   पांचवे कलश की बोली 131 कलश पर गई और यह बोली श्रीमान प्रेमी जी परिवार सतना, कटनी वालो ने ली है। धन्य हो आचार्य गुरुवर विद्यासागर जी महाराज की जय।🙏🏻🙏🏻🙏🏻   छठे कलश की बोली 108 कलश पर गई और यह बोली श्रीमान प्रभात जी मुम्बई वालो ने ली है। धन्य हो ऐसे महान आचार्य भक्तो की।
जय हो आचार्य गुरुवर विद्यासागर जी महाराज की जय।🙏🏻🙏🏻🙏🏻   सातवें कलश की बोली गुप्तदान में गई है। धन्य हो ऐसे महान आचार्य भगवान भक्तो की।
जय हो आचार्य गुरुवर विद्यासागर जी महाराज की जय।🙏🏻🙏🏻🙏🏻   आंठवे व अंतिम कलश में दो कलश की बोली सुभाष जी भोपाल वालो ने व बैनाड़ा परिवार वालो ने ली है। धन्य हो ऐसे महान आचार्य भगवान भक्तो की।
जय हो आचार्य गुरुवर विद्यासागर जी महाराज की जय।🙏🏻🙏🏻🙏🏻   नवे कलश की बोली श्रीमान अशोक जी पाटनी निवासी किशनगढ़ राजस्थान वालो द्वारा ली गई है। धन्य हो ऐसे महान आचार्य भगवान भक्तो की।
जय हो आचार्य गुरुवर विद्यासागर जी महाराज की जय।🙏🏻🙏🏻🙏🏻
 

अमेरिका के राजदूत ने गुरुदेव के समक्ष सप्ताह में एक दिन माँसाहार त्यागने का संकल्प लिया।

अमेरिका के राजदूत ने आज खजुराहो पहुंचकर, पूज्य आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज के दर्शन किये। आपने गुरुदेव के समक्ष सप्ताह में एक दिन माँसाहार त्यागने का भी संकल्प लिया। खजुराहो में प्रतिदिन देश विदेश सेलोगों का, पूज्य आचार्यश्री के दर्शन हेतु आने का क्रम जारी है। साभार- ब्र श्री सुनील भैया जी, इंदौर 28 जुलाई  
 

7 दिन में  76 सैलानियों ने  मांसाहार  त्याग की दिशा में बढ़ाया कदम` 

आचार्य श्री के संघस्थ ब्रह्मचारी सुनील भैया ने बताया खजुराहो में आचार्य श्री के चरण पढ़ने के पश्चात से ही प्रतिदिन विदेशी सैलानियों आचार्य श्री के दर्शनों का लाभ ले रहे हैं। आज स्पेन और इटली से आए सैलानियों ने आचार्य श्री से आशीर्वाद ग्रहण किया और सप्ताह में एक दिन मांसाहार न खाने का संकल्प लिया। आचार्य श्री ने उन्हें आशीर्वाद प्रदान किया। साथ ही नार्वे से आये पर्यटक ने 5 साल तक शाकाहारी रहने का आचार्य श्री के समक्ष संकल्प लिया। इसके अलावा चीन, कोरिया, अर्जेंटीना, स्पेन, इटली मैक्सिको से आए 75 सैलानी सप्ताह में एक दिन मांस ना खाने का संकल्प ले चुके हैं । खजुराहो अंतरराष्ट्रीय पर्यटक स्थल है प्रतिदिन विदेशी लोग आचार्य श्री की चर्या के बारे में सुनकर आश्चर्यचकित रह जाते हैं। दिन में एक बार आहार और पानी लेना, नंगे पैर पद बिहार करना ,शक्कर नमक हरी सब्जियां आदि आहार में नहीं लेना आदि चर्या को सुनकर विदेशी सैलानी दांतो तले उंगली दबा लेते हैं और भारतीय संस्कृति और जैन धर्म के इतिहास के प्रति जागरुक हो रहे हैं|  
 

 मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्राप्त किया गुरुदेव का आशीर्वाद

20 जुलाई 18 खजुराहो । मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री जहां प्रदेश में चौथी बार सरकार बनाने के लिए जन आशीर्वाद यात्रा के माध्यम से मप्र की जनता का आशीर्वाद लेने में इन दिनों लगे हुए है। वहीं उन्हें अब एक नई जिम्मेदारी मिल गई है। लेकिन, वह जनता के आशीर्वाद से नहीं बल्कि गुरू के आशीर्वाद है। जी हां, गुरू की शरण में पहुंचे शिवराज को जो जिम्मेदारी मिली है, उससे शिवराज भी खुश है। दरअसल, सतना दौरे से लौटे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपनी पत्नी साधना सिंह के साथ रात में खजुराहो पहुंचे। जहां रात्रि विश्राम भी उन्होंने किया।   इसके बाद शुक्रवार की सुबह वह यहां विराजमान जैन संत आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के दर्शन करने पहुंचे थे। जहां आचार्यश्री के चरणों में जाकर जब शिवराज ने पुन: मध्यप्रदेश की जनता की सेवा करने का आशीर्वाद मांगा तो आचार्यश्री मुस्कराने लगते है। भरे कार्यक्रम के बीच आचार्य कहते है कि शिवराज अब आप सिर्फ मध्यप्रदेश नहीं, बल्कि भारत की १२१ करोड़ जनता के बारे में सोचना शुरू कर दीजिए।   *कार्यक्रम के दौरान पहुंचे थे मुख्यमंत्री* खजुराहो से मिली जानकारी के अनुसार खजुराहो में जैन समाज द्वारा आयोजित कार्यक्रम में शुक्रवार को सुबह मुख्यमंत्री पहुंचे थे। जहां उन्होंने आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज के चरणों का प्रच्छालन किया। साथ ही मध्यप्रदेश की उन्नति और खुशहाली का आशीर्वाद मांगा। शिवराज सिंह को खजुराहो प्रबंध समिति ने मंच पर स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। इस मौके पर मप्र शासन की राज्यमंत्री ललिता यादव भी मुख्यमंत्री के साथ थी। मुख्यमंत्री कार्यक्रम स्थल पर 30 मिनट तक रुकने के बाद सीधे खजुराहो विमानतल के लिए रवाना हो गए। यहां से वे भोपाल के चले गए।    
आज प्रातः पूज्य आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज को मप्र के मुखिया श्री शिवराजसिंह चौहान सहित अतिशय क्षेत्र खजुराहो सम्पूर्ण कमेटी ने श्रीफल समर्पित कर  खजुराहो में वर्षायोग हेतु आशीर्वाद माँगा, पूज्य आचार्य भगवन ने आशीर्वाद प्रदान किया। एक तरह से अब आचार्यश्री ससंघ का चातुर्मास खजुराहो में होना निश्चित हो गया है। इससे देश भर की समाज में उत्साह और हर्ष की लहर छा गई।   संघस्थ बाल ब्र. सुनील भैया ने बताया कि माननीय मुख्यमंत्री जी ने आज पूज्य आचार्यश्री जी के समक्ष मंच से घोषणा भी की, कि मप्र शासन द्वारा दिया जाने जीव दया सम्मान, आगामी अगस्त माह में ही आचार्यश्री जी के पावन सान्निध्य में खजुराहो में ही प्रदान किया जाएगा । ज्ञातव्य है कि पूज्य आचार्यश्री जी की प्रेरणा एवम् आशीर्वाद से ही जीव दया के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य हेतु यह पुरस्कार मप्र शासन द्वारा घोषित किया गया है।   अब 29 जुलाई को आयोजित होने बाले कलश स्थापना की तैयारियों की गति तेज़ हो गई है।
समाचार एजेंसियां एवं अनिल जैन बड़कुल, ए बी जैन न्यूज़

संयम स्वर्ण महोत्सव समापन समारोह कार्यक्रम विवरण

संयम स्वर्ण महोत्सव समापन समारोह 17 जुलाई 2018 कार्यक्रम प्रात    7-30 बजे से 9-30 बजे मंगलाचरण     कु. कन्नगी द्वारा चित्र अनावरण   दीप प्रज्वलन    भैयाजी एवं दीदीजी द्वारा श्रीफल अर्पण प्रतिभास्थली की छात्राओं द्वारा प्रस्तुति पुस्तक विमोचन  1      मूकमाटी-सचित्र 2      अंतर्यात्री संस्कृति शासक 3      भारत में भाषा का मसला- विश्लेषण और समाधान- ब्र. विजयलक्ष्मी दीदी 4      विद्याभारत -कलेंडर पाद प्रक्षालन    संगीतमय पूजन- प्रतिभास्थली की छात्राओं और बहनों द्वारा गुरूदेव के आशीर्वचन दोपहर         2-30 बजे से 4 बजे     मंगलाचरण     चित्र अनावरण   दीप प्रज्वलन    नेपथ्य के नायकों का सम्मान *वर्ष 2018 के हमारे 9 नक्षत्र (नायक)  

खजुराहो में सर्वोदय सम्मान

चलो खजुराहो
संयम स्वर्ण महोत्सव समापन समारोह सर्वोदय सम्मान 
  आचार्य गुरुवर विद्यासागर जी महाराज की दीक्षा के 50 वर्ष  पूर्ण होने पर मनाए जाने वाले, संयम स्वर्ण महोत्सव के समापन अवसर पर आयोजित, नेपथ्य के नायकों का सम्मान सत्र 17 जुलाई 2018 ,मंगलवार ठीक दोपहर 2:00 बजे से  खजुराहो मध्य प्रदेश में प्रस्तावित है, वर्ष 2018 का यह सर्वोदय सम्मान देश के उन नायकों को दिया जा रहा है जो सामाजिक ,सांस्कृतिक एवं आर्थिक क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव ला रहे हैं, भारी मात्रा में शामिल होकर कार्यक्रम की गरिमा को दुगुना करें। कृपया इसे जन जन तक पहुँचाने में सहयोग करे     वर्ष 2018 के हमारे 7 नक्षत्र अथवा नायक हैं- 1.आदिलाबाद आंध्र प्रदेश में स्थित कला के स्वर्गीय रविंद्र शर्मा गुरुजी - कला ,कारीगरी एवं सामाजिक व्यवस्था के जानकार 2.श्री एच वाला सुब्रमण्यम संगम एवं तमिल साहित्य के गैर हिंदी भाषी सुप्रसिद्ध अनुवादक. आपने दक्षिण भारत में हिंदी के प्रचार एवं प्रसार में निर्णायक भूमिका निभाई है 3. टिहरी उत्तराखंड प्रदेश से आए हुए श्रीमान विजय जड़धारी जी. विजय जी चिपको आंदोलन की उपज है, और वर्तमान में बीज बचाओ आंदोलन से जुड़े हुए हैं. 4. श्रीराम शर्मा जी मध्य प्रदेश से संबंध रखते हैं, आपके पास भारतीय राष्ट्रीय स्वाधीनता संग्राम आंदोलन के तमाम महत्वपूर्ण दस्तावेज यथा पत्र पत्रिकाएं ,अखबार एवं ऐतिहासिक महत्व की वस्तुओं का अद्भुत संग्रह है 5. बाबा आया सिंह रियारकी महाविद्यालय जिला गुरदासपुर पंजाब  के संचालक गण. महिला शिक्षा के बाजारीकरण के खिलाफ एक स्वदेशी प्रयोग, एक ऐसा अकादमिक संस्थान जो बालिकाओं के लिए बालिकाओं के द्वारा बालिकाओं का महाविद्यालय है. 6. महाराष्ट्र राज्य के गढ़चिरौली जिले के मेडा लेखा गांव के भूतपूर्व सरपंच श्री देवाजी तोफा भाई. आपने गांधीवादी संघर्ष कर प्राकृतिक संसाधनों पर ग्राम वासियों के अधिकारों को सुनिश्चित किया. आप का नारा है हमारे गांव में, हम ही सरकार. 7. राजस्थान उदयपुर के भाई रोहित जो विगत कई वर्षों से जैविक कृषि में संलग्न है और अपने प्रयोगों के माध्यम से इसे युवा पीढ़ी में लोकप्रिय भी कर रहे हैं 8. श्री विष्णुभाई कांतिलाल त्रिवेदी - प्राचीन वास्तु शास्त्र के माध्यम से अद्भुत मंदिर श्रंखलाओं के  निर्माता एवं शिल्पकार| आपने मंदिरों का सम्पूर्ण कार्य नक्शों के मुताबिक घाड़ाई व फिटिंग का काम करवाया हैं जिसमे आपका ४५ वर्ष का अनुभव हैं | 9 श्री शफीक जी खान - आप गौ संरक्षक एवं गाय संस्कृति के पालन हार |      
 

    आज आचार्यश्री विद्यासागर जी मुनिराज का व संघस्थ मुनिगणो  का आज #केश्लोंचन हुआ

#केश्लोंचन
#आचार्यश्रीविद्यासागरजीमुनिराज
#जैनतीर्थबंधा
    प.पू. श्रीमद् जैनाचार्य विद्यासागर महामुनिराज जैन तीर्थ बंधा जी,जतारा, जिला-टीकमगढ,म.प्र. में 41 निर्ग्रन्थ बाल ब्रह्मचारी मुनियो के संघ सहित विराजमान है।
    आज आचार्यश्री विद्यासागर जी मुनिराज का व संघस्थ मुनिगणो  का आज #केश्लोंचन हुआ
केश्लोंचन कर्ता मुनि
आचार्यश्री विद्यासागर मुनिराज 
मुनि योगसागर मुनिराज 
मुनि सौम्यसागर मुनिराज 
मुनि विनम्रसागर मुनिराज
मुनि निरापदसागर मुनिराज 
मुनि संधानसागर मुनिराज 
मुनि श्रमणसागर मुनिराज
    केश्लोचन दिगम्बर जैन मुनि की तपस्या का मूलगुण है इसके अन्तर्गत मुनि अपने सिर व दाढी-मूँछ के बालो को बिना किसी उपकरण या औषधि के अपने ही हाथो से खींचकर तोड़ते है इस दिन मुनियो को निर्जल उपवास करना होता है,यह क्रिया 2,3 या अधिकतम 4 मास में एक बार करना अनिवार्य है, आचार्य विद्यासागर जी 2 माह से भी कम समय में केश्लोंचन करते है।
    बंधा जी 1500 साल पुराना जैन तीर्थ है जहाँ 900 वर्ष प्राचीन तीर्थंकर अजितनाथ जी की मनभावन दिगंबर मूर्ति है यहाँ इससे भी प्राचीन और कई मूर्तियाँ है।
   आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज के आशीर्वाद से व उनके शिष्य मुनि अभयसागर जी मुनिराज के निर्देशन में इस तीर्थ का जीर्णोद्धार हुआ और आज यह मध्यप्रदेश के प्रमुख जैन तीर्थो की पंक्ति में शुमार है। संस्कृति संरक्षक आचार्य विद्यासागर जी मुनिराज जयवंत हो
तीर्थ जीर्णोद्धारक मुनि अभयसागर जी मुनिराज जयवंत हो
 

गुरु शिष्य महामिलन

गुरुशिष्य महामिलन
बंधा जी क्षेत्र में हुआ पूज्य आचार्य भगवान श्री १०८ विद्यासागर जी महाराज ससंघ से पूज्यवर मुनिश्री १०८ अभय सागर जी महाराज ससंघ का मंगल मिलन
गुरुदेव नमोस्तु    
 

३० जून २०१८ बॅंधा जी में कार्यक्रम एवं महामस्तकाभिषेक सुचना

चलो          🚩           चलो 
चेतन्य चमत्कारी बाबा 
       के दरबार   बंधा जी
भव्य आगवानी,महामत्काभिषेक
    🎷   🌈🌈    🎷
    दिनाँक 30 जून शनिवार
      🥁     💫💫    🥁
बुन्देलखण्ड के मध्य स्थित अनेकोनेक आतिशयों से युक्त ,चैतन्य चमत्कारी भगवान अजित नाथ जी  भोंयेरे बाले बाबा के दरबार मे  30 जून शनिवार की प्रातः बेला में शताब्दी संत श्रीमद आचार्य भगवंत श्री विद्यासागर जी महाराज बालयति संघ के साथ पधार रहे हैं।
आचार्य भगवंत की आगवानी मुनि श्री अभय सागर जी महाराज ससंघ एवं बंधा जी  क्षेत्र के हजारों जैन जैनेतर भव्यता के साथ करेंगे। 
       बंधा जी क्षेत्र कमेटी अध्यक्ष श्री मुरली मनोहर जी द्वारा प्राप्त जानकारी अनुसार  हजारों की संख्या में अजेन आचार्य भगवंत की आगवानी को आतुर है। आस पास की विभिन्न भजन मंडली,अखाड़े, और हजारों कलशों के साथ आचार्य भगवंत की आगवानी की जावेगी। सम्पूर्ण मार्ग में बन्धनबार आगवानी के लिए सजाये गए है।
        प्रातः काल आगवानी के साथ ही ब्र. सुनील भैया जी के निर्देशन में  विभिन्न्न कार्यक्रम सम्पादित किये जावेगें।
🎊    1008 कलशों से श्री अजितनाथ भगवान का महामस्तकाभिषेक
🎊 आचार्य श्री का संयम स्वर्ण महोत्सव , आचार्य भगवंत की दिव्य देशना।
 🎊 विद्योदय फ़िल्म का प्रदर्शन
    आदि विविध कार्यक्रम क्षेत्र कमेटी द्वारा आयोजित है।
🔅🔅🔅🔅🔅🔅🔅🔅
श्री बंधा जी क्षेत्र के अतिशय कारी चेतन्य चमत्कारी बाबा अजितनाथ जी  के दरवार  में एक बार जो आ जाता है उसे बार बार आने का मन करता है। यह इस क्षेत्र का प्रथम अतिशय है।
 वर्ष 2017 और 2018 के जनवरी माह में आर्यिका श्रेष्ठ विज्ञानमती माता जी के सानिध्य में इस क्षेत्र पर विभिन्न कार्यक्रम  आयोजित हुये देश के कोने-कोने से बड़ी संख्या में आये श्रद्धालुओं ने कार्यक्रम में शिरकत की और बंधा जी क्षेत्र के भोंयेरे बाले बाबा के चमत्कार को साक्षात निहारा।
⛳⛳⛳⛳⛳⛳⛳⛳
  क्षेत्र कमेटी द्वारा आगन्तुको के आवास एवं भोजन की व्यवस्था रखी गयी है। 
    पधारकर सातिशय पुण्य लाभ अर्जित करें।
🍂🍂🍂🍂🍂🍂🍂🍂
    मुरली मनोहर जैन(अध्यक्ष बंधा जी क्षेत्र कमेटी) 8964977550  समस्त प्रबंध कार्यकारणी। क्षेत्रिय समाज
〰〰〰〰〰〰〰〰
 
 

आज सुबह खजुराहो में होगा मंगल प्रवेश |

जुलाई १३, २०१८    रात्रि विश्राम हवाई अड्डे के कम्युनिटी सेन्टर में होगा।  कल प्रातः 6.30 या 7.00 बजे खजुराहो में प्रवेश होगा।     11 जुलाई 2018, 5:15 PM परम पूज्य आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ का मंगल विहार छतरपुर से खजुराहो मार्ग पर, आज दोपहर में हुआ। आज रात्रि विश्राम- ब्रजपुरा स्कूल भवन (छतरपुर से 11 किमी)
कल की आहार चर्या- बसारी ग्राम (ब्रजपुरा से 8 किमी) 8 जुलाई, रविवार। आज रात्रि विश्राम- खमा गाँव (4 किमी पूर्व नोगाव से)
कल प्रातः 7 बजे- नोगाँव में भव्य मंगल प्रवेश। विशेष: छतरपुर में 11 जुलाई को सुवह मंगल प्रवेश संभावित।
  6 जुलाई २०१८  मंगल विहार जतारा से हुआ.........
आचार्य भगवन संत शिरोमणि 108 विद्यासागर जी महामुनिराज का मंगल विहार हो गया है।
संभावित रात्रि विश्राम सिमरा में होने की संभावना है 
कल की आहार चर्या पलेरा में होने की संभावना है।
5 जुलाई, 4:00PM
लिथोरा ग्राम से हुआ विहार,
गूंज उठी तब जय जयकार ।
12 किमी है सीतापुर ग्राम,
यहाँ संघ करेगा रात्रि विश्राम ।।   कल प्रातः होगा मंगल विहार,
जब सूरज का होगा उजियारा।
नगर नागरिक झूम उठेंगे,
कल मंगल प्रवेश होगा "जतारा" ।।

4 जुलाई 2018 आज बॅंधा जी  से आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ का विहार हुआ । बम्होरी रात्रि विश्राम आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ का विहार आज श्याम ४:२० बजे अतिशय क्षेत्र बंधा जी से बम्होरी (खजुराहो) की ओर हुआ आज आचार्यश्री ससंघ का रात्रि विश्राम बम्होरी में होने की संभावना है  संभावित दिशा- बम्होरी, जतारा, छतरपुर आज 28 जून अभी 3 बजे परम पूज्य आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज का मंगल विहार, टीकमगढ़ से अतिशय क्षेत्र श्री बंधा जी की ओर हुआ। आज रात्रि विश्राम: रामपुरा (11 किमी)
कल की आहार चर्या: दिगौड़ा सम्भावित (रमपुरा से 13 किमी) आचार्यसंघ की अगवानी करेंगे मुनि संघ। पूज्य मुनिश्री अभय सागर जी महाराज ससंघ का बरुआ सागर से हुआ मंगल विहार। परसों 30 जून को प्रातःकाल पूज्य आचार्यसंघ की भव्य अगवानी करेंगे, पूज्य मुनिश्री अभय सागर जी ससंघ। वर्षो के अंतराल के उपरांत करेंगे गुरु दर्शन, मिलेंगे गुरुचरण।
      भव्य मंगल प्रवेश
नन्दीश्वर कालोनी टीकमगढ़ श्रीमद आचार्य भगवंत श्री विद्यासागर जी महाराज का बालयति संघ सहित भव्य मंगल प्रवेश नन्दीश्वर जिनालय टीकमगढ़ में आज 28 जून गुरुवार को प्रातः वेला में हुआ।  गत वर्ष नन्दीश्वर कालोनी में आर्यिका माँ विज्ञानमती माता जी ससंघ वर्षायोग सम्पन्न हुआ था। आर्यिका संघ के सानिध्य में त्रिकाल चौवीसी जिनालय का भूमिपूजन किया गया था।     विद्या गुरु का मंगल विहार संत शिरोमणि आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ का अभी अभी ६.४० मिनट पर अतिशय क्षेत्र पपौरा जी से टीकमगढ़ के लिए हुए मंगल विहार आहरचार्य टीकमगढ़ संभावित  
 

कल प्रातःकाल की बेला में पूज्य आचार्य श्री जी ससंघ का पपौरा जी से होगा मंगल विहार

कल प्रातःकाल की बेला में पूज्य आचार्य श्री जी ससंघ का पपौरा जी से होगा मंगल विहार। विहार दिशा को लेकर सब ओर उम्मीदें जागी।

हथकरघा का शुभारंभ
अतिशय क्षेत्र श्री पपौरा जी मे, परम पूज्य आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ सानिध्य में, आज प्रातः गौशाला परिसर में हथकरघा केंद्र का शुभारंभ हुआ। यहाँ पर 162 X 45 फ़ीट का विशाल भवन बनकर तैयार हो रहा है। इसमे 108 हथकरघा स्थापित किये जायेंगे।   होगा नवीन जिनालय का शिलान्यास
कल 28 जून को प्रातः 6 से 7 बजे तक पपौरा जी मे नवीन मन्दिर जी का शिलान्यास का कार्यक्रम ब्र सुनील भैया जी के निर्देशन में सम्पन्न होगा । कल प्रातःकाल मे ही होगा विहार
पूज्य आचार्यसंघ का मंगल विहार कल प्रातः 7 बजे, पपौरा जी से टीकमगढ़ नगर की ओर होगा। पूज्य आचार्यसंघ की अगवानी टीकमगढ़ में 8 बजे होंगी। नन्दीश्वर कॉलोनी जिनालय टीकमगढ़ में श्री आदिनाथ भगवान की 13 फ़ीट की प्रतिमा आचार्य संघ के सानिध्य एवम प्रतिष्ठाचार्य श्री ब्र सुनील भैया के निर्देसन में वेदी पर प्रतिष्ठा की जाएगी।   दोपहर में टीकमगढ़ से भी हो सकता हैं  मंगल विहार
 
 

आज हुआ आचार्य श्री का पिच्छी परिवर्तन

आज  छोटे बाबा का हुआ  पिच्छी परिवर्तन  पपौरा जी मे प्रतिभामंडल की दीदी समूह को मिला गुरु की पिच्छी परविर्तन करने का सौभाग्य          
 

पपौरा जी मैं आज 72 ब्रह्मचारिणी बहनों का पूर्वपीठिका से प्रतिभा मंडल में प्रवेश हुआ

प्रतिभा मंडल वह समूह है जिसमें आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज को अपना जीवन समर्पित करने वाली एवं उनके मार्गदर्शन में चलने वाली ब्रह्मचारिणी बहने प्रतिभास्थली कन्या आवासीय विद्यालय, महिला- हथकरघा प्रशिक्षण केन्द्र आदि का संचालन करती हैं
वर्तमान में 5 जगहों पर प्रतिभास्थली कन्या आवासीय विद्यालय चल रहा है
1 जबलपुर (मध्य प्रदेश)
2 डोंगरगढ़ (छत्तीसगढ़)
3 रामटेक (नागपुर, महाराष्ट्र)
4 पपौरा जी (टीकमगढ़, मध्य प्रदेश)
5 इंदौर (मध्य प्रदेश)
 

श्री दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र पपौरा जी में भक्तामर पाठ का आयोजन होगा 9 जून को

🙏🏻 कार्यक्रम सूचना 🙏🏻
संत शिरोमणि आचार्य श्री 108 विद्यासागर जी महामुनिराज के 50वें संयम स्वर्ण महोत्सव वर्ष के अंतर्गत आचार्य श्री ससंघ के मंगल आशीर्वाद से दिनांक 9 जून 2018 को श्री दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र पपौरा जी में सायं 7•30 बजे भक्तामर पाठ का आयोजन होने जा रहा है। जिसकी प्रस्तुति प्रतिभास्थली (जबलपुर) की छात्राएं सुश्री विधि जैन, निष्ठा जैन तथा श्री विद्यासागर यात्रा संघ, जयपुर द्वारा दी जाएगी।

सागर से ढाई हजार लोगों ने श्रीफल भेंट कर चातुर्मास का किया निवेदन

समय-समय पर दान करना सीखें श्रावक- आचार्यश्री   प्रसिद्ध जैन तीर्थक्षेत्र पपौराजी में विराजमान आचार्य श्री विद्यासागर महाराज को सागर से ढाई हजार श्रावको ने सामूहिक रुप से आचार्यश्री से सागर में चातुर्मास हेतु निवेदन करते हुए श्रीफल समर्पित किया 
सागर समाज की तरफ से मुकेश जैन ढाना ने कहा कि 1998 के बाद से  सागर में आचार्य संघ का वर्षा कालीन चातुर्मास नहीं हुआ है।  सागर में चतुर्मुखी जिनालय का का निर्माण कार्य चल रहा है आपके चातुर्मास से इस कार्य में और तेजी आएगी |
ब्रह्मचारिणी रेखा दीदी ने कहा कि सागर में प्रतिभास्थली  कॉलेज की आवश्यकता है। और चातुर्मास के दौरान कॉलेज की आधारशिला रखी जा सकती है 
इस अवसर पर विधायक शैलेंद्र जैन ने भी सागर में चातुर्मास हेतु निवेदन किया।
   आचार्यश्री की सामूहिक पूजन सागर जैन समाज के श्रावक श्रेष्ठियो ने की। पारसनाथ मंदिर कटरा की  पारस प्रगति महिला मंडल ने द्रव्य सजाकर पूजन की। समाज के श्रावक श्रेष्ठि महेश बिलहरा,विधायक शैलेंद्र जैन, प्रेमचंद जैन उपकार,आनंद जैन स्टील और गुरुवर यात्रा संघ के सदस्यों ने आचार्य श्री का पाद प्रक्षालन किया। 
आचार्य श्री जी ने इस अवसर पर अपने मंगल प्रवचन में कहा प्रत्येक श्रावक का कर्तव्य है की वह बांटना सीखे समय-समय पर वितरण (दान) करते रहना चाहिए । क्योंकि दान बहुत महत्वपूर्ण है जैसे किसान फसल काटने के बाद वितरण करता है  उसी प्रकार श्रावक को दान करना चाहिए आप लोगों के द्वारा चातुर्मास की मांग की गई है देखते हैं क्या होता है बुंदेलखंड में नौतपा की एक अलग परंपरा है 9 दिन के तपा यहां पर तपते हैं और जो नीचे तप् जाता है वह ऊपर चला जाता है सागर का जल तप गया और बादल बनकर ऊपर चला गया। और उसके बाद फिर झमाझम बरसता है आचार्य श्री जी ने कहा मानसून आकर भी भटक जाता है जो अनुमान का विश्वास करते हैं वह उनकी ओर नहीं आता है उसे ही भटकना कहते हैं।
भाग्योदय परिसर में  बनने वाले सहस्त्रकूट जिनालय के लिए श्रीमती साधना राजीव जैन, श्रीमती अनीता पदम सिंघई, अनिल मोदी दलपतपुर और  सुषमा प्रदीप फणीन्द्र अंकुर कॉलोनी ने एक-एक प्रतिमा जी  स्थापना कराने की स्वीकृति दी ।
सागर से प्रमुख रुप से पपौरा जी जाने वालों में देवेंद्र जैन स्टील मुकेश जैन ढाना, ऋषभ जैन ठेकेदार, सुरेंद्र जैन मालथोन, सट्टू कर्रापुर, डॉक्टर अरुण सराफ पूर्व विधायक सुनील जैन, ऋषभ मडावरा, अमित जैन रामपुरा, राजाभैया जैन, संतोष कर्द, अनुराग कैटर्स, राजेंद्र सुमन, राजेश जैन रोडलाइंस अशोक पिडरुआ, श्रीमती शकुंतला जैन, डॉ नीलम जैन,जिनेश बहरोल मोनू जैन, संजय शक्कर, गुरुवर यात्रा संघ से सपन जैन, संजय जैन टडा, अंकुश जैन, प्रशांत जैन, मनीष नायक, राकेश निश्चय,आशीष बाछल,अजय लॉटरी,इंजी अनिल जैन,राहुल सतभैया,जित्तू जैन,कमलेश जैन, ऋषभ जैन,सोनू आईटीआई, सहित हजारों लोग उपस्थित थे।
 
 

पपौरा जी में 17 जून को महामस्तकाभिषेक होने की संभावना 

पपौरा जी में 17 जून को महामस्तकाभिषेक होने की संभावना 
सागर- टीकमगढ़ नगर से 5 किलोमीटर दूर स्थित पपौरा जी जैन तीर्थ क्षेत्र में इन दिनों आचार्य गुरुदेव श्री विद्यासागर महाराज ससंघ विराजमान है। इन दिनों पूरे देश भर से श्रद्धालु गुरुदेव के चरणों में श्रीफल अर्पित करने के लिए आ रहे हैं। देश के हर कोने से लोग गुरुदेव की एक झलक देखने को मिल जाए इसके लिए पपौरा जी पहुंच रहे हैं। 17 जून श्रुत पंचमी के दिन पपौरा जी के मूलनायक 1008 श्री आदिनाथ भगवान का महामस्तकाभिषेक का कार्यक्रम होने की संभावनाएं है। आचार्य श्री के ससंघ सानिध्य में पपौरा जी के सभी जिनालयों में महामस्तकाभिषेक का कार्यक्रम कमेटी के द्वारा आचार्य भगवन के समक्ष निवेदित किया गया है।    श्रुत पंचमी से चातुर्मास के होने लगते हैं संकेत श्रुत पंचमी के दिन से ही आचार्य भगवन के द्वारा अपने शिष्यों को वर्षायोग चातुर्मास देने के संकेत करने लगते है। देश भर से सैकड़ों स्थानों से समाज के पदाधिकारी गुरुदेव के चरणों में पहुंच करके मुनि संघ या आर्यिका संघ का चातुर्मास उनके नगर में हो ऐसा निवेदन भी किया जाता है। वह भाग्यशाली नगर होते हैं जहां पर मुनि संघ या आर्यिका संघ का चातुर्मास मिल जाता है 
क्योंकि यह वर्ष संयम स्वर्ण जयंती वर्ष के रूप में पूरे देश में मनाया जा रहा है। 28 जून 2017 से शुरू हुए इस संयम स्वर्ण जयंती महोत्सव में साल भर तक अनेको कार्यक्रम समाज के द्वारा कराए जा रहे है आचार्य श्री जी की दीक्षा के 50 वर्ष आगामी 17  जुलाई 2018 को पूर्ण हो रहे हैं।   कार्यक्रम की शुरुआत छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध जैन तीर्थ क्षेत्र चंदगिरी डोंगरगढ़ से हुई थी। 50 वां दीक्षा समारोह 17 जुलाई को कहां होगा इसको लेकर के लोगों की नजरें लगी हुई है। गुरुदेव का मंगल चातुर्मास जिस नगर में होगा वह धन्य हो जाएगा थोड़ा इंतजार करें इंतजार की घड़ियां भी 17 जुलाई तक समाप्त हो जाएगी। जय जिनेंद्र 
 

पपौरा मंदिर में होगा सम्मेलन, देश भर के जुटेंगे आईएएस व आईपीएस अधिकारी

आचार्य श्री विद्यासागर जी  महाराज का पपौराजी में एक माह पूर्ण हाेने वाला है, तपती गर्मी तेज धूप की चुभन में भी आचार्य संघ अपनी चर्या में लीन है । टीकमगढ़
जैन तीर्थ पपौराजी में आचार्य श्री  विद्यासागर जी महाराज को एक माह पूर्ण हाेने वाला है। तपती गर्मी तेज धूप की चुभन फिर भी आचार्य संघ अपनी चर्या में लीन है। आचार्य श्री  चौबीस घंटे में एक बार विधि पूर्वक आहार लेते है।
विधि नहीं मिलती वह आहार  नहीं करते। आचार्यश्री का दिन का प्रारंभ आचार्य भक्ति से होता है। सुबह 5.45 बजे आचार्य भक्ति के साथ आयोजन की शुरूआत हुई। सुबह 8.50 बजे आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज  का पाद प्रच्छालन हुआ। जिसके बाद 9 बजे से आचार्यश्री के प्रवचन शुरू हुए। आचार्यश्री विद्यासागर महाराज ने अपनी वाणी से कहा कि एक व्यक्ति हजारों उलझनों को सुलझा सकता है, यदि वह युक्ति पूर्वक कार्य करता है। तुम उलझे हो तो अपने आपको भगवान के प्रति समर्पित कर दो सैकड़ों सब कुल सुलझ जाएगा। उन्होंने कहा कि एक व्यक्ति अपने जीवन मेंं युक्ति के द्वारा काम लेता है। वह चिंतन भी करता है, वह उसका चिंतन था।
मोक्ष मार्ग में अनेक उलझनें होती है। बहुत उलझनों में से कुछ कम हो जाए तो अच्छा है। आचार्यश्री ने कहा कि बच्चों को परीक्षा में एक पेपर कम देना पड़े तो उनके लिए बहुत अच्छा रहेगा। उनकी एक उलझन कम हो जाएगी। उन्होंने कहा कि दुनिया में बहुत उलझन है आप लोग कहते है। मोक्ष मार्ग बहुत उलझन है में कहना हूं। मोक्ष मार्ग में उलझन है ही नहीं। 
मंदिर में प्रवचन के दौरान चल रहे अनेक आयोजन
पपौरा मंदिर में चल रहे प्रवचन के दौरान विभिन्न आयोजन किए जा रहे है। अब 19 और 20 मई को देश भर के आईएएस और आईपीएस जुड़ेंगे। ब्रह्मचारी सुनील भैया ने बताया कि पपौरा जी में जैन आईएएस एवं आईपीएस का सम्मेलन होगा। जिसमें देश भर के जैन आईएएस एवं आईपीएस पपौरा जी आएंगे। और युवाओं के लिए अपने विचार व्यक्त करेंगे।
अन्य राज्यों से पहुंचे श्रद्धालु
पपाैरा मंदिर में विराजमान आचायश्री विद्यासागर महाराज के दर्शन करने के लिए अन्य राज्यों से श्रद्धालु पहुंच रहे है। पुष्पेंद्र जैन ने बताया कि बीते दिनों गुजरात, उत्तरप्रदेश, छत्तीसगढ़ सहित अन्य राज्यों के श्रद्धालु दर्शन करने पहुंचे।
आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज प्रवचन देते हुए। 
    संकलन अभिषेक जैन लुहाडिया रामगंजमंडी
 

आमंत्रण पत्र विव्दत्त संगोष्ठी दिनांक - १४ ,१५ मई २०१८

आमंत्रण पत्र परम पूज्य आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ सानिध्य में परम पूज्य महाकवि "आचार्य ज्ञानसागर जी" के समाधी दिवस प्रसंघ पर उनकी अनुपम कृति "जयोदय महाकाल" पर आयोजित  विव्दत्त संगोष्ठी - आप सदर सविनय आमंत्रित है | कृपया पधारकर पुण्यार्जन में सहभागी बनें | दिनांक - १४,१५ - मई - २०१८ प्रात : ७ बजे से  स्थान - अतिशय क्षेत्र पपौरा जी    निवेदक: क्षेत्र प्रबंधकारिणी समिति  सकल जैन समाज टीकमगढ़ संयम स्वर्ण महोत्सव समिति  
×