Jump to content
आचार्य विद्यासागर स्वाध्याय नेटवर्क से जुड़ने के लिए +918769567080 इस नंबर पर whatsapp करे Read more... ×
  • entries
    49
  • comments
    44
  • views
    4,480

Entries in this blog

 

आज हुआ आचार्य श्री का पिच्छी परिवर्तन

आज  छोटे बाबा का हुआ  पिच्छी परिवर्तन  पपौरा जी मे प्रतिभामंडल की दीदी समूह को मिला गुरु की पिच्छी परविर्तन करने का सौभाग्य          
 

पपौरा जी मैं आज 72 ब्रह्मचारिणी बहनों का पूर्वपीठिका से प्रतिभा मंडल में प्रवेश हुआ

प्रतिभा मंडल वह समूह है जिसमें आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज को अपना जीवन समर्पित करने वाली एवं उनके मार्गदर्शन में चलने वाली ब्रह्मचारिणी बहने प्रतिभास्थली कन्या आवासीय विद्यालय, महिला- हथकरघा प्रशिक्षण केन्द्र आदि का संचालन करती हैं
वर्तमान में 5 जगहों पर प्रतिभास्थली कन्या आवासीय विद्यालय चल रहा है
1 जबलपुर (मध्य प्रदेश)
2 डोंगरगढ़ (छत्तीसगढ़)
3 रामटेक (नागपुर, महाराष्ट्र)
4 पपौरा जी (टीकमगढ़, मध्य प्रदेश)
5 इंदौर (मध्य प्रदेश)
 

श्री दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र पपौरा जी में भक्तामर पाठ का आयोजन होगा 9 जून को

🙏🏻 कार्यक्रम सूचना 🙏🏻
संत शिरोमणि आचार्य श्री 108 विद्यासागर जी महामुनिराज के 50वें संयम स्वर्ण महोत्सव वर्ष के अंतर्गत आचार्य श्री ससंघ के मंगल आशीर्वाद से दिनांक 9 जून 2018 को श्री दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र पपौरा जी में सायं 7•30 बजे भक्तामर पाठ का आयोजन होने जा रहा है। जिसकी प्रस्तुति प्रतिभास्थली (जबलपुर) की छात्राएं सुश्री विधि जैन, निष्ठा जैन तथा श्री विद्यासागर यात्रा संघ, जयपुर द्वारा दी जाएगी।
 

अजैन लोगो ने आचार्य श्री से मांस मदिरा का किया त्याग

आज पपौरा जी मे बहुत सारे अजैन लोगो ने आचार्य श्री से मांस मदिरा का त्याग किया  

सागर से ढाई हजार लोगों ने श्रीफल भेंट कर चातुर्मास का किया निवेदन

समय-समय पर दान करना सीखें श्रावक- आचार्यश्री   प्रसिद्ध जैन तीर्थक्षेत्र पपौराजी में विराजमान आचार्य श्री विद्यासागर महाराज को सागर से ढाई हजार श्रावको ने सामूहिक रुप से आचार्यश्री से सागर में चातुर्मास हेतु निवेदन करते हुए श्रीफल समर्पित किया 
सागर समाज की तरफ से मुकेश जैन ढाना ने कहा कि 1998 के बाद से  सागर में आचार्य संघ का वर्षा कालीन चातुर्मास नहीं हुआ है।  सागर में चतुर्मुखी जिनालय का का निर्माण कार्य चल रहा है आपके चातुर्मास से इस कार्य में और तेजी आएगी |
ब्रह्मचारिणी रेखा दीदी ने कहा कि सागर में प्रतिभास्थली  कॉलेज की आवश्यकता है। और चातुर्मास के दौरान कॉलेज की आधारशिला रखी जा सकती है 
इस अवसर पर विधायक शैलेंद्र जैन ने भी सागर में चातुर्मास हेतु निवेदन किया।
   आचार्यश्री की सामूहिक पूजन सागर जैन समाज के श्रावक श्रेष्ठियो ने की। पारसनाथ मंदिर कटरा की  पारस प्रगति महिला मंडल ने द्रव्य सजाकर पूजन की। समाज के श्रावक श्रेष्ठि महेश बिलहरा,विधायक शैलेंद्र जैन, प्रेमचंद जैन उपकार,आनंद जैन स्टील और गुरुवर यात्रा संघ के सदस्यों ने आचार्य श्री का पाद प्रक्षालन किया। 
आचार्य श्री जी ने इस अवसर पर अपने मंगल प्रवचन में कहा प्रत्येक श्रावक का कर्तव्य है की वह बांटना सीखे समय-समय पर वितरण (दान) करते रहना चाहिए । क्योंकि दान बहुत महत्वपूर्ण है जैसे किसान फसल काटने के बाद वितरण करता है  उसी प्रकार श्रावक को दान करना चाहिए आप लोगों के द्वारा चातुर्मास की मांग की गई है देखते हैं क्या होता है बुंदेलखंड में नौतपा की एक अलग परंपरा है 9 दिन के तपा यहां पर तपते हैं और जो नीचे तप् जाता है वह ऊपर चला जाता है सागर का जल तप गया और बादल बनकर ऊपर चला गया। और उसके बाद फिर झमाझम बरसता है आचार्य श्री जी ने कहा मानसून आकर भी भटक जाता है जो अनुमान का विश्वास करते हैं वह उनकी ओर नहीं आता है उसे ही भटकना कहते हैं।
भाग्योदय परिसर में  बनने वाले सहस्त्रकूट जिनालय के लिए श्रीमती साधना राजीव जैन, श्रीमती अनीता पदम सिंघई, अनिल मोदी दलपतपुर और  सुषमा प्रदीप फणीन्द्र अंकुर कॉलोनी ने एक-एक प्रतिमा जी  स्थापना कराने की स्वीकृति दी ।
सागर से प्रमुख रुप से पपौरा जी जाने वालों में देवेंद्र जैन स्टील मुकेश जैन ढाना, ऋषभ जैन ठेकेदार, सुरेंद्र जैन मालथोन, सट्टू कर्रापुर, डॉक्टर अरुण सराफ पूर्व विधायक सुनील जैन, ऋषभ मडावरा, अमित जैन रामपुरा, राजाभैया जैन, संतोष कर्द, अनुराग कैटर्स, राजेंद्र सुमन, राजेश जैन रोडलाइंस अशोक पिडरुआ, श्रीमती शकुंतला जैन, डॉ नीलम जैन,जिनेश बहरोल मोनू जैन, संजय शक्कर, गुरुवर यात्रा संघ से सपन जैन, संजय जैन टडा, अंकुश जैन, प्रशांत जैन, मनीष नायक, राकेश निश्चय,आशीष बाछल,अजय लॉटरी,इंजी अनिल जैन,राहुल सतभैया,जित्तू जैन,कमलेश जैन, ऋषभ जैन,सोनू आईटीआई, सहित हजारों लोग उपस्थित थे।
 
 

पपौरा जी में 17 जून को महामस्तकाभिषेक होने की संभावना 

पपौरा जी में 17 जून को महामस्तकाभिषेक होने की संभावना 
सागर- टीकमगढ़ नगर से 5 किलोमीटर दूर स्थित पपौरा जी जैन तीर्थ क्षेत्र में इन दिनों आचार्य गुरुदेव श्री विद्यासागर महाराज ससंघ विराजमान है। इन दिनों पूरे देश भर से श्रद्धालु गुरुदेव के चरणों में श्रीफल अर्पित करने के लिए आ रहे हैं। देश के हर कोने से लोग गुरुदेव की एक झलक देखने को मिल जाए इसके लिए पपौरा जी पहुंच रहे हैं। 17 जून श्रुत पंचमी के दिन पपौरा जी के मूलनायक 1008 श्री आदिनाथ भगवान का महामस्तकाभिषेक का कार्यक्रम होने की संभावनाएं है। आचार्य श्री के ससंघ सानिध्य में पपौरा जी के सभी जिनालयों में महामस्तकाभिषेक का कार्यक्रम कमेटी के द्वारा आचार्य भगवन के समक्ष निवेदित किया गया है।    श्रुत पंचमी से चातुर्मास के होने लगते हैं संकेत श्रुत पंचमी के दिन से ही आचार्य भगवन के द्वारा अपने शिष्यों को वर्षायोग चातुर्मास देने के संकेत करने लगते है। देश भर से सैकड़ों स्थानों से समाज के पदाधिकारी गुरुदेव के चरणों में पहुंच करके मुनि संघ या आर्यिका संघ का चातुर्मास उनके नगर में हो ऐसा निवेदन भी किया जाता है। वह भाग्यशाली नगर होते हैं जहां पर मुनि संघ या आर्यिका संघ का चातुर्मास मिल जाता है 
क्योंकि यह वर्ष संयम स्वर्ण जयंती वर्ष के रूप में पूरे देश में मनाया जा रहा है। 28 जून 2017 से शुरू हुए इस संयम स्वर्ण जयंती महोत्सव में साल भर तक अनेको कार्यक्रम समाज के द्वारा कराए जा रहे है आचार्य श्री जी की दीक्षा के 50 वर्ष आगामी 17  जुलाई 2018 को पूर्ण हो रहे हैं।   कार्यक्रम की शुरुआत छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध जैन तीर्थ क्षेत्र चंदगिरी डोंगरगढ़ से हुई थी। 50 वां दीक्षा समारोह 17 जुलाई को कहां होगा इसको लेकर के लोगों की नजरें लगी हुई है। गुरुदेव का मंगल चातुर्मास जिस नगर में होगा वह धन्य हो जाएगा थोड़ा इंतजार करें इंतजार की घड़ियां भी 17 जुलाई तक समाप्त हो जाएगी। जय जिनेंद्र 
 

पपौरा मंदिर में होगा सम्मेलन, देश भर के जुटेंगे आईएएस व आईपीएस अधिकारी

आचार्य श्री विद्यासागर जी  महाराज का पपौराजी में एक माह पूर्ण हाेने वाला है, तपती गर्मी तेज धूप की चुभन में भी आचार्य संघ अपनी चर्या में लीन है । टीकमगढ़
जैन तीर्थ पपौराजी में आचार्य श्री  विद्यासागर जी महाराज को एक माह पूर्ण हाेने वाला है। तपती गर्मी तेज धूप की चुभन फिर भी आचार्य संघ अपनी चर्या में लीन है। आचार्य श्री  चौबीस घंटे में एक बार विधि पूर्वक आहार लेते है।
विधि नहीं मिलती वह आहार  नहीं करते। आचार्यश्री का दिन का प्रारंभ आचार्य भक्ति से होता है। सुबह 5.45 बजे आचार्य भक्ति के साथ आयोजन की शुरूआत हुई। सुबह 8.50 बजे आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज  का पाद प्रच्छालन हुआ। जिसके बाद 9 बजे से आचार्यश्री के प्रवचन शुरू हुए। आचार्यश्री विद्यासागर महाराज ने अपनी वाणी से कहा कि एक व्यक्ति हजारों उलझनों को सुलझा सकता है, यदि वह युक्ति पूर्वक कार्य करता है। तुम उलझे हो तो अपने आपको भगवान के प्रति समर्पित कर दो सैकड़ों सब कुल सुलझ जाएगा। उन्होंने कहा कि एक व्यक्ति अपने जीवन मेंं युक्ति के द्वारा काम लेता है। वह चिंतन भी करता है, वह उसका चिंतन था।
मोक्ष मार्ग में अनेक उलझनें होती है। बहुत उलझनों में से कुछ कम हो जाए तो अच्छा है। आचार्यश्री ने कहा कि बच्चों को परीक्षा में एक पेपर कम देना पड़े तो उनके लिए बहुत अच्छा रहेगा। उनकी एक उलझन कम हो जाएगी। उन्होंने कहा कि दुनिया में बहुत उलझन है आप लोग कहते है। मोक्ष मार्ग बहुत उलझन है में कहना हूं। मोक्ष मार्ग में उलझन है ही नहीं। 
मंदिर में प्रवचन के दौरान चल रहे अनेक आयोजन
पपौरा मंदिर में चल रहे प्रवचन के दौरान विभिन्न आयोजन किए जा रहे है। अब 19 और 20 मई को देश भर के आईएएस और आईपीएस जुड़ेंगे। ब्रह्मचारी सुनील भैया ने बताया कि पपौरा जी में जैन आईएएस एवं आईपीएस का सम्मेलन होगा। जिसमें देश भर के जैन आईएएस एवं आईपीएस पपौरा जी आएंगे। और युवाओं के लिए अपने विचार व्यक्त करेंगे।
अन्य राज्यों से पहुंचे श्रद्धालु
पपाैरा मंदिर में विराजमान आचायश्री विद्यासागर महाराज के दर्शन करने के लिए अन्य राज्यों से श्रद्धालु पहुंच रहे है। पुष्पेंद्र जैन ने बताया कि बीते दिनों गुजरात, उत्तरप्रदेश, छत्तीसगढ़ सहित अन्य राज्यों के श्रद्धालु दर्शन करने पहुंचे।
आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज प्रवचन देते हुए। 
    संकलन अभिषेक जैन लुहाडिया रामगंजमंडी
 

आमंत्रण पत्र विव्दत्त संगोष्ठी दिनांक - १४ ,१५ मई २०१८

आमंत्रण पत्र परम पूज्य आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ सानिध्य में परम पूज्य महाकवि "आचार्य ज्ञानसागर जी" के समाधी दिवस प्रसंघ पर उनकी अनुपम कृति "जयोदय महाकाल" पर आयोजित  विव्दत्त संगोष्ठी - आप सदर सविनय आमंत्रित है | कृपया पधारकर पुण्यार्जन में सहभागी बनें | दिनांक - १४,१५ - मई - २०१८ प्रात : ७ बजे से  स्थान - अतिशय क्षेत्र पपौरा जी    निवेदक: क्षेत्र प्रबंधकारिणी समिति  सकल जैन समाज टीकमगढ़ संयम स्वर्ण महोत्सव समिति  
 

ललितपुर - आचार्य श्री विद्यासागर पदयात्रा प्रारंभ

2000 लोग सभी राजनेतिक पार्टी के नेता आचार्य श्री विद्यासागर पदयात्रा आज क्षेत्रपाल जैन मंदिर से पपौरा जी के लिए हुई रवाना। आचार्य श्री ज्ञानसागर जी महाराज के संबोधन के बाद जिलाधिकारी श्री मानवेन्द्र सिंह ने झंडी दिखा किया रवाना। आज ललितपुर से पपौरा जी की पद यात्रा प्रारंभ हुयी जिसमे सर्व समाज ने बढ़चढ़ कर हिस्सेदारी ली। प्रमुख गणमान्य लोगों मे श्री गुड्-डू  राजा बुन्देला, पं राम स्वरुप देवलिया, मु.जलील जल्लू चच्चा, अजीज कुरेशी, तिलक यादव, हरदयाल सिंह लोधी, ज्योति सिंह लोधी, कल्पनीत सिंह, दुर्गा प्रसाद कुशवाहा, आदि हजारों जैन एवं जैनेत्तर लोगों के साथ उत्साह पूर्वक प्रारंभ हुयी।     50 bas 150 kar
ललितपुर से पपौरा जी पदयात्रियों की संख्या 2000+  
 

पपौरा जी मे शिलान्यास समारोह 29 को।

जैसा कि आप सभी को विदित ही है, अतिशय क्षेत्र श्री पपौरा जी जिला टीकमगढ़ में पूज्य आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज के आशीर्वाद से सहस्त्रकूट जिनालय एवम प्रतिभा स्थली का निर्माण किया जा रहा है। इस हेतु दिनांक 29 अप्रैल को प्रातः 7 से 9:30 बजे तक शिलान्यास कार्यक्रम बहुत ही उत्साह एवम भक्तिमय रूप में सम्पन्न होगा। प्रतिष्ठाचार्य ब्र श्री सुनील भैया जी इंदौर समस्त मांगलिक क्रियाएं सम्पन्न करेंगे। प्रवन्धकारिणी समिति द्वारा देश भर के साधर्मीजन को शिला रखने एवम  कार्यक्रम में उपस्थित रहने हेतु आमन्त्रित किया जा रहा है।  अतिथियों हेतु आवास, भोजन की व्यवस्था भी की जा रही है। अतः सभी से अनुरोध कि इस विशाल कार्यक्रम में अधिक से अधिक संख्या में साधर्मीजन अतिशय क्षेत्र श्री पपौरा जी पहुचें।
 

आज का अतिशय

आज का अतिशय ग्राम समर्रा जैन मंदिर में 3 महीने से कुएं में पानी नहीं है गुरुदेव के आने से कल थोड़ा सा पानी आया और आज सुबह 3 फुट हो गया और सब चौका में पानी मंदिर के कुआॅ से गया
 

दीक्षा-दिवस कार्यक्रम सुचना

🎉🎉दीक्षा-दिवस🎉🎉 आगम की पर्याय,जीवंत मूलाचार व समयसार,अद्वितीय संत शिरोमणि आचार्य भगवंत श्री 108 विद्यासागर जी महामुनिराज के परम प्रभावक,श्रेष्ठ चर्याधारी,अभीक्ष्ण ज्ञानोपयोगी आज्ञानुवर्ती मुनि श्री योगसागर जी महाराज का 39 वां दीक्षा दिवस नोहटा(दमोह) में मनाया जाएगा।
    पूज्य आचार्य भगवन ने पूज्य योगसागर जी महाराज को 15 अप्रैल 1980, (मोराजी सागर) में मुनि दीक्षा प्रदान की थी।यह वर्ष उनके अविरल साधनामय जीवन का 39 वां दीक्षा वर्ष है।
   अभी मुनि श्री योगसागर जी महाराज ससंघ का विहार पपौरा जी के लिये चल रहा है।
     कल आहारचर्या नोहटा ग्राम में संपन्न होगी।
       मुनि श्री के दीक्षा दिवस पर विशेष कार्यक्रम दोपहर 2:30 से आयोजित होगा।और संघस्थ मुनिराजों के प्रवचन होंगे।
    
     दिन- 15 अप्रैल 2018(रविवार)
कार्यक्रम स्थल- नोहटा (दमोह)
    समय- 2:30 बजे    आप सभी अधिक से अधिक जनसँख्या में पधार कर इस जिनशासन की अभूतपूर्व प्रभावना में सहयोगी बन अपना जीवन धन्य करें।
💎☀💎☀💎☀💎☀💎☀
 

विद्यायतन विद्यापीठ मैं हिंदी माध्यम से होंगी शिक्षा

इसके पूर्व शुक्रवार की शाम दमोह की जैन धर्मशाला से बिहार करते हुए आचार्य भगवन घंटाघर स्टेशन चौराहा तीन गुल्ली होते हुए गांधी आश्रम के समीप सागर नाका पहुचे। जहां आचार्यश्री के सानिध्य में विद्यायतन विद्या पीठ का भूमि पूजन किया गया। इस दौरान नगर के अनेक लोगों ने विद्यापीठ के लिए दान राशि की घोषणा करते हुए इसमें अपने बच्चों को शिक्षा दिलाने का संकल्प लिया।   अवसर पर मौजूद  हजारों की संख्या में श्रद्धालु जनों को अपने अमृत वचनों से सुरक्षित करते हुए तृप्त करते हुए आचार्य भगवन ने कहा कि विधानसभा में प्रवचनों के दौरान भी उन्होंने कहा था कि देश की शिक्षा व्यवस्था राष्ट्रभाषा हिंदी में होना चाहिए। भले ही इसमें अंग्रेजी एक विषय हो। यहां भी जो विद्यापीठ की स्थापना की जा रही है उसमे बच्चों को प्रवेश दिलाएं, ना कि एडमिशन। प्रवचनों की बात के बाद विद्यापीठ का भूमि पूजन शिलान्यास पंडित आशीष अभिषेक शास्त्री के सानिध्य में संपन्न हुआ इसी के साथ आचार्य श्री का यहां से बिहार हो गया।
 

⛳ संत शिरोमणि आचार्य श्री १०८ विद्यासागर जी महाराज ससंघ का  अतिशय क्षेत्र पपौरा जी में  हुआ भव्य मंगल प्रवेश⛳

⛳ संत शिरोमणि आचार्य श्री १०८ विद्यासागर जी महाराज ससंघ का  अतिशय क्षेत्र पपौरा जी में  हुआ भव्य मंगल प्रवेश⛳   mangal pravesh.mp4 पूज्य आचार्यश्री जी विहार अपडेट
          18 अप्रैल, अपरान्ह काल परम पूज्य आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ का बड़ागाँव से हुआ, मंगल विहार.....!! ■ आज रात्रि विश्राम- अमरपुर (5.5 किमी)
■ कल की आहारचर्या- समर्रा ग्राम (अमरपुर से 6 किमी) सम्भावित। ◆÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷◆
 विशेष- 20 अप्रैल को प्रातःकाल 7:30 बजे पूज्य आचार्यसंघ का, अतिशय क्षेत्र श्री पपौरा जी मे भव्य मंगल प्रवेश।
      ■ 17 अप्रैल, मंगलवार। ◆ परम पूज्य आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ की आज प्रातः घुवारा में भव्य अगवानी हुई। अगवानी की वन्दनीय आर्यिकाश्री प्रशन्नमती माताजी एवम आर्यिकाश्री गरिमा मति माताजी ससंघ ने एवम घुवारा तथा वाहर से पधारे सेकड़ो भक्तो ने।
◆ पूज्य आचार्यसंघ की आहार चर्या घुवारा में सम्पन्न हुई।
◆ आज दोपहर बाद पूज्य आचार्यसंघ का मंगल विहार हुआ।
◆ आज का रात्रि विश्राम घुवारा से 8 किमी दूर ग्राम में होगा।
◆ कल की आहार चर्या- बड़ागाँव मे होगी।
      ।। आचार्यश्री की मंगल विहार अपडेट ।।
16 अप्रैल, सोमवार।
अतिशय क्षेत्र श्री पपौरा जी की ओर बढ़ते कदम।

परम पूज्य आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ-
◆ आज रात्रि विश्राम- दलीपुर ग्राम 11 किमी ।
◆ कल की संभावित आहार चर्या- घुवारा। अब एक बड़ा सवाल, सभी के मन मे ? आचार्य भगवन का पपौरा जी मे मंगल प्रवेश कब होगा?
हमे लगता है, 18 अप्रैल को होगा भव्य मंगल प्रवेश।
बाकी गुरुवर के मन की कौन जाने ?
    पूज्य गुरुदेव का हुआ मंगल विहार
■ 15 अप्रैल, रविवार।
परम पूज्य आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ का चल रहा मंगल विहार। कदम बड़े अतिशय क्षेत्र श्री पपौरा जी की ओर।
◆ आज रात्रि विश्राम- ग्राम गढ़ोही।
◆ कल आहार चर्या : हीरापुर।   12 अप्रैल पूज्य गुरुदेव का हुआ मंगल विहार दमोह से

परम पूज्य आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ का दमोह से मंगल विहार आज दोपहर की बेला में हुआ। अब कदम बड़े अतिशय क्षेत्र श्री पपौरा जी की ओर।
◆ आज रात्रि विश्राम- ग्राम उमरी
◆ कल आहार चर्या : नरसिंहगढ़।
【  बड़े दिनों से प्रतीक्षारत दमोह समाज उदास, केवल कुछ घण्टे का ही मिला सानिध्य। सायद पूज्य गुरुदेव को निर्धारित समय पर ही पपौरा जी पहुचने का लक्ष्य। मौसम भी चल रहा अनुकूल】
    12 अप्रैल  हुआ भव्य मंगल प्रवेश दमोह नगरी में।

पूज्य आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ का प्रातःकालीन विहार आज बड़ी लम्बी दूरी का चला। पहले दमोह से 4 किमी दूर आहार चर्या की योजना बनी थी, फिर आज प्रातः योजना में बदलाव कर, सागर नाका दमोह में आहार चर्या की योजना बनी। बाद में पूज्य गुरुदेव के कदम लगातार दमोह सिटी में बढ़ते ही चले गए और नन्हे मन्दिर जी पहुचकर ही कदमो को विराम दिया और इसी मन्दिर से ही आहारचर्या के लिए निकले। ◆ आज पूज्य गुरुदेव को पड़गाहन कर आहारदान का सौभाग्य प्राप्त किया  ब्र. श्री स्वतंत्र भैया दमोह को। उनके पुण्य की अनुमोदना।
    पूज्य गुरुदेव के बढ़ते कदम..!!
11 अप्रैल, बुधवार।

परम पूज्य आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ का मंगल विहार- 
◆ आज का रात्रि विश्राम- लखनपुरा (8 किमी)
◆ कल की आहार चर्या- मरुताल (9 किमी) दमोह यहाँ से मात्र 4 किमी     आज १०/०४/२०१८ को आचार्यश्री ससंघ की आहार चर्या जबेरा में सम्पन्न हुई। 🍂
आज १०/०४/२०१८ आचार्यश्री ससंघ का रात्रि विश्राम कलहरा (जबेरा से ६.५ km) में हो रहा है। 🍂
कल ११/०४/२०१८ को आचार्यश्री ससंघ की आहार चर्या नोहटा में होने की सम्भावना है (कलहरा से ११.५ km)
      *पूज्य गुरुदेव के बढ़ते कदम..!!*
8 अप्रैल, रविवार। *_परम पूज्य आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ का मंगल विहार-_*  ◆ *आज का रात्रि विश्राम-* जमुनिया ग्राम (कटंगी से 7 किमी)
◆ *कल की आहार चर्या-* सिंगरामपुर। (जमुनिया से 8 किमी)
◆ *10 और 11अप्रैल को जवेरा और नोहटा बालों का जागेगा पुण्य। संभावित आहार चर्या।*
    अनियत विहारी गुरुदेब का मंगल विहार
7 अप्रैल, शनिवार। परम पूज्य आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ का मंगल विहार- 
आज 7 अप्रैल को प्रातः लगभग 6 बजे शिवनगर से मंगल विहार हुआ। ◆ आज की आहारचर्या- बेलखाडू ग्राम।
◆ आज दोपहर बाद, मंगल विहार, लगभग 9 किमी पर रात्रि विश्राम।
◆ कल 8 अप्रैल को कटंगी बालों का जागेगा पुण्य। होगी आहार चर्या।
साभार: ब्र श्री सुनील भैया, इन्दोर।
    ।। आचार्यश्री जी का मंगल विहार अपडेट।।
 5 अप्रैल, गुरुवार

पूज्य आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ का मंगल विहार चल रहा, जबलपुर की ओर। ◆ आज रात्रि विश्राम- पिपरिया-उमरिया गांव
◆ कल की आहार चर्या- रांझी (जबलपुर)
◆ यदि विहार हुआ तो कल का संभावित रात्रि विश्राम- शिवनगर जबलपुर।

    2 अप्रैल, सोमवार, संध्याकाल

परम पूज्य आचार्यश्री विद्यासागर जी महामुनिराज ससंघ का मंगल विहार, आज शहपुरा(डिण्डोरी) से हुआ। ◆ आज रात्रि विश्राम- खुरइया ग्राम।
◆ कल की आहारचर्या- देवरी में संभावित।
◆ आगामी संभावित दिशा-
कुण्डम (24 किमी), रांझी होकर जबलपुर (कुंडम से 45 किमी)
    परम पूज्य आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ का होने जा रहा मंगल विहार, डिण्डोरी से जबलपुर मार्ग पर।
● आज का रात्रि विश्राम- नवोदय विद्यालय (9 किमी)
साभार सूचना- ब्र.श्री सुनील भैया जी, इन्दोर
 
 

मुनि श्री विद्यासागरजी महाराज ने आचार्य श्री 108 विद्यासागर जी के दर्शन की इतनी तीव्र उत्कंठा थी कि उन्होंने मंडला से डिंडोरी तक का 105 km का विहार 2 दिन में तय कर लिया।

मुनि श्री विद्यासागरजी महाराज (शिष्य समाधिस्थ आचार्य श्री सन्मति सागर जी) के मन में  आचार्य श्री 108 विद्यासागर जी महामुनिराज के दर्शन की इतनी तीव्र उत्कंठा थी कि उन्होंने मंडला से डिंडोरी तक का 105 km का विहार 2 दिन में तय कर लिया।  
 

आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ का भव्य मंगल प्रवेश आज, डिंडोरी मप्र में अत्यंत भक्ति और उत्साहमय वातावरण में हुआ।

12 मार्च 2018 परम पूज्य गुरुदेव, आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ का भव्य मंगल प्रवेश आज, डिंडोरी मप्र में अत्यंत भक्ति और उत्साहमय वातावरण में हुआ। अब डिंडोरी में हर दिन होली, हर रात दीवाली सी खुशियां।
    विहार अपडेट 8 मार्च 2018 Ⓜ    👣👣👣👣    Ⓜ
सागर- संतशिरोमणि आचार्य श्री विद्यासागर महाराज का ससंघ मंगल विहार प्रसिद्ध सर्वोदय जैन तीर्थक्षेत्र अमरकंटक से डिंडोरी की ओर 2 बजे हो गया। अमरकंटक से डिंडोरी की दूरी 84 किलोमीटर है। कबीर चौराहा,करंजिया, रूसा,  गोरखपुर,  सागर टोला, हो करके डिंडोरी पहुंचा जा सकता है जबलपुर से डिंडोरी की दूरी 145 किलोमीटर है जबलपुर से कुंडम शहपुरा होकर के डिंडोरी जाया जा सकता है डिंडोरी में पंचकल्याणक गजरथ महोत्सव का आयोजन 23 मार्च से 29 मार्च महावीर जयंती तक होगा पंचकल्याणक के प्रतिष्ठाचार्य बाल ब्रहमचारी विनय भैया बंडा होंगे
Ⓜ मुकेश जैन ढाना Ⓜ
एमड़ी न्यूज़ सागर     मंगल विहार संभावित परम पूज्य आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ का मंगल विहार आज दोपहर लगभग 2 बजे हो सकता है, डिंडोरी की ओर। आगामी दिनों में डिंडोरी में होंगे पंचकल्याणक महोत्सव।

 
 

सिख समाज के संत ने किये गुरूदेव के दर्शन

आज शाम को पंजाब से आए सिख समाज के बहुत बड़े संत ने गुरूदेव के नवदा भक्ति से दर्शन किये और उनके साथ काफी संख्या में लोगबाग आये जिन्होंने माथा टेक कर पुण्य लाभ लिया|  
 

।। आज पूज्य आचार्य श्री के केश लौंच।।

।। आज पूज्य आचार्य श्री के केश लौंच।।
7 मार्च, बुधवार

परम पूज्य आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज जी आज सर्वोदय तीर्थ अमरकंटक में केश लौंच कर रहे है (उत्कृष्ट अवधि) । साथ ही संघस्थ 7 मुनि महाराज जी का भी आज केशलोंच है।
नमोस्तु भगवन, नमोस्तु। सूचना साभार: ब्र. श्री सुनील भैया जी, इन्दोर।

 
 

आज अमरकंटक  में आचार्यसंघ का हुआ मंगल प्रवेश

आज अमरकंटक में आचार्यसंघ का हुआ मंगल प्रवेश   ---------------------- आज 2 मार्च को दोपहर 3:30 बजे अमरकंटक में आचार्यसंघ का संभावित मंगल प्रवेश बिहार अपडेट 2 मार्च 2018  
संतशिरोमणि आचार्य श्री विद्यासागर महाराज का ससंघ मंगल बिहार बिलासपुर से प्रसिद्ध सर्वोदय जैन तीर्थक्षेत्र अमरकंटक  की ओर चल रहा है। आज 2 मार्च को दोपहर 3:30 बजे अमरकंटक  में आचार्यसंघ का मंगल प्रवेश होगा। 2 मार्च को सर्वार्थसिद्धि योग और एकम तिथि है आचार्य संघ का कुछ दिनों का प्रवास इस तीर्थ क्षेत्र पर होने की प्रबल संभावना है ।  पूरे देश भर से लोग होली से रंग पंचमी के बीच में आचार्य संघ के दर्शन करने के लिए पहुंचते हैं अमरकंटक में आज हजारों लोग उपस्थित हैं आचार्य श्री की आहार चर्या अमरकंटक से 6 किलोमीटर पहले कबीर चौराहे पर हुई।             
 

सर्वोदय तीर्थ अमरकंटक में सहस्त्रकूट जिनालय का शिलान्यास समारोह 4 मार्च रविवार को।

शिलान्यास शिलान्यास* 
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏
 प.पु.संत शिरोमणि आचार्य भगवन श्री विद्यासागर जी महामुनिराज के ससंघ सान्निध्य में आज 1 बजे से सर्वोदय तीर्थक्षेत्र अमरकंटक में सहस्त्रकूट जिनालय में 1008 वेदियों का शिलान्यास होने जा रहा है
विश्व के इतिहास में पहली बार इतनी वेदियों का शिलान्यास पहली बार हो रहा है 
    आचार्य श्री के सान्निध्य में औऱ प्रतिष्ठाचार्य बा ब्र.सुनील भैया अनंतपुरा (इंदौर) के निर्देशन में
  पारस चेनल एवं जिनवाणी चेनल पर लाइव दिखाया जावेगा
     आप अवश्य देखे ---------------------------------------------------------------------------   *सर्वोदय तीर्थ अमरकंटक में सहस्त्रकूट जिनालय का शिलान्यास समारोह 4 मार्च रविवार को।*


परम पूज्य आचार्य भगवन श्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ के पावन चरण, सर्वोदय तीर्थ अमरकंटक की ओर बढ़ रहे हैं। संभावना है कि कल 2 मार्च को दोपहर पश्चात या 3 मार्च को प्रातःकालीन बेला में मंगल प्रवेश हो जावेगा। 20-22 वर्ष पूर्व पूज्य आचार्यश्री जी की प्रेरणा से इस तीर्थ का निर्माण शुरू हुआ था जो अब पूर्णता की ओर है। यदि गुरुदेब का आशीर्वाद मिला तो आगामी माह में पंचकल्याणक महोत्सव का आयोजन भी हो सकता है। 4 मार्च को पूज्य आचार्यसंघ के पावन सानिध्य में एक विशाल सहस्त्रकूट जिनालय निर्माण की आधार शिला रखी जायेगी। प्रबंध समिति ने इस आयोजन की घोषणा भी कर दी है।

 
 

आज होगा बिलासपुर में मंगल प्रवेश

22 फरवरी, गुरुवार - परम पूज्य आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ का भव्य मंगल प्रवेश आज दोपहर बाद, सन्मति विहार, बिलासपुर में होने जा रहा है। बिलासपुर में आयोजित बेदी प्रतिष्ठा महोत्सव में पूज्य आचार्यसंघ का परम सानिध्य मिलेगा। आयोजन के प्रतिष्ठाचार्य होंगे ब्र. श्री सुनील भैया जी। चर्चा है कि बेदी प्रतिष्ठा उपरांत आचार्यश्री जी अमरकंटक तीर्थ की ओर मंगल विहार करेंगे एवम 3 मार्च को अमरकंटक में प्रवेश संभावित है।
 

आचार्य श्री १०८ विद्यासागर सागर जी महाराज का अभी अभी रायपुर से बिलासपुर के लिए हुए विहार

18 फ़रवरी २०१८  परम पूज्य आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ का मंगल विहार दोपहर लगभग 2:45 बजे हुआ।
पूज्य आचार्य श्री जी का स्वास्थ्य कुछ नरम-गरम चल रहा है, इसके बाबजूद भी चर्या यथावत चल रही है। यही कारण है कि आज भी विहार कर रहे है।
● आज का रात्रि विश्राम- नेवधा में संभावित। निकटतम मुख्य स्थान-
● भाटापारा - 33 किमी, कल दोपहर पश्चात मंगल प्रवेश संभावित।
● बिलासपुर- लगभग 70-75 किमी।     परम् पूज्य आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ का मंगल विहार आज दोपहर में थोड़ी देर पहले ही रायपुर से बिलासपुर की ओर हुआ। आज का रात्रि विश्राम- नरहट (7.5 किमी) ज्ञान गंगा स्कुल मे सम्भावित |        
 

श्री मज्जिनेन्द्र वेदी प्रतिष्टा, जिन्बिम्ब स्थापना, कलशारोहण एवं विश्वशांति महायज्ञ - बिलासपुर छतीसगढ़ - 20,21,22 - फरवरी - 2018

श्री मज्जिनेन्द्र वेदी प्रतिष्ठा, जिनबिम्ब स्थापना, कलशारोहण एवं विश्वशांति महायज्ञ स्थान - श्री 1008 श्री महावीर दिगम्बर जैन मंदिर, सन्मति विहार, मंगला, बिलासपुर (छ.ग.) दिनांक - 20, 21, 22 फरवरी 2018 तक मूल नायक - श्री 1008 महावीर भगवान नवीन जिनालय - श्री 1008 महावीर जिनालय पावन सानिध्य - संत शिरोमणि 108 आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज     धर्मानुरागी, महानुभाव ... जय जिनेन्द्र!, अत्यंत हर्ष के साथ सभी भक्तजीवों को सूचित किया जाता है कि बिलासपुर नगर स्थित सभी भव्य आत्माओं के सातिशय पुण्यउदय से संतशिरोमणि आचार्य भगवन 108 श्री विद्यासागर जी महामुनीराज के 50वे संयम स्वर्ण महोत्सव के पावन अवसर पर वेदीप्रतिष्ठा का महामहोत्सव का मांगलिक कार्यक्रम प्रतिष्ठाचार्य बालब्रम्हचारी सुनील भैया (अनंतपुरा) के मार्गदर्शन में संपन्न होने जा रहा है इस प्रतिष्ठाचार्य महामांगलिक कार्यक्रम में आप सपरिवार सम्मिलित होकर सातिशय, पुण्यार्जन करें ।
 

रायपुर पंचकल्याणक महोसत्व के सानन्द समापन पर "विशिष्ट भक्तो" ने खेली होली

संयम स्वर्ण जयंती वर्ष में परमपूज्य आचार्यश्री ससंघ के सानिध्य में छतीसगढ़ के तृतीय पंचकल्याणक  रायपुर में सानन्द सम्पन्न हुए अभी कुछ ही मिनट हुए थे लेकिन आचार्यश्री के इन विशिष्ट भक्तों  ने दो तीन पहले तैयारी कर रखी थी वह  भला हो जो सूरजदादा के रौद्र रूप को देख चुप हो जाते थे।
आज ज्योहीं वृषभ रथ पर भगवान आदिनाथ की फेरी का समापन हुआ श्रीजी पांडाल में पहुचे थे वैसे ही इंद्रदेव हर्षित होकर तांडव नृत्य जिसे हम आम बोलचाल में भांगड़ा कहते है के लिए एक पैर पर खड़े थे पवनदेव अपने संग काली, कजरारी, अल्हड़, बदलियों की टोली को संग ले आये इन सबकी योजना देख आज सूरजदादा समझ गये थे कि होसकता है आचार्यश्री मंच पर नही आ रहे है सो इनको मेरी तो मानना ही नही है अपन यहा से हट चलो। इनकी संगत में अपन क्यो बदनाम हो।
परमपूज्य मुनिश्री निर्लोभसागरजी, पूज्य सम्भवसागर जी महाराज के प्रवचन के बाद ज्येष्ठ श्रेष्ठ मुनिराज  योगसागरजी महाराज ने  संक्षिप्त लेकिन सारगर्भित उपदेश दिए जैसे ही समस्त मुनिराज पांडाल से सन्त भवन की ओर बढ़ रहे थे वैसे ही पवनदेव के संग मूकमाटी की वंशज धूल  भी  इठलाती संग हो ली इन इन्द्र परिवार के टोले में पेड़ो वृक्षो ने भी खूब झूम झूम कर  नृत्य किया कई अल्हड़ वृक्षो के बेढंगे नृत्य ने बड़े बुजुर्ग पेड़ो को या तो उन्हें घायल कर दिया या धराशाई कर दिया ।
हम सभी श्रावक परिवार  इनके हुड़दंग मन मसोस कर देख रहे थे कब ये शांत हो और कब हम सन्ध्या भोजन कर अपने नगरो की ओर प्रस्थान करें।
कुछ भी कहे आचार्यश्री के ये विशिष्ट भक्त भी बहुत शरारती बच्चों जैसे है जब सन्ध्या गुरुभक्ति के समय आचार्यश्री अस्थाई जिनालय में आये उस समय ऐसा बिल्कुल नही लग रहा था कि यहां इन भक्तो ने आनन्द मनाया होगा।
हम श्रावकगण भी खैर मनाते आश्वस्त रहे कि इन भक्तो की होली मात्र एक से डेढ़ घण्टे ही रही वरना बेमौसम रंगोत्सव से भीगते और सन्ध्या भोजन से  भी चूक जाते लेकिन यह हम सभी के मन का भ्रम था कुछ भी कहे आचार्यश्री के ये  विशिष्ट भक्त सब कर सकते है लेकिन गुरुभक्तों को परेशानी कष्ट हो ऐसा वे सोच भी नही सकते रायपुर पंचकल्याणक महोसत्व के समापन पर इस रंगोत्सव की  आंखों देखी की झलक के साथ 
-राजेश जैन भिलाई
 
×