Jump to content
मै इस साईट पर उपलब्ध शास्र ग्रन्थ लेख का बड़ी रुचिपूर्वक स्वाध्याय करता हू मन आनंद से भर जाता है इस समूह के भाई सौरभजी की सक्रियता से लाखों गुरुभक्तो को यहाँ वः सब कुछ मिल जाता है जो बाहर कही सुलभ नही है इसे इसी तरह उचाईया प्रदान करते रहें आपके इस जटिल परिश्रम शील कार्य की अनुमोदना
राजेश जैन भिलाई
Submitted 04-07-2018 by राजेश जैन भिलाई in आपकी समीक्षा
×
×
  • Create New...