Jump to content

सागर समाचार

Members
  • Content Count

    48
  • Joined

  • Last visited

My Favorite Songs

Community Reputation

0 Neutral

About सागर समाचार

  • Rank
    Advanced Member

Recent Profile Visitors

The recent visitors block is disabled and is not being shown to other users.

  1. *🌈 अद्भुतपंचकल्याणक महोत्सव पात्र चयन 🌈* _२८ जनवरी २०१९, सोमवार_ 🤴🤴🤴🤴🤴🤴🤴🤴 _⛳ माता-पिता_ *श्रीमान खुशाल चंद जी - नीता जैन सी ए तीर्थ क्षेत्र कमेटी राष्ट्रीय महामंत्री (बरोदिया वाले) मुंबई निवासी सौधर्मइंद्र अनिल कुमार जैन चौधरी (बांदरी वाले) 🌈🌈🌈🌈🌈🌈🌈🌈 *🙏 मंगल आशीर्वाद* _श्रमणकुलतिलक चारित्र चूडामणि चर्या चक्रवर्ती पूज्यपाद दिगंबराचार्य *श्री विद्यासागर जी महाराज *🙏 मंगल सानिध्य* _सौम्यमूर्ति महातपस्वी *पूज्य मुनिश्री विमलसागर जी मुनि श्री अनंत सागर जी मुनि श्री धर्मसागर जी मुनि श्री अचल सागर जी मुनि श्री भाव सागर जी महाराज ससंघ*_ _🙏 प्रतिष्ठाचार्य जी_ *प्रतिष्ठा सम्राट प्रतिष्ठा रत्न आदरणीय* *बाल ब्रह्मचारी विनय भैया जी बंडा* _🙏 निवेदक & आयोजक 🙏_ *सकल दिगंबर जैन समाज बरोदिया कलां* *तह- मालथौन जिला- सागर (म.प्र.)* *विशेष* कार्यक्रम का प्रसारण जिनवाणी चैनल पर होगा *आगामी कार्यक्रम* 29 जनवरी दोपहर 1:00 बजे घटयात्रा 30 जनवरी प्रातः 8:00 बजे ध्वजारोहण मंडप शुद्धि गर्भ कल्याणक पूर्व रूप प्रेषक :-नीरज वैद्यराज पत्रकार 07582888100 संयम जैन बरोदिया कला 9171909419
  2. *🌈 अद्भुतपंचकल्याणक महोत्सव पात्र चयन 🌈* _२८ जनवरी २०१९, सोमवार_ 🤴🤴🤴🤴🤴🤴🤴🤴 _⛳ माता-पिता_ *श्रीमान खुशाल चंद जी - नीता जैन सी ए तीर्थ क्षेत्र कमेटी राष्ट्रीय महामंत्री (बरोदिया वाले) मुंबई निवासी सौधर्मइंद्र अनिल कुमार जैन चौधरी (बांदरी वाले) 🌈🌈🌈🌈🌈🌈🌈🌈 *🙏 मंगल आशीर्वाद* _श्रमणकुलतिलक चारित्र चूडामणि चर्या चक्रवर्ती पूज्यपाद दिगंबराचार्य *श्री विद्यासागर जी महाराज *🙏 मंगल सानिध्य* _सौम्यमूर्ति महातपस्वी *पूज्य मुनिश्री विमलसागर जी मुनि श्री अनंत सागर जी मुनि श्री धर्मसागर जी मुनि श्री अचल सागर जी मुनि श्री भाव सागर जी महाराज ससंघ*_ _🙏 प्रतिष्ठाचार्य जी_ *प्रतिष्ठा सम्राट प्रतिष्ठा रत्न आदरणीय* *बाल ब्रह्मचारी विनय भैया जी बंडा* _🙏 निवेदक & आयोजक 🙏_ *सकल दिगंबर जैन समाज बरोदिया कलां* *तह- मालथौन जिला- सागर (म.प्र.)* *विशेष* कार्यक्रम का प्रसारण जिनवाणी चैनल पर होगा *आगामी कार्यक्रम* 29 जनवरी दोपहर 1:00 बजे घटयात्रा 30 जनवरी प्रातः 8:00 बजे ध्वजारोहण मंडप शुद्धि गर्भ कल्याणक पूर्व रूप प्रेषक :-नीरज वैद्यराज पत्रकार 07582888100 संयम जैन बरोदिया कला 9171909419
  3. _*🦋*_ _*🎊*महादान की बधाई हो *🎊बधाई हो🎊*_ _*☀*आचार्य श्री विद्यासागर जी मुनिराज*☀* के आहारदान के *उपलक्ष्य* में_ _*💁🏻‍♂श्री प्रेमचन्द जी,सौरभ जी, गौरव जी,नीरज जी,दिव्यांश,शुभांकर(उपकार परिवार)* ने आज *एशिया का सबसे बड़ा बनने वाला भाग्योदय में🚩 सहस्त्रकूट जिनालय🚩* के *नींव से लेकर शिखर तक* बनवाने की घोषणा की हैं..जी हां जिसकी अनुमानित *लागत 1100 कलश (11 महाकलश )* से अधिक बताई जा रही हैं..!!_ _*😄गुरु के प्रति अद्दभुत समर्पण..!!😄*_ _◆ श्री प्रेमचन्द जी एंव धर्मपत्नी दोनों लोग 2 प्रतिमाधारी हैं..!!_ _◆आपका परिवार पुज्य मुनिश्री प्रमाणसागर जी के अनन्य भक्त हैं_ _◆श्री प्रेमचन्द जी गुणायतन संस्थापक सदस्य, ट्रस्टी,कार्यकारणी उपाध्यक्ष हैं.!!_ _◆आपके परिवार की तरफ से गुणायतन में 4 मूल वेदियों में से 1 वेदी आपके परिवार की तरफ से बनवाने की घोषणा हैं_ _◆आप भाग्योदय के ट्रस्टी एंव सहस्त्रकूट की 12 मूल प्रतिमाओं में 1 प्रतिमा आपके परिवार की ऒर से प्रदान की गयी हैं..!!_ *■आपकी शुरू से एक जिनालय बनवाने की भावना थी पर आहारचर्या उपरान्त गुरु की मुस्कान औऱ आर्शीवाद पाकर श्री प्रेमचन्द जी ने अपने भाव प्रकट किए■* _★तुममे कोई सम्मोहन हैं , हैं या कोई जादू टोना.....ऐसे निर्ग्रन्थ,निर्मोही, *बुन्देलखण्ड के तीर्थंकर सम देवता* के चरणों में बारम्बार- नमोस्तु,नमोस्तु,नमोस्तु...🙏🏻_ _*प्रेम चंद्र जी संध्या सौरभ भाई एवं इस महादानी परिवार के महादान की अनुमोदना*_ *नीरज वैद्यराज पत्रकार* 07582888100
  4. *🌈 बरोदिया पंचकल्याणक पात्र चयन 🌈* _२८ जनवरी २०१९, सोमवार_ 🤴🤴🤴🤴🤴🤴🤴🤴 _⛳ माता-पिता_ *श्रीमान खुशाल चंद जी - नीता जैन मुंबई* (बरोदिया वाले) 🌈🌈🌈🌈🌈🌈🌈🌈 *🙏 मंगल आशीर्वाद* _श्रमणकुलतिलक चारित्र चूडामणि चर्या चक्रवर्ती पूज्यपाद दिगंबराचार्य *श्री विद्यासागराचार्य ऋषिराज*_ *🙏 मंगल सानिध्य* _सौम्यमूर्ति महातपस्वी *पूज्य मुनिश्री विमलसागर जी महाराज ससंघ*_ _🙏 प्रतिष्ठाचार्य जी_ *प्रतिष्ठा सम्राट प्रतिष्ठा रत्न आदरणीय* *बाल ब्रह्मचारी विनय भैया जी बंडा* _🙏 निवेदक & आयोजक 🙏_ *सकल दिगंबर जैन समाज बरोदिया कलां* *तह- मालथौन जिला- सागर (म.प्र.)* _🙏🙏 प्रेषक 🙏🙏_ * नीरज वैद्यराज पत्रकार 07582888100
  5. 🏳‍🌈 *मंगल विहार*🏳‍🌈 *संत शिरोमणि आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के परम शिष्य मुनि श्री विमल सागर जी महाराज संसंघ का मंगल विहार पंचकल्याणक महोत्सव के बाद बांदरी से हुआ* विहार दिशा -बरोदिया जिला सागर *🌈आगामी ऐतिहासिक पंचकल्याणक 🌈* *बरोदिया* *30जनवरी से 4 फरवरी* *🙏 मंगल आशीर्वाद🙏* _श्रमणकुलतिलक चारित्र चूडामणि_ चर्या चक्रवर्ती पूज्यपाद _दिगंबराचार्य_ *श्री विद्यासागराचार्य ऋषिराज* *🙏 मंगल सानिध्य 🙏* _आचार्य भगवान के परम प्रभावक ज्येष्ठ शिष्य सौम्यमूर्ति महातस्वी *_नगर गौरव पूज्य मुनिश्री विमलसागर जी महाराज_* _पूज्य मुनिश्री अनंतसागर जी महाराज_ _पूज्य मुनिश्री धर्मसागर जी महाराज_ पूज्य मुनिश्री अचलसागर जी महाराज _पूज्य मुनिश्री भावसागर जी महाराज_ 🏳‍🌈🏳‍🌈🏳‍🌈🏳‍🌈🏳‍🌈🏳‍🌈🏳‍🌈🏳‍🌈 _आर्यिका माँ अनंतमति माताजी ससंघ (19)_ _आर्यिका माँ भावनामति माताजी ससंघ (3) प्रतिष्ठाचार्य जी_ आदरणीय बा.ब्र. विनय भैया✍🏻✍🏻 *नीरज वैद्यराज पत्रकार*07582888100
  6. बांदरी जिला सागर 26-01-2019 *पंचकल्याणक गजरथ फेरी सानंद संपन्न हुई*- मुनि श्री *बांदरी जिला सागर मध्यप्रदेश* में *सर्वश्रेष्ठ *साधक आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज**के *शिष्य मुनि श्री विमल सागर जी मुनि श्री अनंत सागर जी मुनि धर्मसागर जी मुनि श्री अचल सागर जी मुनि श्री भाव सागर जी ससंघ* एवं* आर्यिका श्री अनंत मति माताजी ससंघ एवं आर्यिका श्री भावना मति माता जी आदि 22 आर्यिकाओं के सानिध्य मे एवं प्रतिष्ठाचार्य बाल ब्रह्मचारी विनय भैया बंडा के निर्देशन में चल रहे श्री पारसनाथ दिगंबर जैन मंदिर बांदरी के पंच कल्याणक महोत्सव में पुलिस थाना ग्राउंड में पंच कल्याणक स्थल पर आचार्य श्री जी की पूजन आर्यिकाश्री अंनत मति माताजी आर्यिका श्री शुक्ल मति माताजी जी ने पढ़ी एवं पूजन करवाई।और पूजन की द्रव्य अनेक जगह के श्रद्धालुओं के द्वारा लाई गई।प्रातःकाल मोक्ष कल्याणक संपन्न हुआ।श्री आदिनाथ भगवान को मोक्ष की प्राप्ति हुई और निर्वाण कल्याणक मनाया गया। मंदिर जी में मूलनायक पारसनाथ भगवान का भी मोक्ष कल्याणक संपन्न हुआ।मुनि संघ के द्वारा क्रियाऐ संपन्न करवाई गयी।इस अवसर पर मुनि श्री विमल सागर जी महाराज ने कहा कि भगवान को स्वतंत्रता की प्राप्ति हो गई है। आज गणतंत्र दिवस है दोपहर में गजरथ फेरी हुई ,जिसमें आगे हाथी फिर मुनि संघ एवं आर्यिका संघ ब्रह्मचारी भैया ,ब्रह्मचारिणी दीदी ,तीन रथ पर श्री जी, ऐरावत हाथी ,अनेक रथ ,आचार्य श्री विद्यासागर दिव्य घोष गौरझामर , टीकमगढ़ घोष ,बंडा एवं खुरई का ध्वनि विस्तारक यंत्र, और इंद्र इंद्राणी चल रहे थे।और अष्ट कुमारी भी रथ पर सवार थी। इस कार्यक्रम में लगभग बीस हजार से ज्यादा की जनता अनेक गांवों एवं शहरों से आई थी। मुनि श्री विमल सागर जी महाराज ने कहा कि गुरु की महिमा को बता नहीं सकते। गजरथ की फेरी में हमारे आगे गुरुदेव चल रहे थे भावनात्मक रूप से।श्रद्धा के माध्यम से बड़े-बड़े कार्य हो जाते हैं।जब तक गजरथ महोत्सव में फेरी नहीं होती है , तो अधूरा लगता है। जब तक गुरुदेव धरती पर विचरण करते रहेंगे।जिनालय में वृद्धि होती रहेगी।आचार्य श्री जगह-जगह चित्रकूट जिनालय के लिए आशीर्वाद प्रेरणा सानिध्य दे रहे हैं। सांसारिक कार्य में लाखों करोड़ों खर्च कर देते हैं ।संसार के सारे फेरों को बंद करके सप्त परम् स्थान को प्राप्त कराता है, गजरथ महोत्सव। ऐसे कार्यकर्ताओं को विशेष आशीर्वाद जो दूर रहकर कार्य करते रहे। हम सभी को आचार्य श्री के दर्शन अति शीघ्र हो ऐसी हमारी भावनाएं है। आर्यिका श्री अनंत मति माताजी ने कहा कि मुनि श्री की साधना और तप के प्रभाव से गजरथ महोत्सव निर्विघ्न संपन्न हुआ जैसे ही प्रभु बाहर निकले सुनहरी धूप निकली जबकि मौसम बहुत गड़बड़ था। गुरुजी की छाया ही यहां मौजूद थी। गुरु की भक्ति और आशीष का चमत्कार है ,जो यह कार्य अच्छे से संपन्न हो गया। पंच ऋषिराजो के सानिध्य में यह जो पंचकल्याणक हुआ हमें लाभ मिला।हमें गुरुदेव के दर्शन अति शीघ्र मिले। पूज्य मुनि श्री की जन्मस्थली बरोदिया में पंच कल्याणक होना है। मुनि श्री का वात्सल्य हमेशा बना रहे पंचकल्याणक के महापात्र भगवान के माता -पिता ऋषभ गोयल (बांदरी) सागर और सौधर्म इंद्र सुदीप गोयल ,कुबेर अशोक कुमार दीप कमल मेडिकल आदि पात्रों का सम्मान किया गया । रात्रि में आरती और सांस्कृतिक कार्यक्रम हुए।कार्यक्रम में बिभिन्न नगरों से लोग शामिल हुये। प्रेषक :- नीरज वैद्यराज पत्रकार 07582888100
  7. बांदरी जिला सागर 24-01-2019 *भारत की व्यवस्था अच्छी बने - मुनि श्री* बांदरी जिला सागर मध्यप्रदेश में सर्वश्रेष्ठ साधक आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के शिष्य मुनि श्री विमल सागर जी मुनि श्री अनंत सागर जी मुनि धर्मसागर जी मुनि श्री अचल सागर जी मुनि श्री भाव सागर जी ससंघ एवं आर्यिका श्री अनंत मति माताजी ससंघ एवं आर्यिका श्री भावना मति माता जी आदि 22 आर्यिकाओं के सानिध्य मे एबं प्रतिष्टाचार्य बाल ब्रह्मचारी विनय भैया बंडा के निर्देशन में चल रहे *श्री पारसनाथ दिगंबर जैन मंदिर बांदरी* के पंच कल्याणक महोत्सव में पुलिस थाना ग्राउंड में पंच कल्याणक स्थल पर आचार्य श्री जी की पूजन मुनि श्री भाव सागर जी ने करवाई यह पूजन आर्यिका श्री गुण मति माता जी द्वारा रचित है। और पूजन की द्रव्य चन्द्रप्रभु जिनालय एवं पंच परमेष्ठी ग्रुप बंडा के द्वारा लाई गई । धर्मसभा को संबोधित करते हुए मुनि श्री विमल सागर जी महाराज ने कहा कि भाग्य का अतिशय आप देख रहे हैं। कल्याणक मनाने के लिए सभी एकत्रित हो जाते हैं ना महापुरुष होते हैं वह महान पुरुषार्थ करने वाले होते हैं। तीर्थंकरों के पूर्व अवस्था में अर्थ पुरुषार्थ सिखलाया। विवाह इसलिए किया जाता है कि जिससे धर्म का प्रवाह चलता रहे। वासना की पूर्ति के लिए विवाह नहीं होता है। असि, मसि, कृषि, विद्या, वाणिज्य और शिल्प का उपदेश दिया। भाग्य के भरोसे नहीं बैठे पुरुषार्थ करें। राजाओं को रक्षा करने के लिए कहा जिससे भारत की व्यवस्था अच्छी बनी रहे। आज वर्षो हो जाते है न्याय नहीं मिलता है। एक गाय की कहानी के माध्यम से मुनि श्री ने बताया कि न्याय किस प्रकार किया राजा ने। अपराध को छुपाना भी बड़ा अपराध है। भारतीय संस्कृति कहती है कि विश्व एक परिवार है। आचार्य श्री ने सात सूत्र दिए हैं स्वस्थ बचन, स्वस्थ तन, स्वस्थ मन, स्वस्थ वन, स्वस्थ वतन, आदि वास्तविक शिक्षा वही मानी जाती है जिसमें कुछ अच्छा हो। पहले के लोग बीजो को जगह-जगह डालकर वृक्षों को उगाते थे। धन स्वस्थ नहीं होगा। तो मन भी स्वस्थ नहीं होगा किसान की भाव हिंसा बहुत कम होती है वह बहुत संतोषी होता है। खेती-बाड़ी है मर्यादा शिक्षा साड़ी है। उस गृहस्थ को लौकिक सुख है जिसके घर में खेती है जिसके घर मे साग फलों का बगीचा है जिनके यहां गायों का समूह है जिनके घर में मीठे जल का कुआं है पहले कुए का पानी और संतों की वाणी चलती थी। हमारा भारत सोने की चिड़िया कहलाता था आज भारत के लोग पिछलग्गू बन रहे हैं *इंडिया हटाओ भारत लाओ* यह गुरुदेव का कहना है। हथकरघा के वस्त्रों में अहिंसा का प्रयोग होता है और आप के वस्त्रों में *मटनटेलो* नामक चर्बी का प्रयोग होता है। इसलिए *चल चरखा जांचा परखा हथकरघा* आप अशुद्ध खाओगे तो साधुओं को कैसे शुद्ध भोजन खिलाओगे जब मूलाचार का पालन नहीं होगा तो समयसार का पालन कैसे होगा। बफर सिस्टम नहीं होना चाहिए। मुनिराज के जब तक पैरों में दम रहता है तब तक खड़े होकर ही आहार करते है महिला संगीत में जो विकृतिया आ गई है। दोपहर में मुनि श्री के द्वारा प्रतिमाओं पर दीक्षा के संस्कार किये और भगवान को नवीन पिच्छिका आर्यिका श्री ऋजुमति माता जी ने भिजबाई एवं आर्यिका श्री अनंत मति माता जी ससंघ एवं आर्यिका श्री भावना मति माता जी ससंघ ने प्रदान की। कमंडल भगवान के माता पिता श्री ऋसभ जैन बांदरी और सभी ब्रम्हचारी भैया एवं ब्रम्हचारिणी दीदियों ने प्रदान किया। मुनि श्री विमल सागर जी ने दीक्षा की महिमा बताई। प्रतिदिन रात्रि में आरती और सांस्कृतिक कार्यक्रम हो रहे हैं।कार्यक्रम में बिभिन्न नगरों से लोग शामिल हुये। 25 जनवरी शुक्रवार को प्रात 7 बजे अभिषेक, पूजन, विधान की क्रिया सम्पन्न होगी। दोपहर 1 बजे मंत्र आराधना मुनि संघ के द्वारा मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा की क्रियाएं होगी। शाम 4 बजे केवल ज्ञान एवं समवशरण में मुनि श्री की दिव्य वाणी से उद्बोधन केवल ज्ञान पूजा रात्रि में आरती 7 बजे, 8 बजे से शास्त्र प्रवचन सांस्कृतिक कार्यक्रम 9 बजे से होंगे। 26 जनवरी शनिवार को मोक्ष कल्याणक के दिन प्रातः 7 बजे से मोक्ष गमन मुनि श्री के प्रवचन दोपहर 1 बजे विशाल गजरथ परिक्रमा एवं मेला होगा। 108 गांव एवं भारत के विभिन्न नगरो से श्रद्धालु आएंगे। बरोदिया में भी 30 जनवरी से 4 फरवरी 2019 तक पंचकल्याणक महोत्सव मुनि श्री विमल सागर जी ससंघ के सानिध्य में होगा पात्र चयन 28 जनवरी को होने की संभावना है मुनि श्री के बरोदिया में 27 जनवरी को पहुंचने की संभावना है 30 जनवरी 2019 बुधवार को घटयात्रा, ध्वजारोहण, गर्भ कल्याणक, पूर्व रूप 31 जनवरी गुरुवार को गर्भ कल्याणक(उत्तर रूप), 1 फरवरी शुक्रवार को जन्म कल्याणक, 2 फरवरी शनिवार को तप कल्याणक, 3 फरवरी रविवार को ज्ञान कल्याणक, 4 फरवरी सोमवार को मोक्ष कल्याणक एवं विशाल गजरथ फेरी एवं मेला होगा इस कार्य में पूरे देश के लोग आएंगे। नीरज वैद्यराज पत्रकार 07582888100
  8. बांदरी जिला सागर 25-01-2019 *ज्ञान कल्याणक* *करोड़ो में एक दाता होता है - मुनि श्री* बांदरी जिला सागर मध्यप्रदेश में सर्वश्रेष्ठ साधक आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के शिष्य मुनि श्री विमल सागर जी मुनि श्री अनंत सागर जी मुनि धर्मसागर जी मुनि श्री अचल सागर जी मुनि श्री भाव सागर जी ससंघ एवं आर्यिका श्री अनंत मति माताजी ससंघ एवं आर्यिका श्री भावना मति माता जी आदि 22 आर्यिकाओं के सानिध्य मे एबं प्रतिष्टाचार्य बाल ब्रह्मचारी विनय भैया बंडा के निर्देशन में चल रहे *श्री पारसनाथ दिगंबर जैन मंदिर बांदरी* के पंच कल्याणक महोत्सव में पुलिस थाना ग्राउंड में पंच कल्याणक स्थल पर आचार्य श्री जी के अर्घ मुनि श्री विमल सागर जी ने पढ़े एवं पूजन करवाई । और पूजन की द्रव्य सागर के श्रद्धालुओं के द्वारा लाई गई । आर्यिका श्री निर्वेग मति माता जी , आर्यिका श्री संवेग मति माता जी का रजत दीक्षा दिवस मनाया गया। एवं मुनिराज वृषभ सागर जी की आहार चर्या हुई। भगवान की धर्मसभा को संबोधित करते हुए मुनि श्री विमल सागर जी महाराज ने कहा कि मुनिराज कब आहार के लिए उठे और हम कब पड़गाहन करें। 6 माह धर्म ध्यान के साथ उन्होंने निकाले। आहार ऐसी प्रक्रिया है। समय के साधना में सहायक है। जैन धर्म की रीढ़ दान है। दान नहीं होता तो यह धर्म एकता नहीं। पंचम काल के अंत तक मुनिराजों के दर्शन होंगे। जो श्रावक मनुष्य जन्म लेकर दान नहीं करता ऐसा व्यक्ति दुर्गति का पात्र बनता है दानपूजा के माध्यम से पाप धुलता है। यथा विधि दान देना चाहिए। मुनिराज का पड़गाहन गदगद भावों से करें। तीर्थंकर सर्वश्रेष्ठ पात्र होते हैं जो इनको दान देता है उसी भाव से मुक्ति का पात्र बनता है। हाथ जोड़कर नम्र होकर पड़गाहन करना चाहिए। अपने लिए जो शुद्ध भोजन बनाता है उसका दान करते हैं गृहस्थ। पाद प्रक्षालन इसलिए करते हैं जिससे गृहस्थ के अंदर जो कर्म धूली लगी है वह दूर हो जाए। जिस गृहस्थ के यहां साधु के चरण नहीं पड़ते हैं उस गृहस्थ का घर पवित्र नहीं हो पाता है। आपके घर में चिंतामणि रत्न आते हैं। लाखों में एक वक्ता और करोड़ों में एक दान होता है प्रतिदिन रात्रि में आरती और सांस्कृतिक कार्यक्रम हो रहे हैं।कार्यक्रम में बिभिन्न नगरों से लोग शामिल हुये। नीरज वैद्यराज पत्रकार 07582888100
  9. बांदरी जिला सागर 23-01-2019 *108 गाय दान दी गई* बांदरी जिला सागर मध्यप्रदेश में सर्वश्रेष्ठ साधक आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के शिष्य मुनि श्री विमल सागर जी मुनि श्री अनंत सागर जी मुनि धर्मसागर जी मुनि श्री अचल सागर जी मुनि श्री भाव सागर जी ससंघ एवं आर्यिका श्री अनंत मति माताजी ससंघ एवं आर्यिका श्री भावना मति माता जी आदि 22 आर्यिकाओं के सानिध्य मे एबं प्रतिष्टाचार्य बाल ब्रह्मचारी विनय भैया बंडा के निर्देशन में चल रहे *श्री पारसनाथ दिगंबर जैन मंदिर बांदरी* के पंच कल्याणक महोत्सव में पुलिस थाना ग्राउंड में पंच कल्याणक स्थल मैं जन्म कल्याणक में प्रातः अभिषेक शांतिधारा पूजन विधान की क्रिया संपन्न हुई । बालक आदी कुमार का जन्म हुआ और सब ने बहुत खुशियां मनाई और नृत्य किया। आचार्य श्री की महा पूजन हुई । जो आर्यिका श्री शुक्ल मति माताजी ने करवाई । नेहा नगर मकरोनिया,बाहुबली कालोनी सागर गौरझामर से श्रद्धालु पूजन की द्रव्य अर्पण करने आए। इस अवसर पर धर्म सभा को संबोधित करते हुए मुनि श्री विमल सागर जी ने कहा कि आज आप लोग बड़े प्रसन्न नजर आ रहें हैं, जब खुशी बढ़ जाती है तो सब कुछ भूल जाते हैं।जब तीन लोक के नाथ का जन्म होता है तो तीनों लोकों में खुशी होती हैं। जिनका जन्म होता हैं उनका मरण निश्चित है। सूर्य का उगना जन्म का प्रतीक हैं और सूर्य डूबना मरण का प्रतीक हैं। आज के दिन एक ऐसे व्यक्तित्व ने जन्म लिया जिसके जन्म लेते ही सौधर्म इंद्र का आसन कम्पायमान हो गया।मनुष्य जन्म दुर्लभता से मिलता हैं।यह जन्म पाकर आत्म तत्व का अवलोकन करें।आज आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ के सानिध्य में ईश्वरवारा में भगवान श्री शान्तिनाथ जी का महामस्तकाभिषेक हो रहा है। जिनेंद्र भगवान का जो प्रथम दर्शन करता है,वह अग्रिम पंक्ति में आता हैं।सुमेरु पर्वत पर आज जन्मे तीर्थंकर का 1008 कलशों से अभिषेक होता हैं। कलश स्वर्ण रत्न जड़ित होते हैं। प्रभु तो अतुल बल धारी होते हैं।जो हम कलिकाल में कलशों से अभिषेक करता है ,उसका सुमेरु पर अभिषेक होता हैं।आने वाले समय मे ऐसा नही हो कि अभिषेक भी डिस्पोजल से करने लग जाये।भगवान का अभिषेक शांतिधारा अच्छी धातु के पात्रों से करोगे तो आप का पुण्य भी बढ़ेगा।अभिषेक के लिये जो भी स्नान करता हैं वही से उसका पुण्य प्रारंभ हो जाता हैं ।अपने जन्मदिवस पर यह भावना भाओ की एक बरस निकल गया हैं वर्ष गाँठ का। उस दिन हमें दीपक से आरती करना चाहिए और जितने वर्ष के हो गए हैं उतने श्रीफल भगवान के सामने चढ़ाना चाहिए और उतने ही कलशो से अभिषेक करना चाहिए। कांटों नहीं बाटों। जिन्होंने मोक्ष मार्ग में सीना ताना है पसीना बहाया हैं उन्हें अगले भव में पसीना नहीं आता हैं। पूर्व में तपस्या और देव शास्त्र गुरु की आराधना की थीं उसका परिणाम है अच्छा शरीर मिलता है आप सबकी पहले से भावना थी कि बांदरी में भी एक गौशाला खुले। चारों ओर हिंसा का तांडव हो रहा हैं ।आपके लिए यह जिम्मा सौंपा है आप गायों का यदि पालन नहीं करोगे तो आपको अभिशाप लगेगा । आज लोगों ने 108 गायो के दान की घोषणा की हैं, ओर आगे 1008 गायो के दान की घोषणा हो ।एक तरफ सारी क्रियाएं और यह तरफ एक जीव के लिए अभयदान दे दो यह महत्वपूर्ण हैं। हमें जीवन में एक गाय का दान जरूर करना चाहिए । मोक्ष की यात्रा दया से प्रारंभ होती है।अशुद्ध क्रीम लगाने से सुंदरता नहीं बढ़ती है ।जो भगवान की भक्ति करता है उसको सुंदर रुप मिलता है।प्रतिदिन रात्रि में आरती और सांस्कृतिक कार्यक्रम हो रहे हैं।कार्यक्रम में बिभिन्न नगरों से लोग शामिल हुये। नीरज वैद्यराज पत्रकार 07582888100
  10. बालक कांपलेक्स सागर मध्य प्रदेश 12/01/2019 *महान होते हैं गुरु-मुनि श्री* सर्वश्रेष्ट साधक आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के आज्ञानुवर्त प्रभावक शिष्य पाठशाला प्रेरक मुनि श्री निर्णय सागरजी महराज एवम मुनि श्री पदम सागर जी महाराज के सानिध्य में संस्कारो को प्राप्त करने के लिये पुरुष और महिलाओ की पाठशाला का प्रारंभ किया गया। मुनि श्री पदम सागर जी महाराज ने आज आचार्य भक्ति का अर्थ बताते हुये आचार्य के गुणों पर प्रकाश डाला ।उन्होंने बताया कि आचार्यो में अनेक गुण होते हैं, जैसे सम्पूर्ण शास्त्रों के जानकार ,स्व और पर को जानने में कुशल,छत्तीस गुणों से सहित,बारह तप ,दश धर्म, पांच आचार्य, छह आवश्यक गुण, तीन गुप्ति ऐसे छत्तीस गुणों से सहित आचार्य की भक्ति करने और संयम को धारण करने से संसार भव सागर से पार हो सकते हैं तथा अपने अष्ट कर्मो को नाश कर सकते हैं।जन्म मरण के दुखों से भी छूट सकते हैं। आज संसार मे सच्चे गुरुओ का मिलना कठिन व दुर्लभ हैं ।वर्तमान में आगम के अनुसार चर्या पालन करने वाले गुरु बड़े पूण्य के योग्य से मिलते हैं। हमें ऐसे गुरुओ का सानिध्य पाकर अपनी आत्मा का कल्याण करना चाहिए।13/01/2019 दिन रविवार को मुनि द्वय के प्रवचन होंगे ,साथ ही पाठशाला के बच्चों द्वारा अभषेक पुजन भी होगा। उसके बाद बच्चों को मिष्टान वितरण होगा।यह भी ज्ञात हो की आज से 15 वर्ष पहले 2005 में मुनि श्री निर्णय सागर जी के सानिध्य में बालक कॉम्प्लेक्स में बच्चों की पाठशाला प्रारम्भ की गई थी,जो कि आज दिनांक तक अनवरत जारी हैं। जैनेतर लोग भी आकर धर्म लाभ ले रहे हैं। आज की धर्मसभा में बंडा, विदिशा, जैसीनगर,आदि नगरों के साथ ही सागर के विभिन्न कालोनी अंकुर कालोनी, नेहा नगर आदि जगहों के लोगो ने श्री फल भेट किया और आशीर्वाद प्राप्त किया। मुनि संघ बालक कांपलेक्स में विराजमान है।कल की आहारचर्या बालक काम्प्लेक्स में ही होगी। नीरज वैद्यराज पत्रकार 07582888100
  11. *अनूठा पंचकल्याणक महोत्सव*20 से 26 जनवरी 2019 *स्थान* श्री 1008 पार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर बांदरी जिला सागर (मध्य प्रदेश) *कार्यक्रम स्थल* पुलिस थाना ग्राउंड बांदरी *संभावित सानिध्य* * बाल ब्रह्मचारी संघनायक आचार्य श्री 108 विद्यासागर जी महाराज ससंघ * *मार्गदर्शन* मुनि श्री 108 विमल सागर जी मुनि श्री 108 अनंत सागर जी मुनि श्री 108 धर्म सागर जी मुनि श्री 108 अचल सागर जी मुनि श्री 108 भाव सागर जी महाराज ससंघ एवं आर्यिका श्री 105 अनंत मति माताजी ससंघ आर्यिका श्री 105 भावना मति माताजी सहित 22 आर्यिका *मांगलिक महोत्सव कार्यक्रम* 20 जनवरी 2019-रविवार घट यात्रा ,ध्वजारोहण 21 जनवरी 2019 सोमवारगर्भ कल्याणक पूर्वरूप 22 जनवरी 2019 मंगलवार गर्भ कल्याणक उत्तररूप। 23 जनवरी 2019बुधवार जन्मकल्याणक। 24 जनवरी 2019 गुरुवार तप/दीक्षा कल्याणक 25 जनवरी2019 शुक्रवार ज्ञान कल्याणक 26 जनवरी2018 शनिवार मोक्ष कल्याणक/गजरथ फेरी *प्रतिष्ठाचार्य* प्रतिष्ठा सम्राट प्रतिष्ठा रत्न बाल ब्रह्मचारी विनय भैया जी बंडा *आयोजक* सकल दिगंबर जैन समाज बांदरी जिला सागर (मध्य प्रदेश)कार्यक्रम का प्रसारण जिनवाणी चैनल पर होगा नीरज वैद्यराज पत्रकार 07582888100
  12. *अनूठा पंचकल्याणक महोत्सव* 20 से 26 जनवरी 2019 *स्थान* श्री 1008 पार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर बांदरी जिला सागर (मध्य प्रदेश) *कार्यक्रम स्थल* पुलिस थाना ग्राउंड बांदरी *संभावित सानिध्य* बाल ब्रह्मचारी संघनायक आचार्य श्री 108 विद्यासागर जी महाराज ससंघ *मार्गदर्शन* मुनि श्री 108 विमल सागर जी मुनि श्री 108 अनंत सागर जी मुनि श्री 108 धर्म सागर जी मुनि श्री 108 अचल सागर जी मुनि श्री 108 भाव सागर जी महाराज ससंघ एवं आर्यिका श्री 105 अनंत मति माताजी ससंघ आर्यिका श्री 105 भावना मति माताजी सहित 22 आर्यिका *मांगलिक महोत्सव कार्यक्रम* 20 जनवरी 2019-रविवार घट यात्रा ,ध्वजारोहण 21 जनवरी 2019 सोमवारगर्भ कल्याणक पूर्वरूप। 22 जनवरी 2019 मंगलवार गर्भ कल्याणक उत्तररूप। 23 जनवरी 2019बुधवार जन्मकल्याणक। 24 जनवरी 2019 गुरुवार तप/दीक्षा कल्याणक। 25 जनवरी2019 शुक्रवार ज्ञान कल्याणक 26 जनवरी2018 शनिवार मोक्ष कल्याणक/गजरथ फेरी *प्रतिष्ठाचार्य* प्रतिष्ठा सम्राट प्रतिष्ठा रत्न बाल ब्रह्मचारी विनय भैया जी बंडा *आयोजक* सकल दिगंबर जैन समाज बांदरी जिला सागर (मध्य प्रदेश)कार्यक्रम का प्रसारण जिनवाणी चैनल पर होगा नीरज वैद्यराज पत्रकार 07582888100
  13. बांदरी 11-1-2019 *धार्मिक कार्यों में सहयोग करें* *मुनिश्री* बांदरी जिला सागर( मध्यप्रदेश) मे सर्व श्रेष्ठ साधक आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के शिष्य *मुनि श्री विमल सागर जी मुनि श्री अनंत सागर जी मुनि धर्मसागर जी मुनि श्री अचल सागर जी मुनि श्री भाव सागर जी ससंघ एवम आर्यिका श्री अनंत मति माताजी ससंघ एवं आर्यिका श्री भावना मति माता जी आदि 22 आर्यिकाओं के सानिध्य मे आचार्य श्री की पूजन हुई । आर्यिका श्री संवेग मति माताजी ने अपने उद्बोधन में अपने गुरु का गुणगान किया और उन्होंने बताया कि आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज की चर्या हमेशा उत्कृष्ट रही है मुनि श्री भावसागर जी ने कहा कि यहां पर पंचकल्याणक होने वाले हैं आप लोगों को तन मन धन से जुट जाना है । यह किसी एक व्यक्ति का कार्य नहीं है पूरी समाज को मिलकर यह कार्य करना है आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज का भी आगमन होगा, हमें पूर्ण विश्वास है ।मंदिर में छत्र, चमर ,भामंडल एवं मंदिर के पूजन के पात्र अच्छी धातु के होना चाहिए। मंदिर के कार्यों में सभी को सहयोग करना चाहिए। यह पंचकल्याणक ऐतिहासिक होगा।जो धार्मिक कार्यों में विघ्न डालता है उसको बहुत सारी परेशानियां होती हैं। 10 जनवरी को खुरई में आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के दर्शनार्थ पंचकल्याणक के सभी पात्र पहुंचे आचार्य श्री ने प्रसन्नता पूर्वक आशीर्वाद दिया और बांदरी बालों की सराहना की । नीरज वैद्यराज पत्रकार 07582888100
  14. बांदरी 9-1-2019 *पंचकल्याणक के पात्रों का चयन हुआ* बांदरी जिला सागर( मध्यप्रदेश) मे सर्व श्रेष्ठ साधक आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के शिष्य *मुनि श्री विमल सागर जी मुनि श्री अनंत सागर जी मुनि धर्मसागर जी मुनि श्री अचल सागर जी मुनि श्री भाव सागर जी ससंघ एवम आर्यिका श्री अनंत मति माताजी ससंघ के सानिध्य मे आचार्य श्री की पूजन हुई आर्यिका श्री निर्मल मति माताजी ने अपने उद्बोधन में अपने गुरु का गुणगान किया एवं एवं मुनि श्री अचल सागर जी महाराज ने संस्कारों के बारे में विशेष रूप से बताया और दोपहर में पात्रों का चयन श्री पारसनाथ दिगंबर जैन मंदिर बांदरी में संपन्न हुआ संगीत की प्रस्तुति नीलेश जैन बांदरी ने😊 दी भगवान के माता पिता बनने का सौभाग्य श्रीमती ममता जैन ऋषभ जैन बांदरी सौधर्में इंद्र सुदीप जैन बांदरी कुबेर अशोक जैन अध्यक्ष पंचकल्याणक एवं जैन समाज महायज्ञ नायक डॉ. सनत जैन राजा श्रेयांस निर्मल चंद चौधरी राजा सोम अनिल चौधरी बाहुबली अनिल जैन आकाश जैन को प्राप्त हुआ ध्वजारोहण करने अशोक जैन दीप कमल मेडिकल को प्राप्त हुआ यह कार्यक्रम पुलिस थाना ग्राउंड बांदरी में होगा मुनि श्री विमल सागर जी ने कहा कि बांदरी के पारस नाथजी के दर्शन किए ह्रदय गदगद हो गया!अब विशाल प्रतिमा विराजमान होगी जब तक कीर्ति फैलेगी जब तक यह मंदिर रहेगा कीर्ति समाप्त नहीं होती है यहां आप लोगों ने कीर्तिमान बनाया है सारे पात्र महत्वपूर्ण होते हैं अवसर दवे पाव आते हैं और पंख लगा कर उड़ जाते हैं विश्व कल्याण की भावना को लेकर यह पञ्च कल्याणक होना है बांदरी से 108 गांव जुड़े हैं | इस कार्यक्रम में महेश बिलहरा मुकेश जैन ढाना देवेंद्र जैना स्टील अनिल नैंनधरा राजेश रोडलाइंस सागर से आए लोगों ने सहभागिता दी 20 से 26 जनवरी 2019 तक बांदरी में ऐतिहासिक पंचकल्याणक महोत्सव होने जा रहा है यह पंच कल्याणक पुलिस थाना ग्राउंड में आयोजित होगा यह कार्यक्रम प्रतिष्ठाचार्य ब्रहमचारी विनय भैया बंडा के निर्देशन में होगा।** नीरज वैद्यराज पत्रकार * 07582888190
  15. बांदरी 9-1-2019 *पंचकल्याणक के पात्रों का चयन हुआ* बांदरी जिला सागर( मध्यप्रदेश) मे सर्व श्रेष्ठ साधक आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के शिष्य *मुनि श्री विमल सागर जी मुनि श्री अनंत सागर जी मुनि धर्मसागर जी मुनि श्री अचल सागर जी मुनि श्री भाव सागर जी ससंघ एवम आर्यिका श्री अनंत मति माताजी ससंघ के सानिध्य मे आचार्य श्री की पूजन हुई आर्यिका श्री निर्मल मति माताजी ने अपने उद्बोधन में अपने गुरु का गुणगान किया एवं एवं मुनि श्री अचल सागर जी महाराज ने संस्कारों के बारे में विशेष रूप से बताया और दोपहर में पात्रों का चयन श्री पारसनाथ दिगंबर जैन मंदिर बांदरी में संपन्न हुआ संगीत की प्रस्तुति नीलेश जैन बांदरी ने😊 दी भगवान के माता पिता बनने का सौभाग्य श्रीमती ममता जैन ऋषभ जैन बांदरी सौधर्में इंद्र सुदीप जैन बांदरी कुबेर अशोक जैन अध्यक्ष पंचकल्याणक एवं जैन समाज महायज्ञ नायक डॉ. सनत जैन राजा श्रेयांस निर्मल चंद चौधरी राजा सोम अनिल चौधरी बाहुबली अनिल जैन आकाश जैन को प्राप्त हुआ ध्वजारोहण करने अशोक जैन दीप कमल मेडिकल को प्राप्त हुआ यह कार्यक्रम पुलिस थाना ग्राउंड बांदरी में होगा मुनि श्री विमल सागर जी ने कहा कि बांदरी के पारस नाथजी के दर्शन किए ह्रदय गदगद हो गया!अब विशाल प्रतिमा विराजमान होगी जब तक कीर्ति फैलेगी जब तक यह मंदिर रहेगा कीर्ति समाप्त नहीं होती है यहां आप लोगों ने कीर्तिमान बनाया है सारे पात्र महत्वपूर्ण होते हैं अवसर दवे पाव आते हैं और पंख लगा कर उड़ जाते हैं विश्व कल्याण की भावना को लेकर यह पञ्च कल्याणक होना है बांदरी से 108 गांव जुड़े हैं | इस कार्यक्रम में महेश बिलहरा मुकेश जैन ढाना देवेंद्र जैना स्टील अनिल नैंनधरा राजेश रोडलाइंस सागर से आए लोगों ने सहभागिता दी 20 से 26 जनवरी 2019 तक बांदरी में ऐतिहासिक पंचकल्याणक महोत्सव होने जा रहा है यह पंच कल्याणक पुलिस थाना ग्राउंड में आयोजित होगा यह कार्यक्रम प्रतिष्ठाचार्य ब्रहमचारी विनय भैया बंडा के निर्देशन में होगा।** नीरज वैद्यराज पत्रकार * 07582888190
×
×
  • Create New...