Jump to content
मेरे गुरुवर... आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज

Sanyog Jagati

Members
  • Content Count

    116
  • Joined

  • Last visited

  • Days Won

    1

Sanyog Jagati last won the day on October 20 2019

Sanyog Jagati had the most liked content!

Community Reputation

2 Neutral

About Sanyog Jagati

  • Rank
    Advanced Member
  • Birthday 05/12/2001

Personal Information

  • location
    Gourjhamar Sagar m.p

Recent Profile Visitors

The recent visitors block is disabled and is not being shown to other users.

  1. *बीना 16/08/2020* *देश के प्रति बहुमान रखना महत्वपूर्ण है - मुनि श्री भाव सागर जी महाराज* *(स्वतंत्रता दिवस पर दिया विशेष उद्बोधन)* *दश लक्षण महापर्व केसे मनाए यह बताया* राष्ट्रहित चिंतक,सर्वश्रेचष्ठ *आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज* के आज्ञानुवर्ती शिष्य*मुनि श्री विमलसागर जी महाराज (ससंंघ) पर्श्वनाथ दिगंबर जैन चौबीसी जिनालय बड़ी बजरिया बीना जिला सागर मध्य प्रदेश मे विराजमान है। *मुनि श्री भाव सागर जी ने कहा कि* 23 अगस्त से 1 सितंबर तक दिगंबर जैन धर्म के दशलक्षण महापर्व प्रारम्भ हो रहे है! इस बार कोरोना के कारण पूर्व जैसे पर्व नहीं मना पाएंगे लेकिन घर पर रहकर ही यह पर्व
  2. बीना 04/08/2020 *मोक्ष कल्याणक एवं रक्षाबंधन पर्व मनाया गया* राष्ट्रहित चिंतक,सर्वश्रेष्ठ आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के शिष्य मुनि श्री विमलसागर जी, मुनि श्री अनंत सागर जी, मुनि श्री धर्म सागर जी, मुनि श्री अचल सागर जी, मुनि श्री भाव सागर जी, के सानिध्य में 03 अगस्त 2020 सोमवार को श्री श्रेयांसनाथ भगवान का मोक्ष कल्याणक एवं रक्षाबंधन पर्व मनाया गया. प्रातः काल श्री जी का अभिषेक शांतिधारा, पूजन,निर्वाण लाडू अर्पण के साथ रक्षाबंधन विधान संपन्न हुआ और मुनि श्री का उद्बोधन हुआ फिर दोपहर में पूज्य मुनिसंघ का उद्बोधन हुआ। चुनिंदा श्रावक श्राविका ने मुनि श्री की पिच्छिका मैं रक्ष
  3. *मुनि श्री विमल सागर जी महाराज जीवन दृष्टि* आपका पूर्व नाम रहा है बाल ब्रहमचारी बृजेश जैन जन्म स्थान रहा है बरोदिया जिला सागर{ मध्य प्रदेश} ( बाद में निवास ललितपुर उत्तर प्रदेश रहा ) पिता स्व. श्री कपूरचंद जी और माता श्री.. श्रीमती गोमती बाई जी की पांचवी संतान के रूप में आपका जन्म मंगलवार 15 अप्रैल 1975 चैत्र बदी 4 विक्रम संवत 2032 को हुआ उन्हें 3 बड़े भाइयों और एक बड़ी बहन तथा छोटी बहन के साथ बचपन किशोरावस्था और युवावस्था तक पहुंचने का प्यार दुलार मिला हायर सेकेंडरी ,शास्त्री (प्रथम वर्ष )तक की शिक्षा प्राप्त की आपने भाग्योदय तीर्थ सागर में 28 अप्रैल 1998 वैशाख शुक्ल 6 को 23 व
  4. बीना 08/07/2020 *अवसर जब आते है दबे पांव आते हैं:-मुनि श्री विमल सागर जी* मंगल कलश स्थापना संपन्न हुई सर्वश्रेष्ठ साधक आचार्य गुरूवर श्री विद्यासागर जी महा मुनिराज के आज्ञानुवर्ती शिष्य मुनि श्री विमल सागर जी मुनिराज मुनि श्री अनंत सागर जी मुनिराज, मुनि श्री धर्म सागर जी मुनिराज, मुनि श्री अचल सागर जी मुनिराज, मुनि श्री भाव सागर जी मुनिराज -श्री पार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर चौबीसी जिनालय बड़ी बजरिया बीना जिला सागर (मध्य प्रदेश) में कलश स्थापना 8 जुलाई को ब्रह्मचारी नितिन भैया जी इंदौर के निर्देशन में संपन्न हुई इस अवसर पर मुनि श्री विमल सागर जी ने कहा कि आप के चमत्कार
  5. *जिनगृह वर्षायोग 2020* *वर्षायोग स्थल* – श्री 1008 पार्श्वनाथ दिगम्बर जैन मंदिर बड़ी बजरिया बीना जिला सागर ( मध्य प्रदेश) अध्यात्म की पराकाष्ठा आचार्य भगवन 108 श्री विद्यासागर जी महामुनिराज के मंगल आशीर्वाद से उनके परम् प्रभावक शिष्य- सौम्य मूर्ति 108 मुनि श्री विमल सागर जी महाराज मुनि श्री अनंत सागर जी महाराज मुनि श्री धर्म सागर जी महाराज मुनि श्री अचल सागर जी महाराज मुनि श्री भाव सागर जी महाराज *निवेदक/आयोजक* सकल दिगंबर जैन समाज एवं श्री १००८ पार्श्वनाथ दिगम्बर जैन चौबीसी जिनालय मंदिर बड़ी बजरिया बीना जिला सागर(म. प्र.) *संपर्क सूत्र*– 9425453862 8889961116 78280
  6. *_🛕मंगल चातुर्मास कलश स्थापना, बीना (म.प्र.)🛕_* *0️⃣8️⃣जुलाई 2️⃣0️⃣2️⃣0️⃣ बुधवार* _विश्व वन्दनीय , संत शिरोमणि , *आचार्यश्री १०८ विद्यासागर जी* महा मुनिराज के आज्ञानुवर्ती शिष्य_ *💫 मुनिश्री १०८ विमलसागर जी महाराज* *💫 मुनिश्री १०८ अनंतसागर जी महाराज* *💫 मुनिश्री १०८ धर्मसागर जी महाराज* *💫 मुनिश्री १०८ अचलसागर जी महाराज* *💫 मुनिश्री १०८ भावसागर जी महाराज* *निर्देशन*- बाल ब्रह्मचारी नितिन भैया जी इंदौर *मांगलिक क्षण*-08 जुलाई 2020 बुधवार *दोपहर 1:30बजे से* शास्त्र अर्पण,श्रीफल अर्पण, मुनि श्री का मंगल उद्बोधन, मंगल कलश स्थापना *चातुर्मास स्थल*-
  7. बीना *उत्तम देश भारत है जहाॅ धर्म जीवित है*_ *मुनि श्री विमल सागर जी सर्वश्रेष्ठ साधक आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के शिष्य मुनि श्री विमल सागर जी महाराज(ससंघ) श्री पार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर चौबीसी जिनालय बड़ी बजरिया बीना जिला सागर (मध्य प्रदेश) में विराजमान है । धर्म चर्चा करते हुए मुनि श्री भावसागर जी ने कहा कि सभी युवाओं को तन-मन-धन से प्रभु और गुरु की सेवा करना है कोरोना के कारण इस बार विशेष सावधानी रखना है। शासन,प्रशासन के नियमों का पालन करते हुए धार्मिक क्रियाएं हैं दुनिया में सबसे पावर फुल पॉजिटिव एनर्जी देने वाले मंत्र,स्त्रोत, जाप,शांति धारा आदि होते है। आचा
  8. *देश का सबसे मूल्यवान खजाना होता है युवा* :- *मुनि श्री विमल सागर जी महाराज* सर्वश्रेष्ठ साधक आचार्य गुरूवर श्री विद्यासागर जी महा मुनिराज के आज्ञानुवर्ती शिष्य मुनि श्री विमल सागर जी महाराज (ससंघ) -श्री पार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर चौबीसी जिनालय बड़ी बजरिया बीना जिला सागर (मध्य प्रदेश) में विराजमान है। मुनि श्री भावसागर जी ने मुनि दीक्षा दिवस पर कहा कि आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज का 53 वा दीक्षा दिवस है । उन्होंने निर्दोष ब्रह्मचर्य व्रत का पालन करके एक महान कार्य किया है। देश का सबसे बहुमूल्य खजाना होता है युवा , युवा शक्ति देश के लिए अमूल्य निधि के समान है। युवावस्था जीव
  9. बीना 20/06/2020 *देश की रक्षा में जो शहीद हुए हैं उनके प्रति सहानुभूति रखें- मुनि श्री विमल सागर जी महाराज* सर्वश्रेष्ठ साधक आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के शिष्य मुनि श्री विमल सागर जी महाराज (ससंघ) श्री नाभि नंदन दिगंबर जैन मंदिर इटावा बीना जिला सागर (मध्य प्रदेश) में विराजमान है । धर्म चर्चा करते हुए मुनि श्री भाव जी सागर जी महाराज ने बताया कि कोरोना से पूरी दुनिया परेशान है लेकिन इससे डरना नहीं है सावधानी रखना है l यह उम्र, जाति, अमीर- गरीब को नहीं देखता है। किसी पर भी आक्रमण कर सकता है। शासन प्रशासन के द्वारा बतायी गयी सावधानियां रखना है। यह बीमारी बरसात में
  10. *मुनि श्री विमल सागर जी,* *ससंघ की दिनचर्या* प्रातः 5:15 बजे आचार्य भक्ति प्रातः 5:30 बजे वनविहार प्रातः 6:30 बजे देव वंदना *प्रातः9:30 मुनिसंघ की आहारचर्या* *दोपहर 11:30 मुनिसंघ की ईर्यापथ भक्ति* दोपहर 12:00 बजे से 1:45 तक सामायिक दोपहर 2:00 -3:00 बजे मुनिश्री का व्यक्तिगत स्वाध्याय दोपहर 3:00 से 4:00 बजे तक मुनिसंघ का स्वाध्याय शाम5:30 प्रतिक्रमण/ देववंदना शाम 6:45 आचार्यभक्ति शाम 7:30 बजे सामयिक *नोट:-* इस कार्यक्रम में मौसम अनुसार स्थिति परिस्थिति अनुसार परिवर्तन हो सकता है।
  11. बीना 18/06/2020 *मुनिश्री विमल सागर जी ससंघ का हुआ मंगल आगमन * बीना , जिला- सागर( मध्यप्रदेश) में सर्वश्रेष्ठ साधक आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के शिष्य मुनि श्री विमल सागर जी महाराज (ससंंघ) का बीना में चातुर्मास हेतु आगमन हुआ।। सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए एवं मास्क का प्रयोग करते हुए।सभी जैन समाज के लोगो ने आगवानी की।जगह-जगह अपने अपने घर पर दूर से ही आरती उतारी। रंगोली सजाई। इसके उपरांत मंगल प्रवेश इटावा जैन मंदिर जी मे हुआ। चर्चा करते हुए मुनि श्री विमल सागर जी ने बताया कि आप सभी पुण्यशाली है ,जो आपको चातुर्मास मिला है,अभी हम पहले आपलोगो की भक्ति देख रहे है ,उसके बाद
  12. 🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩 🎪🎪🎪🎪🎪🎪🎪🎪 📿 *सिद्धों की आराधना का महा आयोजन*📿 🎪 *श्री 1008 सिद्धचक्र महामण्डल विधान* एवम् *विश्व शांति महायज्ञ*🎪 *🌈22 दिसम्बर से 30 दिसम्बर 2019 तक🌈* 🎪स्थल- महराजपुर देवरी जिला सागर मप्र 🎊 *मंगल आशीर्वाद* - 🙏🏻 प्रातः स्मरणीय परम पूज्य संत शिरोमणि दिगम्बर सरोवर के राजहंस 🙏🏻 *आचार्य श्री १०८ विद्यासागर जी महामुनिराज* 🎉 *पावन सानिध्य*- 🌟 *सौम्य मूर्ति मुनि श्री 108 विमलसागर जी महाराज* *मुनि श्री अनन्तसागर जी महाराज* *मुनि श्री धर्मसागर जी महाराज* *मुनि श्री अचलसागर जी महाराज* *मुनि श्री भावसागर जी महाराज* 🎤विधानाचार्य🎤 💫 *बा.ब्र. विनोद भैया
  13. * 15-12-2019 👣👣👣👣👣👣👣👣 *शहपुरा (भिटौनी) से विहार समाचार* *आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज* के शिष्य *मुनि श्री विमलसागर जी महाराज (ससंघ) का शहपुरा से महाराजपुर की ओर विहार चल रहा है । सम्भावित दिशा : *पाटन - तेंदूखेड़ा - तारादेही* 🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩 *रात्रि विश्राम* : - 15/12/2019 - पाटन या आसपास में । *आहार चर्या* : - 16/12/2019 की पाटन या आसपास मे होगी । *विशेष* महाराजपुर में 22 से 30 तक सिद्धचक्र महामंडल विधान होना है। *नोट*:- *मुनि श्री की अनुकूलता ‌के अनुसार एवं स्थिति - परिस्थिति अनुसार परिवर्तन हो सकता है।* 🙏🙏🙏🙏🙏🙏
  14. *संकल्प से होता है जीवन का कायाकल्प - मुनि श्री विमल सागर महाराज* *स्कूली बच्चों ने लिया संकल्प* गोटेगांव / नरसिंहपुर जिले के खमरिया ग्राम में राष्ट्रीय सन्त पूज्य गुरुवर आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के परम प्रभावक शिष्य मुनि श्री विमल सागर जी महाराज गोटेगांव से विहार कर खमरिया पहुंचे जहां मुनि श्री विमल सागर जी ने शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला के बच्चो व ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए कहा कि जैसा हम बोते हैं वैसा फल मिलता है । हमें क्या बोना है ? इसका हमें ध्यान रखना है । जो मनुष्य जीवन पाकर तप व दान न करें व ज्ञान प्राप्त न करें और धर्म न करें तो वो मनुष्य इस धरती पर भार समान है
  15. 30-11-2019 संशोधित *विहार समाचार* ठेमी से गोटेगांव सर्वश्रेष्ठ साधक *आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज* के शिष्य *मुनि श्री विमलसागर जी महाराज* *मुनि श्री अनन्तसागर जी महाराज* *मुनि श्री धर्मसागर जी महाराज* *मुनि श्री अचलसागर जी महाराज व मुनि श्री भावसागर जी महाराज* का *ठेमी से गोटेगांव की ओर* विहार चल रहा है । *रात्रि विश्राम -* 30'11.19 कमोद( गोटेगांव से 4 किलोमीटर पहले) *आहारचर्या* 01/12/2019 को कमोद में फिर दोपहर 1.30बजे विहार के बाद 2.30बजे गोटेगांव में आर्यिका श्री 105 पूर्णमति माताजी ससंघ करेगी भव्य अगवानी मुनि संघ की और वही कुछ दिन रुकने क
×
×
  • Create New...