Jump to content
मेरे गुरुवर... आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज

Vidyasagar.Guru

Members
  • Content Count

    8,817
  • Joined

  • Last visited

  • Days Won

    227

 Content Type 

Profiles

Forums

Gallery

Downloads

आलेख - Articles

आचार्य श्री विद्यासागर दिगंबर जैन पाठशाला

विचार सूत्र

प्रवचन -आचार्य विद्यासागर जी

भावांजलि - आचार्य विद्यासागर जी

गुरु प्रसंग

मूकमाटी -The Silent Earth

हिन्दी काव्य

आचार्यश्री विद्यासागर पत्राचार पाठ्यक्रम

विशेष पुस्तकें

संयम कीर्ति स्तम्भ

संयम स्वर्ण महोत्सव प्रतियोगिता

ग्रन्थ पद्यानुवाद

विद्या वाणी संकलन - आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के प्रवचन

Blogs

Calendar

Videos

ऑडियो

Quizzes

Store

Blog Entries posted by Vidyasagar.Guru

  1. Vidyasagar.Guru

    केश लोच सूचना
    पूज्यगुरूदेव आचार्य श्री १०८ विद्यासागर जी महामुनिराज
                           एवं
     
    मुनिश्री सौम्यसागर जी
    मुनिश्री दुर्लभसागर जी    मुनिश्री श्रमणसागर जी मुनिश्री संधानसागर जी  
    के   सिद्धोदय सिद्धक्षेत्र नेमावर  में  हुए  केश लोच |
  2. Vidyasagar.Guru

    केश लोच सूचना
    पूज्यगुरूदेव आचार्य श्री १०८ विद्यासागर जी महामुनिराज
                           एवं
     
    मुनिश्री दुर्लभसागर जी    मुनिश्री श्रमणसागर जी मुनिश्री संधानसागर जी  
    के   सिद्धोदय सिद्धक्षेत्र नेमावर  में  हुए  केश लोच |
     
  3. Vidyasagar.Guru
    *भव्य पिच्छिका परिवर्तन समारोह*
                   *● विजयनगर, इन्दौर ●*
           *15 नवम्बर, दोपहर 1:30 बजे*
    ➖◆➖◆➖◆➖◆➖◆➖◆➖◆
                        परम सानिध्य 
    *पूज्य आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज*
                    ससंघ (13 मुनिराज )
     
    *विशेष 😘
    1. इन्दौर के अन्य जिनालयों में विराजमान, मुनिउपसंघ भी गुरुचरणों में विजयनगर पधार चुके हैं।
    2. इसी समारोह में चातुर्मास निष्ठापन, कलश वितरण का भव्य कार्यक्रम भी आयोजित होगा।
  4. Vidyasagar.Guru
    इंदौर 15 नवम्बर 2020
    इंदौर में विराजमान संत शिरोमणि आचार्य गुरुदेव श्री विद्यासागर महाराज का ससंघ पिच्छिका परिवर्तन समारोह संपन्न हुआ
    आचार्य श्री की  पिच्छी राजेंद्र जी जैन वास्तु-श्रीमती अंचल वास्तु इंदौर को लेने का सौभाग्य को प्राप्त हुआ
     
    सभी नाम इस प्रकार हैं 
     

     
     
     
  5. Vidyasagar.Guru
    निम्न ग्रन्थ पुस्तकें प्राप्त करने के लिए - whatsapp No पर whatsapp के माध्यम से  संपर्क करें 
    whatsapp No - 9109090111
    सहयोग राशि 1100/-
     
    कोरियर के माध्यम से आपको भेजें जायेंगे 
     
     

  6. Vidyasagar.Guru

    ऑनलाइन आर्डर
    राष्ट्रहित चिंतक, आचार्यश्री विद्यासागर जी महामुनिराज के आशीर्वाद, मार्गदर्शन  से सुशोभित पुस्तक 
     

     
     
    प्रस्तुती (संकलन): डॉ. ब्र● भरत भैया
    प्रकाशक: जैन विद्या पीठ 
    प्राप्ति स्थान  जैन विद्यापीठ
     
     
    पुस्तक मूल्य डाक खर्च के साथ इस प्रकार हें 
     
    1 पुस्तक         55/-
    2 पुस्तक          85/-
    3 पुस्तक         115/-
    5 पुस्तक         180/-
    10 पुस्तक        340/-
    20 पुस्तक       660/-
    30 पुस्तक       975/-
     
    नीचें दिये गये बटन पर क्लिक कर शीघ्र बुकिंग करें |
     
     
    नाम और पता english में भरे । payu money हिंदी भाषा में त्रुटि देता हैं।
    हो सके तो payu को ट्वीट कर हिंदी सुपोर्ट शुरू करने के लिए कहे।
     




     
     
    30 पुस्तक से अधिक लेने के लिए सम्पर्क करें  9109090111
     

    हमारी मातृभाषा, का अवलोकन करते पूज्य आचार्यश्रीजी
     
     
     
  7. Vidyasagar.Guru
    *आचार्यश्री के दर्शन करने पहुंचे मप्र उच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति वीरेंदर सिंह
    *न्यायमूर्ति ने कहा कि अब अधिकांश सुनवाई भी हिंदी में करेंगे
     मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति वीरेंदर सिंह ने मंगलवार को आचार्यश्री विद्यासागर से भेंट की और कहा कि आपकी प्रेरणा से पहली बार हिंदी में निर्णय दिया। अब अधिकांश सुनवाई हिंदी में ही हो रही है।
     । न्यायमूर्ति सिंह ने आचार्यश्री से चर्चा में बताया कि वर्ष 2016 में पहली बार आपके दर्शन भोपाल में किए थे। उस दिन आपने कहा था कि हिंदी भाषा में अधिक से अधिक कार्य करें। आपकी प्रेरणा पर अब मैंने क्रियान्वयन किया है। वर्ष 2020 के हिंदी दिवस से मेरी बेंच में होने वाली अधिकांश केस की सुनवाई हिंदी में हो रही है। गत दिनों एक मामले का निर्णय भी मैंने हिंदी में दिया था।
    इस पर आचार्यश्री ने कहा कि हमारा देश भारत गांवों में बसता है। देश की अधिकांश जनता अंग्रेजी नहीं समझती है। इसलिए देश के न्यायिक और प्रशासनिक कार्य हिंदी में होने चाहिए। इससे जिसके पक्ष में फैसले होंगे, वे लोग आसानी से समझ सकेंगे। आचार्यश्री ने कहा कि 200 साल पहले हमारे देश में अंग्रेजी नहीं थी, तब क्या हम उन्नाति नहीं कर रहे थे। विश्व में अनेक ऐसे देश भी हैं, जिन्होंने अपनी भाषा को नहीं छोड़ा है। वे देश भी आज के समय उन्नाति कर रहे हैं। इसके बाद फिर आचार्यश्री ने आशीर्वाद स्वरूप न्यायमूर्ति सिंह को धार्मिक पुस्तक दी।
     
     


     
     
     
    आचार्य श्री जी के विचार एवं सुझाव.pdf
  8. Vidyasagar.Guru

    केश लोच सूचना
    पूज्यगुरूदेव आचार्य श्री १०८ विद्यासागर जी
                           एवं
    संघस्थ मुनिश्री
     
     
    मुनिश्री दुर्लभसागर जी 
    मुनिश्री निरामयसागर जी 
     मुनिश्री श्रमणसागर जी
     मुनिश्री संधानसागर जी
     

    के   प्रारम गार्डन, (निर्वाण गार्डन के पास), इंदौर   में हुए  केश लोच |
     
  9. Vidyasagar.Guru
    आचार्य श्री विद्यासागर मोबाइल ऐप्प के प्ले स्टोर पर हुए ५० हज़ार डाउनलोड 
    आप सभी को इस ऐप को पसंद करने के लिए धन्यवाद 
     
    https://play.google.com/store/apps/details?id=com.app.vidyasagar
     
     
    इस एप्प को और अच्छा कैसे बनाया जाये, इसके लिए आप अपने सुझाव कमेंट में जरूर लिखें 
     
    यह एप्प शीघ्र 1 लाख डाउनलोड की और अग्रेसर हो, इसी भावना के साथ एक बार आप सभी के सहयोग के लिए  पुनः  आभार 
     

     
  10. Vidyasagar.Guru
    निमित्त मिले,
    पित्त उछले भले,
    चित्त शांत हो (मस्त हो / स्वस्थ हो ) |
     
    हायकू जापानी छंद की कविता है इसमें पहली पंक्ति में 5 अक्षर, दूसरी पंक्ति में 7 अक्षर, तीसरी पंक्ति में 5 अक्षर है। यह संक्षेप में सार गर्भित बहु अर्थ को प्रकट करने वाली है।
     
    आओ करे हायकू स्वाध्याय
    आप इस हायकू का अर्थ लिख सकते हैं। आप इसका अर्थ उदाहरण से भी समझा सकते हैं। आप इस हायकू का चित्र बना सकते हैं। लिखिए हमे आपके विचार
    क्या इस हायकू में आपके अनुभव झलकते हैं। सके माध्यम से हम अपना जीवन चरित्र कैसे उत्कर्ष बना सकते हैं ?
  11. Vidyasagar.Guru
    पूज्यगुरूदेव आचार्य श्री १०८ विद्यासागर जी
                           एवं
    संघस्थ मुनिश्री
     
     
    मुनिश्री दुर्लभसागर जी 
     मुनिश्री श्रमणसागर जी
     मुनिश्री संधानसागर जी
     
     

    के   तीर्थोदय धाम प्रतिभास्थली रेवती रेंज , इंदौर   में हुए  केश लोच |
  12. Vidyasagar.Guru
    इस सूची को अद्यतित करने हेतु संबंधित मुनिराज, आर्यिका माताजी का स्थान एवं तिथि कमेंट बॉक्स में पोस्ट करें 
     
        चातुर्मास स्थल कलश स्थापना तिथि  1 आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज ससंघ  तीर्थोदय धाम, प्रतिभास्थली, रेवतीरेंज, इंदौर, म.प्र रविवार, 12 जुलाई 2020, दोपहर 1ः30 बजे 2 निर्यापक मुनिश्री समयसागर जी ससंघ शांतिधाम, बीना बारहा, म.प्र. मंगलवार, 7 जुलाई 2020, दोपहर 2ः00 बजे 3 निर्यापक मुनिश्री योगसागर सी ससंघ  हिंगोली, महाराष्ट्र   4 निर्यापक मुनिश्री नियमसागर जी ससंघ तिगडोली, जि.बेलगांव, कर्नाटक   5  निर्यापक मुनिश्री सुधासागर जी ससंघ तपोदय तीर्थ, बिजौलियाँ, राजस्थान शनिवार, 4 जुलाई 2020, प्रातः संपन्न 6 मुनिश्री समतासागर जी ससंघ विदिशा, म.प्र.   7 मुनिश्री प्रमाणसागर जी ससंघ कटनी, म.प्र. 5 जुलाई 2020, रविवार दोप.2 :00 बजे
    8 मुनिश्री पवित्रसागर जी ससंघ
    वर्धा, महाराष्ट्र   9 मुनिश्री प्रशांतसागर जी ससंघ
    पथरिया, म.प्र.   10 मुनिश्री विनीतसागर जी ससंघ
    गायत्री नगर, जयपुर, राज.   11 मुनिश्री निर्णयसागर जी ससंघ
    .   12 मुनिश्री पायसागर जी ससंघ
    बननिकोप्पा, कर्नाटक   13 मुनीश्री प्रसादसागर जी ससंघ
    मुँगावली, अशोकनगर  म.प्र 8 जुलाई 2020, बुधवार, दोपहर 2 बजे  14  मुनिश्री अभयसागर जी ससंघ
    आरोन, म.प्र.   15 मुनिश्री अक्षयसागर जी ससंघ
        16 मुनिश्री प्रणम्यसागरजी ससंघ
    मुज़फ्फरनगर, उ.प्र.   17 मुनिश्री अजितसागरजी ससंघ
    किला मंदिर, आष्टा (सिहोर), म.प्र 5 जुलाई 2020, रविवार, दोपहर 2 बजे 18 मुनिश्री संभवसागर जी ससंघ
    अकोदिया शाजापुर जिले (म. प्र.)    19 मुनिश्री श्रेयांससागर जी ससंघ
    सानोधा, जि. सागर, म.प्र.   20 मुनिश्री विमलसागर जी ससंघ
    बीना, म.प्र.   21 मुनिश्री कुन्थुसागर जी ससंघ
    सागर, म.प्र.   22 मुनिश्री वीरसागर जी ससंघ
    सरधना, उ.प्र.   23 मुनिश्री आगमसागर जी ससंघ
    मानगाँव (कोल्हापुर) महाराष्ट्र   24 मुनिश्री विनम्रसागर जी ससंघ
    खातेगाँव, म.प्र. 12 जुलाई 2020         1 आर्यिका गुरुमति जी ससंघ
    जैन मंदिर परवारपुरा, इतवारी, नागपुर 5 जुलाई 2020, दोप.1 :00 बजे 2 आर्यिका दृढमति जी ससंघ
    गढ़ा, जबलपुर (म.प्र.) 7 जुलाई 2020, दोप.1 :00 बजे 3 आर्यिका मृदुमति जी ससंघ
        4
    आर्यिका ऋजुमति जी ससंघ
    कुण्डलपुर दमोह म. प्र. 5 जुलाई 2020, दोप.1 :00 बजे 5 आर्यिका तपोमति जी ससंघ
        6 आर्यिका गुणमति जी ससंघ
        7 आर्यिका प्रशांतमति जी ससंघ
        8 आर्यिका पूर्णमति जी ससंघ
    कुण्डलपुर दमोह म. प्र. 5 जुलाई 2020, दोप.1 :00 बजे
    9 आर्यिका अनंतमति जी ससंघ
        10 आर्यिका भावनामति जी ससंघ
        11 आर्यिका आदर्शमति जी ससंघ
    पपौरा जी    12 आर्यिका दुर्लभमति जी ससंघ
    पपौरा जी    13 आर्यिका अंतरमति जी ससंघ
    पपौरा जी    14 आर्यिका अनुनयमति जी ससंघ
        15 आर्यिका अपूर्वमति जी ससंघ
    श्री चंद्रप्रभ जिनालय,
    कठाली बाजार, सिरोंज (विदिशा) मप्र 5 जुलाई 2020, दोप.1 :00 बजे 16 आर्यिका अनुभवमति जी ससंघ
        17 आर्यिका उपशांतमति जी ससंघ
    कुण्डलपुर दमोह म. प्र. 5 जुलाई 2020, दोप.1 :00 बजे
    18 आर्यिका अकंपमति जी ससंघ
     
       
     
  13. Vidyasagar.Guru
    जानकारी देते हुए ब्र.  सुनील भैया और मीडिया प्रभारी राहुल सेठी ने बताया की आचार्यश्री विद्यासागरजी महामुनिराज सहित पूरे संघ का चातुर्मास साँवेर रोड स्थित तीर्थोदय धाम प्रतिभास्थली, इंदौर में होगा।
    ५ जुलाई २०२०,  गुरु पूर्णिमा के पावन अवसर पर सभी मुनियों द्वारा चातुर्मास का संकल्प लिया जाएगा। प्रातः 7 बजे से यह क्रिया आरंभ होगी। इसके साथ ही चार्तुमास स्थापना के पहले दिन आचार्य श्री सहित सभी मुनिराजों का उपवास रहेगा। पूरे दिन चातुर्मास की विधि संपन्न होगी।
     
    आगामी रविवार, 12 जुलाई 2020 को दोपहर 1ः30 बजे से चातुर्मास कलश स्थापना की क्रिया संपन्न होगी। इसी दिन कलश स्थापना करने का सौभाग्य प्राप्त करने वाले पात्रों का चयन भी किया जाएगा। आचार्यश्री के सान्निध्य में जो भी आयोजन होंगे, वे सभी कोरोना संबंधी सरकारी दिशा-निर्देशों के अनुसार होंगे। आचार्यश्री सहित सभी मुनिराजों का मंगल प्रवेश 5 जनवरी 2020 को इंदौर में हुआ था। अब 14 नवम्बर दीपावली तक चातुर्मास का लाभ भी श्रावक-श्राविकाओं व श्रद्धालुओं को मिलेगा। इस बार चातुर्मास का लगभग 5 महीने का होगा अर्थात् 4 जुलाई 2020 से 14 नवंबर 2020 तक।
     
    ● चातुर्मास के मुख्य कार्यक्रम की पूरी जानकारी
    मीडिया प्रभारी राहुल सेठी ने बताया कि इस बार चातुर्मास में अनेक पर्व मनाए तो जाएँगे, लेकिन सभी आयोजनों में कोरोना संबंधी सरकारी दिशा-निर्देशों का पालन किया जाएगा ।
     
    चातुर्मास के प्रमुख पर्व – चातुर्मास प्रारंभ 4 जुलाई, गुरू पूर्णिमा पर्व 5 जुलाई, भगवान पार्श्वनाथजी का मोक्ष कल्याणक मोक्ष सप्तमी 26 जुलाई, सौभाग्य दशमी 29 जुलाई, रक्षाबंधन 3 अगस्त, रोट तीज 21 अगस्त, दशलक्षण महापर्व (पर्यूषण पर्व) 23 अगस्त से आरंभ, सुगंध दशमी (धूपदशमी) 28 अगस्त, दशलक्षण महापर्व का समापन 01 सितम्बर, क्षमावणी पर्व 03 अगस्त, शरद पूर्णिमा 31 अक्टूबर, भगवान महावीर स्वामी निर्वाण कल्याणक महोत्सव-दीपावली 14 नवम्बर।
     
    ● आचार्यश्री के साथ ये मुनिगण कर रहे हैं वर्षायोग
    इस वर्ष आचार्यश्री के संघ में 12 मुनि सम्मिलित हैं- मुनि  श्री १०८ सौम्य सागर महाराज, मुनि  श्री १०८ दुर्लभ सागर महाराज, मुनि  श्री १०८ निर्दोष सागर महाराज, मुनि  श्री १०८ निर्लोभ सागर महाराज, मुनि श्री १०८ नीरोग सागर महाराज,  मुनि  श्री १०८ निरामय सागर महाराज, मुनि  श्री १०८ निराकुल सागर महाराज, मुनि  श्री १०८ निरुपम सागर महाराज, मुनि  श्री १०८ निरापद सागर महाराज, मुनि  श्री १०८ शीतल सागर महाराज, मुनि  श्री १०८ श्रमण सागर महाराज, मुनि  श्री १०८ संधान सागर महाराज शामिल है।
  14. Vidyasagar.Guru
    गुरु प्रभावना में सहयोग दीजिए। इस बार दसलक्षण पर्व पर आपके मंदिर में इस बैनर का प्रिंट निकाल कर जरूर लगाइए। प्रिंट करने के लिए  पीडीएफ़ डाउनलोड कर सकते हैं। 
     
     

     
     

     
     
     
     
     

     
    Acharya shree app poster.pdf
  15. Vidyasagar.Guru
    कार्यक्रम आज 11 : 30 से फेसबुक एवं यूट्यूब पर 
     
    https://www.facebook.com/www.vidyasagar.guru
     
    https://www.youtube.com/c/vidyasagar_guru
     
    परम पूज्य आचार्य श्री विद्यासागरजी महाराज का 53 वां दीक्षा दिवस महोत्सव
    गुरूवार, 25 जून, 2020,  आषाढ़ शुक्ल-पंचमी
    कार्यक्रम की रूपरेखा
    https://app.vidyasagar.guru/diksha-diwas-mahotsav

    सुबह 8:00-9:00  मंगलाचरण एवं सामूहिक (भाव) पूजन (Once in Life Time Opportunity!)
    सुबह 11:30 - दोपहर 1:30   विशेष कार्यक्रम एवं प्रस्तुतियाँ ( *Don’t Miss This, Must Watch )
    दोपहर 1:45  चित्रांकन प्रस्तुति (Paintings and Drawings on Achrya Shree!)
    Non Stop Programs 
    दोपहर 2:00 बजे   प्रस्तुतियाँ  क्रमांक 4 
    दोपहर 3:30  प्रस्तुतियाँ  क्रमांक 5
    दोपहर 5:00 प्रस्तुतियाँ  क्रमांक 6 
    दोपहर 6:30  प्रस्तुतियाँ  क्रमांक 7
    रात्रि 9:00 प्रस्तुतियाँ  क्रमांक 8 
    रात्रि 10:30 प्रस्तुतियाँ  क्रमांक 9
     
    अधिक जानकारी और कार्यक्रम का पूरा लाभ उठाने के लिए यूट्यूब एवं फेसबुक पर लॉगिन करके रहें 
    यूट्यूब
    https://www.youtube.com/c/vidyasagar_guru
    फेसबुक 
    https://www.facebook.com/www.vidyasagar.guru/
    #25June_guruji_ka_diksha_diwas_manaye_online_mahotsav
    हमारा प्रयास आपका सहयोग
    www.Vidyasagar.Guru
    Acharya Shree Vidyasagar (Jain app)
    https://play.google.com/store/apps/details?id=com.app.vidyasagar
    -----------------------------------
    संत शिरोमणि आचार्यश्री 108 विद्यासागर जी महामुनिराज का 53 वाँ दीक्षा दिवस 25 जून 20 को है| दीक्षा दिवस के उपलक्ष्य में विद्यासागर डॉट गुरु वेबसाइट की तरफ से ऑनलाइन महोत्सव आयोजित किया जा रहा है | सभी एक प्रस्तुति के माध्यम से भाग ले सकते हैं | 
     
    1. संगीतमय (भक्तिमय) भावांजलि
    आपको संगीत में रुचि है,  संगीत आपका विषय है,  आप आचार्य श्री को समर्पित  गुरु वंदना , गुरु भजन रिकॉर्ड करें और हमें प्रेषित करें। 
     
    2. गुरुवर की साहित्यिक यात्रा
    आचार्य श्री द्वारा रचित काव्य रचनाओं को याद करें एवं रिकॉर्ड करें (शतक, कविताएँ , भक्तियाँ इत्यादि )। शतक (100) में से 10 छंद भी प्रस्तुत कर सकते हैं। 
    मूकमाटी महाकाव्य पर संगोष्ठी प्रस्तुति, संक्षिप्त प्रकरण (प्रसंग)
     
    3. राष्ट्रीय देशना
    आचार्यश्रीजी को भारतीय संस्कृति के पोषक, प्रचारक और संरक्षक के रूप में जाना जाता है | आचार्य श्री के राष्ट्र विचारों को काव्य रचना, नाटिका इत्यादि से प्रस्तुत कर रिकॉर्ड करें।
     
    4 भाव वंदना
    पूरा परिवार एक साथ गुरु जी को एक साथ नमोस्तु निवेदित करते हुए सुनाएँ अपने संस्मरण, कुछ पंक्तियाँ, भजन  इत्यादि |
     
    5. दीक्षा दिवस पर चित्रांकन प्रस्तुति
    आचार्य श्री द्वारा रचित हाइकू, अथवा उपर्युक्त विषयों पर हाथ से चित्र बनाकर प्रस्तुत कर सकते हैं। 

    चुनिन्दा प्रस्तुतियों को फेसबुक एवं यूट्यूब पर दीक्षा दिवस के दिन प्रसारित किया जायेगा
     
    आप रिकॉर्डिंग ऐसे करें की लगे लाइव प्रसारण हो रहा हो - जैसे आप मंच पे प्रस्तुति दे रहे हों।  प्रस्तुति में आप दिखने चाहिए  -  नई प्रस्तुति रिकॉर्ड करे - पहले से रिकार्डेड प्रस्तुति न भेजें।  आपकी प्रस्तुति को दीक्षा दिवस तक किसी भी सोशल  मीडिया पर न डाले  सोशल मीडिया पर खड़ी फोटो ब्लॉक होती हैं, इसलिए ऐसी फोटो न दिखाएँ | 24 जून तक आप सभी प्रस्तुति अपलोड कर दें ताकि अंतिम 4 दिन में प्रीमियर प्रसारण की तैयारी की जा सके |  उसी ईमेल से अपलोड करे - जिससे संपर्क किया जा सके |  
    कैसे करें अपलोड वीडियो 
    प्रत्येक प्रस्तुति के लिए अलग विषय बनाया गया है 
    https://flipgrid.com/acharyashree
    आप अपनी प्रस्तुति को उसी विषय में अपलोड करें |
    समय अवधि : 1 से 5 मिनट 
     
    दीक्षा दिवस पर चित्रांकन प्रस्तुति इस लिंक पर अपलोड करें 
    https://vidyasagar.guru/gallery/category/69-1
     
    प्रस्तुति  20 जून तक अपलोड कर दें, तभी फेसबुक इत्यादि पर प्रसारित कर पाएँगे।  
  16. Vidyasagar.Guru
    आज 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के दिन तिलकनगर इंदौर की धरातल पर विराजमान राष्ट्रसंत श्री 108 विद्यासागर जी ससंघ (33 मुनिराजों) के दर्शन करने पहुँचे मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ
     


     
  17. Vidyasagar.Guru
    संविधान में संशोधन के लिए दिल्‍ली के किसान की जनहित याचिका पर 2 जून 2020 को सुनवाई
    उच्चतम न्यायालय में याचिका- देश को इंडिया कहना अंग्रेजों की गुलामी का प्रतीक, नाम बदलकर भारत करें; इससे राष्ट्रीय भावना बढ़ेगी
    तर्क दिया- अंग्रेज गुलामों को इंडियन कहते थे, उन्होंने ही इंडिया नाम दिया
     
    नई दिल्‍ली. 30-मई-2020
     
    देश का नाम भारत ही लिखा और बोला जाना चाहिए: जैनाचार्य श्री विद्यासागर जी
     
    जैन संत आचार्यश्री विद्यासागरजी महाराज भी इंडिया नाम को लेकर प्रश्न उठाते रहे हैं। भारत को भारत कहा जाए यह बात वह अपने प्रवचनों में कहते रहे हैं। यहाँ तक कि वे 2017 से वे देशव्यापी अभियान भी चला रहे हैं। कुछ दिनों पहले 'भारत बने भारत' नाम से एक यूट्यूब चैनल भी आरंभ किया गया है। आचार्यश्री कहते हैं कि जब हम मद्रास का नाम बदल कर चेन्नई कर सकते हैं, गुड़गाँव का नाम बदलकर गुरुग्राम कर सकते हैं तो इंडिया को हटाकर भारत करने में क्या बाधा है?
     
    श्रीलंका जैसा छोटा सा देश पहले सीलोन के नाम से जाना जाता था, अब श्रीलंका के नाम से जाना जाता है, तो हम क्यों गुलामी के प्रतीक इंडिया को थामे हुए हैं, हमें भी अपने गौरवशाली भारत नाम को पुनः अपनाना चाहिए।
    --------------
    अंग्रेजी में देश का नाम इंडिया से बदलकर भारत करने की माँग उच्चतम न्यायालय पहुँची है। दिल्ली के किसान नमः ने एक जनहित याचिका दायर कर संविधान के अनुच्छेद 1 में संशोधन की मांग की है। इसी के माध्यम देश को अंग्रेजी में इंडिया और हिंदी में भारत नाम दिया गया है। उच्चतम न्यायालय इस याचिका पर 2 जून को सुनवाई करेगा। याचिकाकर्ता का कहना है कि इंडिया नाम हटाने में भारत सरकार की विफलता अंग्रेजों की गुलामी का प्रतीक है। देश का नाम अंग्रेजी में भी भारत करने से लोगों में राष्ट्रीय भावना का विकास होगा और देश को अलग पहचान मिलेगी।

    यह सुनवाई मुख्य न्यायाधीश शरद अरविंद बोबडे की अध्यक्षता वाली पीठ में होगी। इस मामले में सुनवाई शुक्रवार को होनी थी, लेकिन श्री बोबडे की अनुपस्थिति के कारण इसे आगे बढ़ा दिया गया। याचिकाकर्ता ने कहा कि प्राचीन काल से ही देश को भारत के नाम से जाना जाता रहा है। परंतु अंग्रेजों की 200 वर्षों की गुलामी से मिली आजादी के बाद अंग्रेजी में देश का नाम इंडिया कर दिया गया। देश के प्राचीन इतिहास को भुलाया नहीं जाना चाहिए इसलिए देश के मूल प्रामाणिक नाम भारत को मान्यता दी जानी चाहिए। उन्होंने दलील दी है कि इंडिया नाम हटाने में सरकार की विफलता अंग्रेजों की गुलामी का प्रतीक है। अंग्रेज गुलामों को इंडियन कहकर संबोधित करते थे। उन्होंने ही देश को अंग्रेजी में इंडिया नाम दिया था। 5 नवंबर 1948 को संविधान के प्रारूप 1 के अनुच्छेद 1 के मसौदे पर बहस करते हुए एम. अनंतशयनम अय्यंगार और सेठ गोविंद दास ने देश का नाम अंग्रेजी में इंडिया रखने पर जोरदार विरोध दर्ज कराया था।
     
    उन्होंने इंडिया की जगह अंग्रेजी में भारत, भारतवर्ष और हिंदुस्तान आदि नामों का सुझाव दिया था। मगर, उस समय इस पर ध्यान नहीं दिया गया। अब इस गलती को सुधारने के लिए न्यायालय केंद्र सरकार को निर्देश दे कि अनुच्छेद 1 में संशोधन कर अंग्रेजी में देश का नाम भारत किया जाए।
     
    साभार - दैनिक भास्कर
    समाचार पत्र की कतरन-
     
     
     
     

  18. Vidyasagar.Guru
    दिनांक - 27 जून 2020 ,शनिवार
    जहाँ हम भक्त टकटकी लगाए एकटक अपने आचार्य भगवन् गुरूवर श्री विद्यासागर जी को अपलक देख रहे थें कि गुरुजी का इस वर्ष का चौमासा कहा होगा,लेकिन यहाँ गुरुकृपा की बारिश और और बढ़ती जा रही है.......
        इंदौर नगरी में विगत 5 माह उपरान्त जिनशासन की अनूठी प्रभावना में गुरु आज्ञा से हुआ नवीन उपसंघ
     
     
     
     
    27 जून 2020 #रेवतीरेंज #भावनात्मकदृश्य😊👣
    #विहार पूर्व, आचार्य भगवन की वंदना करते हुए सभी संघस्थ एवं विहाररत मुनिराज।
     
     
     

     
    *सभी मुनिराज की सूचि लिंक पर अपडेट हो गई हैं |
    *आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज  ससंघ* 
    https://vidyasagar.guru/sangh/
    *मुनिश्री संभवसागर जी ससंघ*
    *मुनिश्री विनम्रसागर जी ससंघ*
    *मुनि श्री संभवसागर जी ससंघ विहार अपडेट*
    मुनिश्री विनम्रसागर जी ससंघ विहार अपडेट
    *शिष्य महाराज संघ सूचि* 
    https://vidyasagar.guru/aagyaanuvartee-sangh/
     
     
     

     
    ✨मुनि श्री १०८ संभव सागर जी महाराज
    ⭐मुनि श्री १०८ विराटसागर जी महाराज 
    ⭐मुनि श्री १०८ विशदसागर जी महाराज 
    ⭐मुनि श्री १०८ निर्मोहसागर जी महाराज 
    ⭐मुनि श्री १०८ निष्पक्षसागर जी महाराज 
    ⭐मुनि श्री १०८ निस्पंदसागर जी महाराज 
    ⭐मुनि श्री १०८ निष्कामसागर जी महाराज 
    ⭐मुनि श्री १०८ नीरजसागर जी महाराज 
    ⭐मुनि श्री १०८ निस्संगसागर जी महाराज 
    ⭐मुनि श्री १०८ समरससागर जी महाराज 
    ⭐मुनि श्री १०८ संस्कारसागर जी महाराज 
    11 मुनिराजों का गुरुचरणों से मंगल विहार.....
    🚩सम्भावित विहार दिशा👉🏻 भोपाल म.प्र.
    ✨पूज्यवर श्री १०८ विनम्रसागर जी महाराज जी
    ⭐मुनि श्री १०८ निःस्वार्थसागर जी महाराज जी,
    ⭐मुनि श्री १०८ निष्पृहसागर जी महाराज जी,
    ⭐मुनि श्री १०८ निश्चलसागर जी महाराज जी,
    ⭐मुनि श्री १०८ निर्भीकसागर जी महाराज जी,
    ⭐मुनि श्री १०८ नीरागसागर जी महाराज जी,
    ⭐मुनि श्री १०८ निर्मदसागर जी महाराज जी,
    ⭐मुनि श्री १०८ निसर्गसागर जी महाराज जी,
    ⭐मुनि श्री १०८ ओंकारसागर जी महाराज जी।
    🚩दिशा - अगली सूचना जल्दी मिलेगी
    9 मुनिराजों का गुरुचरणों से मंगल विहार.....
    ■समस्त श्रावको से विनम्र निवेदन■
    ★ विहार के दौरान सरकारी नियमो का ध्यान रखें।
    ★ मार्ग के दोनों और निश्चित दुरी बनाकर ही वंही से आरती, वन्दन, नमन करें।
    ★राह में कंही भी मुनिराजो के पाद प्रक्षालन का प्रयास न करें।
    ★ भीड़भाड़ से बचें, मास्क का प्रयोग करें।
    ★विहार के फोटो,वीडियो वायरल करने का प्रयास बिल्कुल भी न करें।
    👉🏻आपकी एक जरा सी असावधानी गुरुचरणों के विहार में बाधा का कारण बन सकती है।
     
     
     
×
×
  • Create New...