Jump to content

Saurabh Jain

Moderators
  • Content Count

    1,463
  • Joined

  • Last visited

  • Days Won

    38

 Content Type 

Profiles

Forums

Gallery

Downloads

आलेख - Articles

आचार्य श्री विद्यासागर दिगंबर जैन पाठशाला

विचार सूत्र

प्रवचन -आचार्य विद्यासागर जी

भावांजलि - आचार्य विद्यासागर जी

गुरु प्रसंग

मूकमाटी -The Silent Earth

हिन्दी काव्य

आचार्यश्री विद्यासागर पत्राचार पाठ्यक्रम

विशेष पुस्तकें

संयम कीर्ति स्तम्भ

संयम स्वर्ण महोत्सव प्रतियोगिता

ग्रन्थ पद्यानुवाद

Blogs

Calendar

Videos

ऑडियो

Quizzes

Everything posted by Saurabh Jain

  1. जय जिनेन्द्र, जब हम विद्यालय जाते थे , तो अपनी उपस्थिति दर्ज कराते थे , हमे सोचा क्यों न अपनी बचपन की यादें ताज़ा करें. अगर आप पाठशाला में पढ़ रहे हैं, तो अपनी उपस्तिथि जरूर दर्ज करार्यें Attendance Please .... 1 सबसे पहले लॉग इन करें 2 फिर पाठशाला ज्वाइन करे https://vidyasagar.guru/clubs/324-आचार्य-श्री-विद्यासागर-दिगंबर-जैन-पाठशाळा/ 3 फिर यहाँ लिखें
  2. रामटेक में विराजमान आचार्य श्री विद्यासागर महाराज का ससंघ पिच्छिका परिवर्तन समारोह आज 25 अक्टूबर को दोपहर 1:30 बजे से होगा.
  3. आप सभी को संयम स्वर्ण महोत्सव समिति एवं www.Vidyasagar.guru वेबसाइट की तरफ से दिवाली एवं नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं | इस त्योहारी माहोल में आपके मन में उत्साह और उमंग देखते ही बनता हैं | आशा करते हैं, यह नव वर्ष आपके जीवन पथ के संकल्पों को शक्ति प्रदान करेगा , लक्ष्यों की पूर्ती कराएगा अथवा करने में प्रोत्साहन देगा | इस वर्ष हम सभी बना रहे हैं संयम स्वर्ण महोत्सव, हमारे गुरुवर आचर्य विद्यासागर जी का ५० व दीक्षा वर्ष, इसी उपलक्ष में आचार्य श्री के मार्गदर्शन एवं आशीर्वाद से चल रहे सभी प्रकल्पो को एक सूत्र में www.vidyasagar.guru पर संजोने का प्रयास चल रहा हैं | इस वेबसाइट के प्रति आपके विश्वास के लिए आप सभी को ह्रदय से साभार (धन्यवाद) | एक निवेदन - दीपावली हमारा त्यौहार है इस त्यौहार को हैप्पी दीपावली ना बोलकर महोत्सव के नाम से मनाएं या कहें भगवान के निर्वाण कल्याण महोत्सव की सभी को बहुत-बहुत बधाई हो क्योंकि हम जैन है और इस दिन हमारे अंतिम शासन नायक श्री महावीर स्वामी को मोक्ष की प्राप्ति एवं श्री इंद्रभूति गौतम गणधर को केवल ज्ञान की प्राप्ति इस दिन हुई थी इसलिए हमें हैप्पी दिवाली ना कहकर निर्वाण महोत्सव की बधाई देनी चाहिए आप सभी से निवेदन है कि आप अपने संबंधी रिश्तेदारों से वीर निर्वाण महोत्सव की बधाई कहेंगे भगवान महावीर के निर्वाण कल्याण महोत्सव की सभी को बहुत-बहुत बधाई | जय जिनेंद्र आप सभी अपने सन्देश नेचे यही पर लिखे |
  4. बालक विद्याधर का जन्म सन 1946 में शरद पूर्णिमा के दिन माँ श्रीमती की कुक्षी से हुआ ... बचपन से ही धर्म मार्ग पर सदैव बढ़ते हुए इन्होंने आचार्य श्री ज्ञानसागर जी महाराज से दीक्षा पाई एवं आज हम सभी के समक्ष आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के रूप में विराजमान हैं.. 290 से अधिक मुनि एवं आर्यिकाओं को गुरुदेव द्वारा दीक्षा दी गई है .. दिगंबर सरोवर के राजहंस आचार्य भगवान् का वर्तमान में चातुर्मास रामटेक नागपुर सानंद चलरहा है..| आचार्य भगवंत के चरणों मे शरद पूर्णिमा के पावन अवसर पर शत शत नमन |
×
×
  • Create New...