Jump to content
मेरे गुरुवर... आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज

Leaderboard

  1. संयम स्वर्ण महोत्सव

Popular Content

Showing content with the highest reputation since 09/16/2021 in Articles

  1. कब, कहाँ, किस अवस्था में स्थान सन विशेष १. अजमेर (राजस्थान) १९६८ मुनि अवस्था में आ०श्री ज्ञानसागरजी के साथ २. अजमेर (राजस्थान) १९६९ मुनि अवस्था में आ०श्री ज्ञानसागरजी के साथ ३. किशनगड (अजमेर, राज.) १९७० मुनि अवस्था में आ०श्री ज्ञानसागरजी के साथ ४. किशनगड (अजमेर, राज.) १९७१ मुनि अवस्था में आ०श्री ज्ञानसागरजी के साथ ५. नसीराबाद (अजमेर, राज.) १९७२ मुनि अवस्था में आ०श्री ज्ञानसागरजी के साथ ६. ब्यावर (अजमेर, राज.) १९७३ आचार्य अवस्था में क्षुल्लकजी साथ में थे ७. अजमेर(राज.) १९७४ आचार्य अवस्था में क्षुल्लकजी साथ में थे ८. फिरोजाबाद (उ. प्र.) १९७५ आचार्य अवस्था में क्षुल्लकजी साथ में थे ९. कुण्डलपुर जी (दमोह, म. प्र.) १९७६ आचार्य अवस्था में ससंघ १०. कुण्डलपुर जी (दमोह, म. प्र.) १९७७ आचार्य अवस्था में ससंघ ११. नेनागिरि जी (म. प्र.) १९७८ आचार्य अवस्था में ससंघ १२. थूवौन जी (म. प्र.) १९७९ आचार्य अवस्था में ससंघ १३. मुक्तागिरि जी (म. प्र.) १९८० आचार्य अवस्था में ससंघ १४. नेनागिरि जी (म. प्र.) १९८१ आचार्य अवस्था में ससंघ १५. नेनागिरि जी (म. प्र.) १९८२ आचार्य अवस्था में ससंघ १६. ईसरी (गिरिडीह, झारखण्ड) १९८३ आचार्य अवस्था में ससंघ १७. मडियाजी, जबलपुर (म. प्र.) १९८४ आचार्य अवस्था में ससंघ १८. आहार जी (टीकमगड, म. प्र.) १९८५ आचार्य अवस्था में ससंघ १९. पपौरा जी (टीकमगड, म. प्र.) १९८६ आचार्य अवस्था में ससंघ २०. थूवौन जी (म. प्र.) १९८७ आचार्य अवस्था में ससंघ २१. जबलपुर मढ़िया जी (म.प्र.) १९८८ आचार्य अवस्था में ससंघ २२. कुण्डलपुर जी (दमोह, म. प्र.) १९८९ आचार्य अवस्था में ससंघ २३. मुक्तागिरि जी (बैतूल, म. प्र.) १९९० आचार्य अवस्था में ससंघ २४. मुक्तागिरि जी (बैतूल, म. प्र.) १९९१ आचार्य अवस्था में ससंघ २५. कुण्डलपुर जी (दमोह, म. प्र.) १९९२ आचार्य अवस्था में ससंघ २६. रामटेक जी (नागपुर महा.) १९९३ आचार्य अवस्था में ससंघ २७. रामटेक जी (नागपुर महा.) १९९४ आचार्य अवस्था में ससंघ २८. कुण्डलपुर जी (दमोह, म. प्र.) १९९५ आचार्य अवस्था में ससंघ २९. महुआ जी (सूरत, गुजरात) १९९६ आचार्य अवस्था में ससंघ ३०. सिद्धोदय सिद्धक्षेत्र नेमावर (देवास, म. प्र.) १९९७ आचार्य अवस्था में ससंघ ३१. भाग्योदय तीर्थ, सागर (म. प्र.) १९९८ आचार्य अवस्था में ससंघ ३२. गोम्मटगिरि जी, इन्दौर (म. प्र.) १९९९ आचार्य अवस्था में ससंघ ३३. अमरकंटक (शहडोल, म. प्र.) २००० आचार्य अवस्था में ससंघ ३४. तिलवाराघाट (जबलपुर, म. प्र.) २००१ आचार्य अवस्था में ससंघ ३५. सिद्धोदय सिद्धक्षेत्र नेमावर (देवास, म. प्र.) १००२ आचार्य अवस्था में ससंघ ३६. अमरकंटक (शहडोल, म. प्र.) २००३ आचार्य अवस्था में ससंघ ३७. तिलवाराघाट (जबलपुर, म. प्र.) २००४ आचार्य अवस्था में ससंघ ३८. बीना जी बारह (सागर, म. प्र.) २००५ आचार्य अवस्था में ससंघ ३९. अमरकंटक (शहडोल, म. प्र.) २००६ आचार्य अवस्था में ससंघ ४०. बीना जी बारह (सागर, म. प्र.) २००७ आचार्य अवस्था में ससंघ ४१. रामटेक जी (नागपुर महा.) २००८ आचार्य अवस्था में ससंघ ४२. अमरकंटक (शहडोल, म. प्र.) २००९ आचार्य अवस्था में ससंघ ४३. बीना जी बारह (सागर, म. प्र.) २०१० आचार्य अवस्था में ससंघ ४४. चन्द्रगिरि, डोंगरगढ़ (छ. ग.) २०११ आचार्य अवस्था में ससंघ ४५. चन्द्रगिरि, डोंगरगढ़ (छ. ग.) २०१२ आचार्य अवस्था में ससंघ ४६. रामटेक जी (नागपुर महा.) २०१३ आचार्य अवस्था में ससंघ ४७. विदिशा (मध्यप्रदेश) २०१४ आचार्य अवस्था में ससंघ ४८. बीना जी बारह (सागर,म. प्र.) २०१५ आचार्य अवस्था में ससंघ ४९. हबीबगंज, भोपाल (म. प्र.) २०१६ आचार्य अवस्था में ससंघ ५०. रामटेक जी (नागपुर, महा.) २०१७ आचार्य अवस्था में ससंघ ५१. खजुराहो(म. प्र.) २०१८ आचार्य अवस्था में ससंघ चातुर्मास स्थलों की जानकारी राज्यवार १. मुनि अवस्था में आचार्यश्री ज्ञानसागरजी महाराज के साथ पाँच चातुर्मास सन् १९६८ से १९७२ तक किए - स्थान सन विशेष १. अजमेर (राजस्थान) १९६८ मुनि अवस्था में आ०श्री ज्ञानसागरजी के साथ २. अजमेर (राजस्थान) १९६९ मुनि अवस्था में आ०श्री ज्ञानसागरजी के साथ ३. किशनगड (अजमेर, राज.) १९७० मुनि अवस्था में आ०श्री ज्ञानसागरजी के साथ ४. किशनगड (अजमेर, राज.) १९७१ मुनि अवस्था में आ०श्री ज्ञानसागरजी के साथ ५. नसीराबाद (अजमेर, राज.) १९७२ मुनि अवस्था में आ०श्री ज्ञानसागरजी के साथ ६. ब्यावर (अजमेर, राज.) १९७३ आचार्य अवस्था में क्षुल्लकजी साथ में थे २. आचार्यश्री ने राजस्थान में ४ नगरों में चातुर्मास किये हैं - अजमेर (राजस्थान) नगर में ३ चातुर्मास किशनगढ जिला-अजमेर (राजस्थान) में २ चातुर्मास नसीराबाद जिला-अजमेर (राजस्थान) में १ चातुर्मास ब्यावर जिला-अजमेर (राजस्थान) में १ चातुर्मास ३. उत्तरप्रदेश में १ चातुर्मास किया - फिरोजाबाद सन् - १९७५ ४. आचार्यश्री ने मध्यप्रदेश के अनेक क्षेत्रों एवं नगरों में ३३ चातुमास किये हैं - सिद्धक्षेत्र कुण्डलपुर में ५ चातुर्मास सिद्धक्षेत्र नैनागिरि जी में ३ चातुर्मास सिद्धक्षेत्र मुक्तागिरी जी में ३ चातुर्मास अतिशय क्षेत्र थुबोन जी में २ चातुर्मास जबलपुर मढ़िया जी में ४ चातुर्मास सिद्धोदय सिद्धक्षेत्र नेमावर में २ चातुर्मास सर्वोदय तीर्थ अमरकटक में ४ चातुर्मास अतिशय क्षेत्र बीना बारहा जी में ४ चातुर्मास अतिशय क्षेत्र अहार जी १ चातुर्मास अतिशय क्षेत्र पपौरा जी १ चातुर्मास गोम्मटगिरि, इन्दौर में १ चातुर्मास भाग्योदय तीर्थ, सागर १ चातुर्मास शीतल धाम, विदिशा १ चातुर्मास हबीबगंज, भोपाल में १ चातुर्मास स्वर्णोदय तीर्थ क्षेत्र खजुराहो १ चातुर्मास ५. बिहार (वर्तमान में झारखंड) में १ चातुर्मास किया - ईसरी जी में सन् १९८३ ६. महाराष्ट्र में ५ चातुमास किये - अतिशय क्षेत्र रामटेक जिला नागपुर महाराष्ट्र में सन् १९९३, १९९४, २००८, २०१३, २०१७ ७. गुजरात में १ चातुर्मास किया - अतिशय क्षेत्र महुआ जी, जिला सूरत (गुजरात) सन् १९९६. ८. छत्तीसगढ़ में २ चातुर्मास - अतिशय क्षेत्र चन्द्रगिरि, डोंगरगढ़ में सन् २०११, २०१२. ९. परमपूज्य आचार्यश्री ने अब तक ७ राज्यों में चातुर्मास किये जिनका क्रमश: नाम इस प्रकार हैं - राजस्थान ७ उत्तरप्रदेश १ मध्यप्रदेश ३४ बिहार(वर्तमान में झारखंड) १ महाराष्ट्र ५ गुजरात १ छत्तीसगढ़ २ ५१ चातुर्मास अब तक
    1 point
×
×
  • Create New...