Jump to content
Sign in to follow this  
Vidyasagar.Guru

*नौ मुनिराजों का एवं ५८ आर्यिका माताओं* का *दीक्षा दिवस मनाया गया।* इस अवसर पर स्वर्ण प्राशन संस्कार वच्चों के शिविर का आयोजन किया गया।

Recommended Posts

*विदिशा-*
 *नौ मुनिराजों का एवं ५८ आर्यिका माताओं* का *दीक्षा दिवस मनाया गया।* इस अवसर पर स्वर्ण प्राशन संस्कार वच्चों के शिविर का आयोजन किया गया।
 *मुनिश्री पुराण सागर जी* ने कहा कि *कर्नाटक* के इस संत ने *भारत का इतिहास पलट* कर रख दिया। 

*जंहा पर पहले दूर दूर तक मुनिराज के दर्शन नजर नही होते थे।*
*पंडित दौलतराम जी* और *पंडित वनारसी दास जी* ने तो लिखा हैं कि *मुनि दर्शन को ये अंखिया तरस गयी* तो आज वही आज चारों और पूरे भारत में जैन मुनि महाराज नजर आ रहे है, एवं सभी *आचार्य गुरुवर विद्यासागरजी महाराज की जय जयकार* हो रही हैं।

★ उन्होंने कहा कि मेरे से किसी ने पूंछा कि *महाराज जी आपको वैराग्य कैसे आया?*
 तो उन्होंने कहा कि *गुरूवर की शांतमय मुद्रा को और उनकी वीतराग मुद्रा* को देख *उनकी चर्या को देखा और उनके पीछे* लग गये। उन्होंने पूज्य गुरुदेव का आभार मानते हुये कहा कि आज में धन्य हो गया और आज मेरा *मोक्षमार्ग प्रशस्त* हो गया।
🅰®

IMG-20200209-WA0002.jpg

IMG-20200209-WA0001.jpg

IMG-20200209-WA0000.jpg

Share this post


Link to post
Share on other sites
Sign in to follow this  

×
×
  • Create New...