Jump to content
मेरे गुरुवर... आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज

तिलक लगाने से होते है फायदे- मुनिश्री विमलसागर जी


Recommended Posts

*दमोह 22-05-2019*
*तिलक लगाने से होते है फायदे- मुनिश्री विमलसागर जी महाराज

 दमोह ( मध्यप्रदेश)

इष्टोपदेश ग्रन्थ पर प्रवचन में धर्मसभा को संबोधित करते हुए मुनिश्री विमलसागर जी महाराज ने कहा कि पचास वर्ष के बाद हमें सतर्क रहना चाहिए धार्मिक कार्यो में लगे रहना चाहिए।जितनी आयु है उसका दो तिहाई  निकल गया तो सावधान रहना चाहिए। अभी नहीं समझे तो कब समझोगे। प्रारंभ में संताप देने वाले प्राप्त हो जाने पर तृष्णा को बढ़ाने वाले तथा अंत में बहुत कठिनाई से छूटने योग्य विषय भोगो को कौन बुद्धिमान पुरुष बड़ी रुचि से सेवन करता है भाग्य और पुरुषार्थ से सिद्धि होती है। भाग्य के भरोसे बैठने से भी सिद्धि नही होती है ।शाम को मुनिश्री भावसागर जी ने कहा कि तिलक लगाने के कई फायदे है।भौहों के मध्य में आज्ञा चक्र रहता है। मस्तिष्क की क्रियाशीलता और अंतर्मन की संवेदनशीलता में अप्रत्याशित रूप से वृद्धि हो जाती है। तिलक लगाने से मस्तिष्क में शांति और शीतलता का अनुभव होता है तथा बीटाएंडोरफिन और सेराटोनिन नामक रसायनों का स्राव संतुलित मात्रा में होने लगता है। विभिन्न द्रव्यों से बने तिलक की उपयोगिता का और महत्व है। चंदन का तिलक मस्तिष्क में विशेष शीतलता प्रदान करता है। ललाट को वैज्ञानिक पेनियालगलैंड्स कहते हैं। आज्ञा चक्र का मन के साथ तथा ज्ञान के साथ गहरा संबंध है। आज्ञाचक्र के उतेजित होते ही हमें अंतःदर्शन , विवेक , स्मरणशक्ति की बृद्धि और आध्यत्मिकता जागरूकता आदि सहज ही उपलब्ध हो जाते हैं।कमेटी ने बताया कि 24 मई से 7 जून के बीच कार्यक्रम की तैयारियां जोरों से चल रही है। 2जून रविवार को दमोह नगर के इतिहास में प्रथम बार श्री शांतिनाथ भगवान के जन्म तप मोक्ष कल्याणक पर 170 प्रतिमाओं के ऊपर 240 व्यक्तियों के द्वारा शांतिधारा होगी और दुनिया में सबसे अलग विशेष प्रकार का लाडू अर्पण किया जायेगा।

Link to comment
Share on other sites

 Share

×
×
  • Create New...