Jump to content
Sign in to follow this  
Sanyog Jagati

*रंगोली से वास्तु दोष दूर होते है :-मुनि श्री विमल सागर जी महाराज*

Recommended Posts

■◆◆◆■◆◆◆■◆◆◆■◆◆◆
*खितौला* *15-03-2019* 

 

*रंगोली से वास्तु दोष दूर होते है :-मुनि श्री विमल सागर जी महाराज*
खितौला सिहोरा  जबलपुर ( मध्यप्रदेश) मे सर्वश्रेष्ठ साधक आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के शिष्य मुनि श्री  विमल सागर जी ससंघ के सानिध्य मे पंचकल्याणक के अंतर्गत  जन्म कल्याणक  की क्रियाएं सपन्न हुई। प्रातः काल 
श्री पारसनाथ दिगंबर जैन मंदिर खितौला से मुनि श्री बारी बहू स्टेडियम पहुचे लोगो  ने  भक्ति नृत्य करके भगवान के जन्म की खुशीयाँ मानाकर आनद लिया और आरती की गई और  
अभिषेक शांतिधारा पूजन आरती की गई  आचार्य श्री की पूजन हुई मुनि श्री भाव सागर जी के द्वारा  पूजन करवाई गई। भगवान आदि कुमार का पांडुक शिला पर 1008 कलशों से जन्माभिषेक किया गया पूरे नगर में मिष्ठान वितरण किया गया। दिल्ली के कलाकारों द्वारा नाटिका की प्रस्तुति दी गई उदयपुर राजस्थान के बैंड की शानदार प्रस्तुति हुई। 
16 मार्च शनिवार को  तपकल्याणक की क्रियाए संपन्न होंगी। 
   यह कार्यक्रम प्रतिष्ठाचार्य ब्रहमचारी विनय भैया बंडा के निर्देशन में हुआ। 
  धर्म सभा को संबोधित करते हुए  मुनि श्री विमल सागर जी ने कहा कि आज अत्यंत प्रसन्नता का दिन है मुनि श्री विमल सागर महाराज जी ने कहा कि आज अत्यंत प्रसन्नता का दिन है आज लुटा दो जो कुछ लुटाना है जिन्होंने तीन लोक के कल्याण की भावना भायी थी उसी के परिणाम स्वरुप यह पद प्राप्त हुआ है आज भी कलिकाल में पंचकल्याणक करने से भी विशेष पुण्य का अर्जन होता है। *सीना तो तानों पसीना तो बहाओ धर्म कार्य में* जिसके अंदर दया का स्थान करुणा होती है और जियो और जीने दो की भावना से कार्य करते हैं वह तीर्थंकर बनते हैं ।आज पशुपालन बंद हो गया है क़त्ल खानों में गायों को निर्दयता पूर्वक काटा जा रहा है आपके बेल्ट पर्स आदि बनते हैं। गाय की रक्षा करने के लिए आपको आगे आना चाहिए गायों के भोजन की व्यवस्था करना चाहिए। भगवान का सुंदर रूप होता है भगवान की भक्ति करने से सुंदर रूप मिलता है ऐसी भक्ति करो कि अगले भव में भगवान बन जाओ। समय निकालकर भगवान की पूजन करें और प्रवचन सुने। भगवान के 1008 नामों से स्तुति करें । सौधर्म इन्द्र एरावत हाथी पर बैठकर बालक  को सुमेरु पर्वत में ले जाता है और 1008कलशों से अभिषेक करता है।  लोग बदलते जा रहे हैं ऐसे पात्रों का उपयोग कर रहे हैं पूजन अभिषेक किया और अलग कर देते  आप लेकिन उपदेश दिया अच्छे पात्रों से अभिषेक करें तो लोगो ने परिवर्तित किए ।जन्मदिन मनाएं तो केक नहीं काटे मिठाई बांटे मोमबत्ती नहीं बुझाए दीपक से आरती करें अभिषेक करवाएं विधान करवाएं और जितने वर्ष के हो गए हो तो उतने श्री फल चड़ाए उतने दीपक से आरती करें मुनि श्री भाव सागर जी ने कहा कि आज भगवान का जन्म हुआ है इस भारत में अनेक महापुरुषों ने जन्म लिया है यह देश पहले विश्व गुरु था हमारे पास बहुत से गुरुकुल थे  दुनिया में यदि  कोई संपदा है तो वह गाय  है हमारा देश नशा मुक्त हो युवाओं को नशे से बचाना है हमारे युवा अभिषेक करें पूजन करें क्योंकि बाद में बड़े शहरों में पहुंचने के बाद पूजन नहीं करते हैं । भारत को भारत ही बनाना है इंडिया नहीं। हिंदी भाषा को महत्व दें चुनाव आने वाला है हम अपनी मांगें ऐसे लोगों तक पहुंचाए  हमारी तीन संताने होना चाहिए एक देश के लिए एक समाज के लिए एक अपने लिए। जिस प्रकार अभिनंदन जैन ने दूसरे देश में जाकर वीरता का कार्य किया ऐसे ही हमारे युवाओं को ऐसा कार्य करना चाहिए जिससे देश समाज और परिवार का गौरव बड़े ऐसी संतान को जन्म दे जो कुछ अच्छा कार्य करें।
 प्रतिष्ठा चार्य जी  ने बतायाअपने घर के आगे  रंगोली डालने स वास्तु दोष दूर हो जाते हैं। इंद्रदेव ने भी किया अभिषेक पूजन।  गौशाला के लिए लोगों ने दान दिया और मंदिर के लिए अभिषेक  शांतिधारा और पूजन के बर्तन दिए।
 

Share this post


Link to post
Share on other sites
Sign in to follow this  

×
×
  • Create New...