Jump to content
Sign in to follow this  
Sanyog Jagati

आज की संतान माता- पिता के उपकार को भूल जाती है :- मुनि श्री विमल सागर जी

Recommended Posts

*खितौला* 14-03-2019 
*आज की संतान माता माता पिता के उपकार को भूल जाती है*-
मुनि श्री 
खितौला सिहोरा  जबलपुर ( मध् यप्रदेश) मे सर्व श्रेष्ठ साधक आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के शिष्य *मुनि श्री  विमल सागर जी मुनि श्री अनंत सागर जी मुनि धर्मसागर जी मुनि श्री अचल सागर जी मुनि श्री भाव सागर जी ससंघ* के सानिध्य मे पंचकल्याणक के अंतर्गत  गर्भ कल्याणक उतार रूप की क्रियाएं सपन्न हुई। प्रातः काल 
श्री पारसनाथ दिगंबर जैन मंदिर *खितौला *से मुनि श्री बारी बहू स्टेडियम पहुचे लोगो  ने  भक्ति नृत्य करके आनद लिया और आरती की गई और  मंत्रो के   द्वारा मंदिर  की शुद्धि की गई ।
अभिषेक शांतिधारा पूजन आरती की गई  आचार्य श्री की पूजन हुई मुनि श्री भाव सागर जी के द्वारा  पूजन करवाई गई। भगवान की माता की गोद भराई का कार्यक्रम हुआ  । दिल्ली के कलाकारों द्वारा नाटिका की प्रस्तुति दी गई उदयपुर राजस्थान के बैंड की शानदार प्रस्तुति हुई। 
15 मार्च शुक्रवार को  जन्मकल्याणक की क्रियाए संपन्न होंगी। 1008कलशों से भगवान का  जन्मअभिषेक होगा।
   यह कार्यक्रम प्रतिष्ठाचार्य ब्रहमचारी विनय भैया बंडा के निर्देशन में हुआ। 
  धर्म सभा को संबोधित करते हुए  मुनि श्री विमल सागर जी ने कहा कि भाग्य का अतिशय होता है तब पंचकल्याणक होते हैं जिसके अंदर विश्व कल्याण की भावना आ जाती है तो तीर्थंकर बनते हैं। आस्था कहती है कि रात के अंधेरे में भी में बेधड़क चलती हूं। आस्था मजबूत होती है तो कहीं  कोई शंका नहीं होती। महावीर जयंती के दिन  विवाह आदि कार्य नहीं  करें ,एक  दिन वर्ष में मिलता है और अवकाश रहता है तो धर्म की प्रभावना करें विश्व को संदेश देने के लिए कि अहिंसा के उपासक की जन्म जयंती है। जो प्रतिमाओं को विराजमान करता है  वह धन्य है और पूजन एवं भक्ति अभिषेक करता है उसका पुण्य पड़ता है  और वह मुक्ति को प्राप्त करता है।भगवान की जो अच्छे अच्छे द्रव्यो से पूजा  करता है  उसकी महिमा का वर्णन कौन कर सकता हैं।दूध निकालने वाले व्यक्ति पशुओं को इंजेक्शन लगाते हैं  जिससे पशुओं को कष्ट होता है और दूध नुकसानदायक होता है। फास्ट फूड नहीं खाना चाहिए। ऐसी संतान को जन्म दू जो तीनों लोको  का कल्याण करने वाला हो।सिहोरा से एक ऐसी संतान निकाली जो मुनि श्री  और प्रसाद सागर जीमहाराज जी बने। दोपहर में मुनि श्री अचल सागर जी ने कहा  कि प्रत्येक जीव मात्र के कल्याण की भावना भाने वाला तीर्थंकर बनता हैं।  आज की संतान माता पिता के उपकार को भूल जाती है। खूंखार व्यक्ति की संगत से व्यक्ति खूंखार हो जाता है। मनोरंजन के साधन आज अधोपतन के साधन बनते जा रहे हैं, एक गेम है  पपजी  वह खतरनाक साबित हो रहा है। फ्री फायर भी एक हिंसक गेम है
देश के सैनिक यदि बलिदान नहीं देते तो हमारे देश की स्थिति खराब हो जाती।  घर परिवार में माहौल खराब होता जा रहा हैं,तलाक जदा  हो रहे है। फैशन के तरीके बदल रहे है, पहले इतनी बीमारियां नहीं होती थी किन्तु आज बहुत बीमारियां होने लगी है, मानसिक तनाव ज्यादा हो रही है अंदर अंदर घुटन हो रही है।
 कुंडलपुर दमोह के बड़े बाबा का ओरा  आश्चर्यचकित करने वाला रहा शांति धारा के बाद ओरा और बढ़ गया आप भी विश्व शांति महायज्ञ करने जा रहे हैं आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज का आभामंडल भी आश्चर्यचकित करने वाला रहा।

 

IMG-20190314-WA0013.jpg

IMG-20190314-WA0012.jpg

Share this post


Link to post
Share on other sites
Sign in to follow this  

×
×
  • Create New...