Jump to content
मेरे गुरुवर... आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज

Category

दीक्षित मुनिराज

अधिक जानकारी

 मुनि श्री 108 नेमीसागर जी का जीवन परिचय

 

63.PNG63..PNG

  1. What's new in this club
  2. प .पु .मुनिश्री १०८ श्री नेमीसागरजी महाराज जी के चर्नोमे नमोस्तु
  3. ?सन्त शिरोमणि आचार्य श्री विद्या सागर जी महाराज के आज्ञानुवर्ती शिष्य, जिनके केवल दर्शन मात्र से ही परम् विशुद्धि का अनुभव होता है ऐसे 108 श्री नेमि सागर जी महाराज के दीक्षा दिवस पर गुरु चरणों मे कोटिशः नमोस्तु । देह निलय में गुरुवर ,देवता से हो विराजित, मदन माया मोह मत्सर सब हुए तुमसे पराजित । शेष क्या अर्पण करु में जब किया जीवन समर्पित, शरण तेरी पाके ऋषिवर हो गया हर रोम हर्षित । पूज्य मुनिश्री अक्षय सागरजी एवं मुनिश्री नेमिसागर जी महाराज का विहार मराठवाड़ा की माटी को पावन करते हुए,अपनी चर्या के द्वारा असीम प्रभावना करते हुए सिद्धक्षेत्र कुन्थलगिरी की ओर चल रहा है सभी दर्शन का लाभ ले ।? ✍?आकाश राउत
  4. परम पूज्य आचार्य श्री विद्या सागर जी महाराज जी के शिष्य मुनिश्री नेमीसागर जी के दीक्षा दिवस के अवसर पर मुनिश्री के चरणों में शत् शत् नमोस्तु नमोस्तु नमोस्तु   ??????????    एवं आप सभी को इस पावन दिन कि बधाईयाँ और शुभकामनाएं   ?????
  5.  

×
×
  • Create New...