Jump to content
आचार्य श्री विद्यासागर मोबाइल एप्प डाउनलोड करें | Read more... ×

Category

आज्ञानुवर्ती संघ

अधिक जानकारी

  1. आर्यिका दृढमति जी 
  2. आर्यिका पावनमति जी 
  3. आर्यिका साधनामति जी 
  4. आर्यिका विलक्षणामति जी 
  5. आर्यिका वैराग्यमति जी 
  6. आर्यिका अकलंकमति जी 
  7. आर्यिका निकलंकमति जी 
  8. आर्यिका आगममति जी 
  9. आर्यिका स्वाध्यायमति जी 
  10. आर्यिका प्रशममति जी 
  11.  आर्यिका मुदितमति जी 
  12. आर्यिका सहजमति जी 
  13. आर्यिका संयममति जी 
  14. आर्यिका सत्यार्थमति जी 
  15. आर्यिका सिद्धमति जी 
  16. आर्यिका समुन्नतमति जी 
  17. आर्यिका शास्त्रमति जी 
  18. आर्यिका तथ्यमति जी 
  19. आर्यिका वात्सल्यमति जी 
  20. आर्यिका पथ्यमति जी 
  21. आर्यिका संस्कारमति जी 
  22. आर्यिका विजितमति जी 
  23. आर्यिका आप्तमति जी 
  24. आर्यिका स्वभावमति जी 
  25. आर्यिका धवलमति जी 
  26. आर्यिका समितिमति जी 
  27. आर्यिका मननमति जी 

 

कुलः 27 ( 27 आर्यिकाए एवं  बा. ब्रह्मचारीगणी बहनें  )

  1. What's new in this club
  2. तुलसीनगर नागपुर वन्दनीय आर्यिकाश्री दृढ़मति माताजी ससंघ के सानिध्य में तुलसीनगर नागपुर में त्रिलोक महामंडल विधान का आयोजन चल रहा है। 30दिसम्बर2018 को विधान का समापन होगा।
  3. हनुमानताल जबलपुर में श्रुत पंचमी पर्व मनाया गया उसकी कुछ झलकियां
  4. श्रुत पंचमी महोत्सव के उपलक्ष्य में आर्यिका 105 श्री दृढ़मति माता जी ससंघ के सानिध्य में श्रुत पंचमी महोत्सव,बड़ा जैन मंदिर हनुमानताल जबलपुर में, सफलतापूर्वक सानन्द संपन्न हुआ | संयम स्वर्णिम दीक्षा महोत्सव के उपलक्ष्य में हनुमानताल के इतिहास में प्रथम बार श्रुत पंचमी का कार्यक्रम भव्य तरीके से सफलता पूर्वक हनुमानताल, जबलपुर,मध्य प्रदेश समाज में मनाया गया | कार्यक्रम में सर्वप्रथम, संयम स्वर्णिम विद्यासागर संस्कार पाठशाला हनुमानताल के बच्चो के द्वारा मंगलाचरण किया गया |फिर आचार्य श्री 108 विद्यासागर जी महाराज की फोटो के समक्ष द्वीप प्रज्जवलन ,चित्र अनावरण किया गया |कार्यक्रम का संचालन अमित जैन पड़रिया के द्वारा सफलतापूर्वक किया गया | आर्यिका 105 श्री दृढ़मति माताजी के द्वारा श्रावको को श्रुत पंचमी की कहानी ,कविता और कथानक के माध्यम से श्रुत पंचमी का महत्व समझाया गया |आचार्य श्री के 50वें संयम स्वर्णिम महोत्सव के बारे में बताया गया |माताजी ससंघ को सभी श्रावको ने शास्त्र भेंट किया किया | माताजी ने हथकरघा ,प्रतिभा स्थली के विषय में भी श्रावको को बताया |श्रुत पंचमी के उपलक्ष्य में हनुमानताल पाठशाला के बच्चो की बैंड पार्टी के द्वारा रैली और जिनवाणी जी की शोभा यात्रा निकाली गयी |इस प्रकार संपूर्ण कार्यक्रम सानन्द संपन्न हुआ |श्रुतपंचमी महोत्सव का पूरा कार्यक्रम हनुमानताल ट्रस्ट कमेटी,संयम स्वर्णिम साधु सेवा समिति ,संयम स्वर्णिम विद्यासागर संस्कार पाठशाला समिति ,महिला परिषद् द्वारा आयोजित किया गया और सभी भाइयो ,बहनो के उपलक्ष्य में सानंद सफलता पूर्वक संपन्न हुआ |
  5. पूज्य माताजी ससंघ अभी शिवनगर जबलपुर में विराजमान है ।पूज्य मृदु मति माताजी ससंघ भी अभी माताजी के साथ ही विराजमान है
  6. पूज्य आर्यिकारत्न 105 दृढ मति माताजी ससंघ मढ़िया जी जबलपुर में विराजमान है।
  7.  
×