Jump to content
आचार्य श्री विद्यासागर मोबाइल एप्प डाउनलोड करें | Read more... ×
  1. What's new in this club
  2. परम पूज्य संतशिरोमणी आचार्य श्री १०८ विद्यासागर जी महाराज के परम प्रभावक शिष्य नियमसागर जी महाराज ससंघ का मंगल विहार औरवाड से बुबनाळ की ओर हुआ।
  3. पूज्य मुनि श्री ससंघ सांगली में विराजमान है
  4. पूज्य मुनि श्री ससंघ हुपली में विराजमान है।
  5. *? पंचऋषिराज मंगल विहार ?* 0⃣3⃣-0⃣6⃣-2⃣0⃣1⃣8⃣ दिन रविवार ✨✨✨✨✨✨✨ संत शिरोमणि *आचार्य श्री १०८ विद्यासागर जी* महाराज जी के परम शिष्य परम पूज्य *मुनिश्री १०८ नियमसागर जी महाराज* *मुनिश्री १०८ प्रबोधसागर जी महाराज* *मुनिश्री १०८ ऋषभसागर जी महाराज* *मुनिश्री १०८ अभिनंदनसागर जी महाराज* *मुनिश्री १०८ सुपार्श्वसागर जी महाराज* *? पंचऋषिराज?* का ???मंगल विहार ??? आज शाम ५.४५ को *?बोरगांव?* (कर्नाटक) से *?हुपरी?* (महाराष्ट्र) की और हुआ। *☘आज रात्री विश्राम☘* *जंगमवाड़ी* *?कल की आहार चर्या?* *☘ हुपरी☘*
  6. प .पु .मुनिश्री १०८ नियम सागर जी महाराज सत संघ हथकरघा का निरिक्षण करते हुए प्रसन्न मुद्रा नमोस्तुगुरुवर
  7. प. पु. मुनिश्री 108 श्री नियम सागरजी मगराज सतसंघ चार पिंछी के साथ बोरगांव कर्नाटका में विराजमान है !! पंच ऋषि राज के चरणोमे नमोस्तु
  8. प.पु.मुनिश्री 108 श्री अभिनंदनसागरजी महाराज के चरणोमे कोटि कोटी नमोस्तु आज पूज्य मुनिश्री का अवतरण दिवस है।
  9. प.पु.मुनिश्री 108 नियमसागर जी महाराज सतसंग पटनकड़ोली कोल्हापुर महाराष्ट्र में विराजमान है। मुनिश्री के सानिध्य में आजसे भव्य पंचकल्याणक महोत्सव प्रारंभ ।।
  10. आज भोजग्राम में चारित्र चक्रवती आ.श्री १०८ शांति सागर जी महाराज के गृहस्थ अवस्था के घर में प.पु.मुनिश्री अभिनंदन सागर जी महाराज ।।
  11. प.पु.मुनिश्री १०८ नियमसागर जी महाराज के चरणोमे समस्त सेनगांव वालोंका त्रिवार नमोस्तु नमोस्तु नमोस्तु
  12. ACHARYA SHRI KO NAMOSTU JAY JINENDR SABHI KO WESE TO ME NAYA SAL NAHI MANTA LEKIN APANE DESH KI SYSTEME KE ANUSAR 1 APRIL 2018 SE NAYA SAL SHURU 2018 KE SURAJ KI PAHELI KIRAN AOUR HAM SAB KE SURAJ DIGMBER SAROVER KE RAJHANS SANT SHIROMANI P.PU.108 ACHARY SHRI VIDHYASAGAR MAHARAJ JI KE DARSHAN KARANE ME APANE PARIVAR KE SATH DONGARGARH CHANDRAGIRI JA RHA HUN \\ AAP BHI CHALIY ----
  13. नमोस्तू गुरुदेव
  14. दिगम्बर सरोवर के राजहंस संत शिरोमणि प.पु.आचार्य श्री १०८ विद्यासागर जी महाराज औऱ समस्त मुनि संघ को त्रिवार नमोस्तु नमोस्तु नमोस्तु ।। आज के युग का मानो समवशरण का दृश्य ।।
  15. आचार्य श्री १०८ विध्यासागर जी महाराज जी के शिष्य प,पु,मुनींश्री नियमसागर जी मुनींश्री प्रबोधसागर जी मुनिश्री व्रशभसागर जी महाराज जी का आज शाम आचार्य श्री की जन्म भूमि सदलगा में मंगल प्रवेश हुआ ।। नमोस्तु गुरुवर
  16. आचार्य श्री विशुद्धसागर जी महाराज ने आज कुंथलगिरी पहाड की वंदना की आचार्य श्री के साथ मे संगस्थ मुनी भी थे ।।
  17. आचार्य श्री के चरणोमे नमोस्तू श्रावक के संग चर्चा करते हुय आचार्य श्री की प्रसन्न मुद्रा ।
  18. आचार्य श्री के परम शिष्य मूनश्री अभिनंदनसागरजी अवम मुनींश्री सुपार्शवसागरजी का मंगल विहार कुंभोज बाहुबली की ओर
  19. आचार्य श्री ओर समस्त मुनी संघ को ध्रुवी वायकोस का नमोस्तू नमोस्तू नमोस्तू ।। VID-20171125-WA0012.mp4
  20. हमारे लिय आज के महावीर आचार्य श्री है ओर गौतम गणधर प.पु.मुनींश्री नियमसागर जी है ।
  21. मेरे गुरूवर ने महाराष्ट्र मे विहार के वक्त बहुत से अ जैन लोगोको शाकाहारी बनाया ।।
  22.  
×